ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगेभारत की राष्ट्रपति, मॉरीशस में; राष्ट्रपति रूपुन और प्रधानमंत्री जुगनाथ से मुलाकात कीकोयला सेक्टर में 2030 तक नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता को 9 गीगावॉट से अधिक तक बढ़ाने का लक्ष्य तय कियाझारखंड को आज तीसरी वंदे भारत ट्रेन की मिली सौगात
बिहार
व्हेन चिल्ड्रेन हैव चिल्ड्रेन का लोकार्पण: बाल विवाह मुक्त भारत का खाका पेश करने वाली पुस्तक
By Deshwani | Publish Date: 11/10/2023 10:54:45 PM
व्हेन चिल्ड्रेन हैव चिल्ड्रेन का लोकार्पण: बाल विवाह मुक्त भारत का खाका पेश करने वाली पुस्तक

रक्सौल अनिल कुमार। 11 अक्टूबर 2023 को अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर पूरे देश में चल रहे 'बाल विवाह मुक्त भारत' अभियान के दौरान प्रयास जुवेनाइल एड सेन्टर पूर्वी चंपारण  द्वारा भुवन ऋभु की किताब 'व्हेन चिल्ड्रेन हैव चिल्ड्रेन : टिपिंग प्वाइंट टू एंड चाइल्ड मैरेज' का लोकार्पण किया।

रक्सौल विधानसभा 10 विधायक  प्रमोद कुमार सिन्हा ने कहा बुक के माध्यम से सभी जनता को जागरूक होने और अपने बच्चे बच्चियों को शिक्षा से जोड़े रहे ताकी बाल विवाह जैसी कुरीतियों पर 2030 तक नियंत्रण किया जा सके।
 
 
 
 
 
मानव तस्करी रोधी ईकाई क्षेत्रक मुख्यालय बेत्तिया ऑफिस एसएसबी 47वीं वटालियन पंटोका रक्सौल इंस्पेक्टर मनोज कुमार शर्मा ने बताया कि ये समाज सुधारक कार्यक्रम हैं जिसे हम सभी के सहयोग से बाल विवाह मुक्त भारत का निर्माण कर सकते हैं।
 
 
 
 
 
 
प्रख्यात बाल अधिकार कार्यकर्ता और महिलाओं एवं बच्चों की सुरक्षा की लड़ाई लड़ने वाले सुप्रीम कोर्ट के प्रखर अधिवक्ता भुवन ऋभु महिलाओं एवं बच्चों के लिए काम करने वाले गैर सरकारी संगठन प्रयास संस्था के सलाहकार भी हैं।
 
 
 
 
 
बाल विवाह से सबसे ज्यादा प्रभावित 300 से ज्यादा जिलों में नागरिक समाज और महिलाओं की अगुआई में चल रहे बाल विवाह मुक्त भारत अभियान के लक्ष्यों को हासिल करने के लिए बेहद अहम दस्तावेज के रूप में यह किताब एक समग्र वैचारिक आधार, रूपरेखा और कार्ययोजना पेश करती है। 
इस अभियान का लक्ष्य 2030 तक बाल विवाह का पूरी तरह खात्मा और इस तरह हर साल 15 लाख बच्चियों को बाल विवाह से बचाना है। 
अभियान खास तौर से देश में बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए मौजूदा सरकारी नीतियों और कानूनों के क्रियान्वयन पर केंद्रित हैं। 
 
 
 
 
 
इस किताब का लोकार्पण के मौके पर प्रयास जुवेनाइल एड सेन्टर पूर्वी चंपारण की जिला परियोजन समन्वयक आरती कुमारी द्वारा बताया गया की प्रयास संस्था पूर्वी चम्पारण जिले के चिंहित 150 गांव अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर बाल विवाह मुक्त अभियान के तहत स्कूली बच्चों बच्चियों तथा ग्रामीणों के बीच जागरूकता कार्यक्रम चला रही हैं।
 
 
 
 
मौके पर प्रयास संस्था के सामाजिक कार्यकर्ता राज गुप्ता,अन्य गणमान्य व्यक्ति मुखिया उमेश प्रसाद पंटोका पंचायत, वार्ड पार्षद रवि कुमार गुप्ता एसएसबी 47 वीं वटालियन से अनिल शर्मा, अरविंद दिवेदी, संजय हवलदार, प्रेम पाल, प्रकाश परासर, दिनेश कुमार, प्रशांत कुमार तथा ग्रामीण लोग भी मौजूद थे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS