ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगेभारत की राष्ट्रपति, मॉरीशस में; राष्ट्रपति रूपुन और प्रधानमंत्री जुगनाथ से मुलाकात कीकोयला सेक्टर में 2030 तक नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता को 9 गीगावॉट से अधिक तक बढ़ाने का लक्ष्य तय कियाझारखंड को आज तीसरी वंदे भारत ट्रेन की मिली सौगात
बिहार
रक्सौल: विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन
By Deshwani | Publish Date: 14/8/2023 11:03:39 PM
रक्सौल: विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन

रक्सौल अनिल कुमार। भाजपा पार्टी कार्यालय में विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आयोजित कार्यक्रम के दौरान रक्सौल विधायक प्रमोद कुमार सिन्हा ने कहा कि आजादी का जश्न मनाने के साथ आज की युवा पीढ़ी को हमेशा आजादी दिलाने वाले दिनों की याद ताजा रखनी चाहिए। दुनियां का सबसे बड़ा विभाजन एवं त्रासदी, उस काल खण्ड का अगर कोई था, तो वह भारत का विभाजन था, जिसके कारण 02 करोड़ से ज्यादा लोग अपने मातृभूमि छोड़कर विस्थापित के रूप में रहने के लिए मजबूर हुए। 6 लाख से ज्यादा लोगों का नरसंहार हुआ, माताओं एवं बहनों की अस्मिता को लूटा गया।

 
 
 
 
 
उन्होंने प्रधानमंत्री को धन्यवाद देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने देश के संज्ञान में लाया या देश को याद दिलाया कि आजादी के एक दिन पूर्व 14 अगस्त को किस तरह का नरसंहार हुआ था। 
इस दौरान मौके पर उपस्थित मधुबन के विधायक राणा रणधीर सिंह ने कहा कि 4 अगस्त 1947 को 02 देश बनें, भारत और पाकिस्तान, लेकिन पाकिस्तान का निर्माण तुष्टिकरण एवं नफरत के आधार पर हुआ था और उसी का परिणाम था कि 1971 में पाकिस्तान का बॅटवारा हुआ तथा बांग्लादेश अस्तित्व में आया। उन्होंने कहा “इस घटना से हमेंं सीखना व समझना चाहिए कि एक बार नफरत का बीज बोया गया तो उसका कोई अन्त नहीं है। 
 
 
 
 
 
वर्तमान समय में पाकिस्तान में जो हालात हैं, वो दिन दूर नहीं, जब पाकिस्तान का एक और बॅटवारा, पाकिस्तान को देखना पड़ेगा, बलूचिस्तान आज उसी नफरत के बीज में जी रहा है। इन इतिहास की घटनाओं से हमें सीखने की जरूरत है। हमें समाज एवं परिवार में भाईचारा कैसे बना रहें, इसकी चिन्तन करने की आवश्यकता है।”
इस मौके पर प्रदेश सह मुख्यालय प्रभारी ई० जितेंद्र कुमार, पूर्व जिलाध्यक्ष सह रक्सौल प्रभारी प्रमोद शंकर सिंह, जिलाध्यक्ष अशोक पांडेय, मण्डल महामंत्री अजय पटेल, जिला उपाध्यक्ष लालबाबू सिंह, प्रवीण रंजन, मृतुन्जय सिंह, नितेश पटेल, दिलीप कुशवाहा, कन्हैया सर्राफ समेत सैकड़ो लोग उपस्थित थे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS