ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगेभारत की राष्ट्रपति, मॉरीशस में; राष्ट्रपति रूपुन और प्रधानमंत्री जुगनाथ से मुलाकात कीकोयला सेक्टर में 2030 तक नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता को 9 गीगावॉट से अधिक तक बढ़ाने का लक्ष्य तय कियाझारखंड को आज तीसरी वंदे भारत ट्रेन की मिली सौगात
बिहार
असंगठित क्षेत्र में बढ़े रोजगार के अवसर, नियोजन के अवसर को ग्रामीण क्षेत्रों ले जाने की जरूरत- राधामोहन
By Deshwani | Publish Date: 5/7/2023 11:12:22 PM
असंगठित क्षेत्र में बढ़े रोजगार के अवसर, नियोजन के अवसर को ग्रामीण क्षेत्रों ले जाने की जरूरत- राधामोहन

मोतिहारी जिला स्तरीय एक दिवसीय नियोजन-सह-व्यवसायिक मार्गदर्शन मेला-2023 के अवसर पर  संबोधित करते हुए पूर्व केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री,भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष,प्रभारी उत्तरप्रदेश श्री राधा मोहन सिंह सांसद ने कहा कि योजना आयोग की स्थापना से नीति आयोग की स्थापना तक सरकार की नियोजन नीति संगठित क्षेत्र के इर्द-गिर्द रही है, जिसके कारण आज भी बेरोजगारों में सरकारी नौकरी के प्रति आकर्षण अधिक है।

जबकि सच्चाई यह है कि वैश्वीकरण एवं उदारीकरण के कारण पिछले दो दशकों से असंगठित क्षेत्र में नियोजन के अक्सर बढ़े है।
 
 
 
 
 
वहीं संगठित क्षेत्र में नियोजन के अवसर सिकुड़ते चले गए हैं। ऐसी स्थिति में वर्तमान सरकार ने इस बात को महसूस किया है कि असंगठित क्षेत्र में नियोजन के अवसरों से ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाया जाय। असंगठित क्षेत्रों में रोजगार मुहैया कराने हेतु आज सरकार द्वारा कई नई पहल की शुरूआत की गई है। जिसमें नियोजन सह व्यावसायिक मार्गदर्शन मेला एक है।
 
बदली हुई परिस्थति में श्रम संसाधन विभाग भारत सरकार ने यह निर्णय लिया है कि असंगठित क्षेत्रों में अत्याधिक नियोजन के अवसर को राज्य के सुदूर क्षेत्रों तक ले जाया जाए। ताकि राज्य के ग्रामीण बेरोजगार इन अवसरों का लाभ उठा सके। 
 
 
 
 
 
राष्ट्रीय कैरियर सेवा माननीय प्रधान मंत्री द्वारा 20 जुलाई 2015 को शुरू की गई है। एक राष्ट्रीय आईसीटी आधारित पोर्टल युवाओं की आकांक्षाओं के साथ सुनहरे अवसर कनेक्ट करने के लिए मुख्य रूप से विकसित की है। यह पोर्टल नौकरी चाहने वालों, नौकरी प्रदाताओं, कौशल प्रादाताओ कौशल प्रादाताओं, कैरियर सलाहकारों आदि के पंजीकरण की सुविधा प्रदान करती है। 
 
राज्य सरकारों द्वारा एनसीएस को 01 नवम्बर 2016 से जिला नियोजनालय में पंजीकृत कर रोजगार मुहैया करने के लिए लाया गया।
 
पोर्टल बेहद पारदर्शी और उपयोगकर्ता के अनुकूल तरीके से नौकरी मिलान सेवाएं प्रदान करता है।
 
 
 
 
 
करियर परामर्श सामग्री के साथ-साथ से सुविधा करियर केन्द्रो मोबाइल उपकरणों, सी०एस०सी० जैसे कई चैनलों के माध्यम से पोर्टल द्वारा वितरित किया जायेगा।
 
 परियोजना शिक्षा, रोजगार और प्रशिक्षण के बारे में जानकारी के लिए युवाओं की विभिन्न मांगों और जरूरतों को पूरा करने में सक्षम हो सकता है और एक बहुभाषी कॉल सेंटर द्वारा समर्थित हो जायेगा
 
• पोर्टल के द्वारा भारत सरकार के विभिन्न विभागों में उपलब्ध नौकरियों की जानकारी प्राप्त कर सकते है।
 
 पोर्टल के माध्यम से संपूर्ण देश में निजी कंपनियों में उपलब्ध नौकरियों की जानकारी प्राप्त कर सकते है।
 
 
 
 
पूर्वी चम्पारण में पोर्टल पर 2015-23 तक 46605 (छियालीस हजार छः सौ पाँच) सक्रिय jobseeker निबंधित  है। वित्तीय वर्ष 2022-23 में पूर्वी चम्पारण में कुल 7288 (सात हजार दो सौ अड़सठ ) सक्रिय Jobseeker उपलब्ध है।
कुल 22-23 में 1270 Jobseeker को पिछले वित्तीय वर्ष 2022-23 में रोजगार उपलब्ध कराया गया है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS