ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगेभारत की राष्ट्रपति, मॉरीशस में; राष्ट्रपति रूपुन और प्रधानमंत्री जुगनाथ से मुलाकात कीकोयला सेक्टर में 2030 तक नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता को 9 गीगावॉट से अधिक तक बढ़ाने का लक्ष्य तय कियाझारखंड को आज तीसरी वंदे भारत ट्रेन की मिली सौगात
बिहार
रेड क्रॉस मोतिहारी में मनाया गया विश्व रक्त दान दिवस, आईपीएस श्री राज व श्रम अधीक्षक सत्य प्रकाश थे मौजूद
By Deshwani | Publish Date: 14/6/2023 11:57:24 PM
रेड क्रॉस मोतिहारी में मनाया गया विश्व रक्त दान दिवस, आईपीएस श्री राज व श्रम अधीक्षक सत्य प्रकाश थे मौजूद

मोतिहारी। भारत में करीब 5 करोड़ यूनिट रक्त की जरूरत होती है जबकि 2.5 करोड़ यूनिट रक्त ही उपलब्ध हो पाता है। देश में करीब 25% पुरुष और 57% महिलाओं में रक्त की कमी देखी जाती है। एक अनुमान के अनुसार खून की कमी की वजह से भारत में रोज करीब 1200 लोगों की जान चली जाती है। 


थैलेसीमिया, हीमोफीलिया, एनीमिया, प्लास्टिक एनीमिया, ब्लड कैंसर के रोगियों को बार-बार रक्त की जरूरत होती है। गुर्दे के रोग और डायलिसिस के अलावा दुर्घटनाओं के कारण रक्त की जरूरत बढ़ती जा रही है। उपरोक्त बातें रेड क्रॉस मोतिहारी में आयोजित विश्व रक्तदाता दिवस 2023 के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में श्री राज (आईपीएस) आरक्षी अपर उपाधीक्षक, मोतिहारी ने रक्तदान शिविर को संबोधित करते हुए कहा। 


श्री राज ने यह भी कहा कि रेड क्रॉस इस क्षेत्र में बहुत अच्छा काम कर रही है। उन्होंने कहा कि आपको किसी भी तरह की स्वास्थ्य के अलावा सामाजिक, परिवारिक या घरेलू आवश्यकता है तो उसमें मैं हमेशा आपके साथ खड़ा रहूँगा। 

रक्तदान शिविर को संबोधित करते हुए विशिष्ट अतिथि श्री सत्य प्रकाश, श्रम अधीक्षक, पूर्वी चंपारण ने कहा कि हर स्वस्थ व्यक्ति रक्तदान कर सकता है। रक्तदान करने के बाद पुनः 48 घंटे में आपके शरीर में रक्त बन जाता है। 


रक्तदान से कोई हानि नहीं होती है, बल्कि जीवन बचाने की खुशी और संतोष होता है। आपकी एक रक्तदान से तीन तीन लोगों के जीवन को बचाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हर स्वस्थ व्यक्ति को अपने जीवन में कम से कम एक बार अवश्य रक्तदान करना चाहिए और हो सके तो उसे रिपीट ब्लड डोनर के रूप अपना पंजीकरण रक्तदान केंद्र पर कराना चाहिए और प्रतिवर्ष रक्तदान करने का संकल्प लेना चाहिए। 


इस वर्ष वर्ल्ड ब्लड डोनर डे का थीम, खून दो, प्लाज्मा दो  जीवन साझा करो अक्सर साझा करो, (गिव ब्लड, गिव प्लाजमा, शेयर लाइव, शेयर ऑफटेन है। 


इस थीम को ब्लड और प्लाजमा दान करने के लिए महत्व को बताने के साथ-साथ लोगों को बार-बार रक्तदान के लिए प्रेरित करने के उद्देश्य से चुना गया है। खून की एक बूंद किसी भी की जिंदगी बचा सकती है। खून के बिना शरीर मांस और हड्डियों से बना सिर्फ एक कंकाल रह जाता है। देश और दुनिया में हजारों लोग खून की कमी के कारण अपनी जान गवा देते हैं। लोगों में रक्तदान करने के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए हर साल 14 जून को विश्व रक्तदाता दिवस मनाया जाता है। ब्लड डोनेशन एक दर्द रहित क्रिया है, जो किसी जरूरतमंद की जिंदगी बचा सकती है। 


विश्व भर में इस दिन को मनाने का मकसद सभी लोग को  रक्तदान करने के लिए प्रोत्साहित करना है ताकि अधिक लोगों की जान बचाई जा सके।

 उपरोक्त बातें ब्लड डोनर डे के अवसर पर रेड क्रॉस में रक्तदान शिविर में आए हुए लोगों का स्वागत करते हुए रेड क्रॉस सोसायटी के अध्यक्ष इंजीनियर विभूति नारायण सिंह ने कहा। रक्तदान शिविर में रेड क्रॉस के उपाध्यक्ष डॉ पुष्पा किशोर, आशीष प्रताप सिंह, डॉ अमित, उज्जवल कुमार श्रीवास्तव उर्फ शेखर सहित अनेक गणमान्य उपस्थित थे। 


मोतिहारी में अवनीष कुमार सुमन, जितेंद्र कुमार, रवि कुमार गुप्ता रामगढ़वा के प्रभास कुमार गुप्ता, रोहित कुमार सिंह, भोपटपुर की रेनू गुप्ता, लक्की कुमारी, सत्येंद्र नाथ तिवारी, शुभम शेखर,एनम रंजना इत्यादि सहित मसिमो बैटरी कम्पनी के सदस्यों ने रक्तदान किया। बुधवार को पनटोका एसएसबी, पिपराकोठी एसएसबी और टोल प्लाजा चकिया तथा मोतिहारी रेड क्रॉस भवन में 130 लोगों ने रक्तदान किया और अभी रक्तदान जारी है।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS