ब्रेकिंग न्यूज़
'दंगल' फेम सुहानी भटनागर की प्रेयर मीट में पहुंचीं बबीता फोगाटबिहार:10 जोड़ी ट्रेनें 25 फरवरी तक रद्द,नरकटियागंज-मुजफ्फरपुर रेलखंड की ट्रेनें रहेंगी प्रभावितप्रधानमंत्री ने मिजोरम के निवासियों को राज्‍य के स्‍थापना दिवस पर शुभकामनाएं दीउपराष्ट्रपति ने कहा- भारत सुषुप्‍त अवस्‍था से जागृत अवस्‍था में प्रवेश कर चुका हैमोतीहारी: गांधी कुष्ठ कॉलोनी में मरीजों के बीच खाद्य सामग्री व सफाई सामग्री के साथ-साथ कंबल का भी वितरण किया गयामहागठबंधन छोड़ नीतीश शामिल हुए एनडीए में, बिहार में बनी एनडीए की सरकारमोतीहारी: राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर महात्मा गांधी ऑडिटोरियम में नव मतदाता सम्मेलन का आयोजनउपराष्ट्रपति ने श्री हरिशंकर भाभड़ा के निधन पर शोक व्यक्त किया
बिहार
वसुधैव कुटुम्बकम् का अनुसरण किया हैं, अब बौद्धिक संपदा को संरक्षित करने की आवश्यकता है: जस्टिस मृदुला मिश्रा
By Deshwani | Publish Date: 17/12/2022 10:09:00 PM
वसुधैव कुटुम्बकम् का अनुसरण किया हैं, अब बौद्धिक संपदा को संरक्षित करने की आवश्यकता है: जस्टिस मृदुला मिश्रा

पटना जितेन्द्र कुमार सिन्हा। जे. डी. वीमेंस कॉलेज, पटना एवं भारतीय भाषा अभियान, बिहार के संयुक्त तत्वावधान में "बौद्धिक संपदा अधिकार : एक विमर्श"  विषय पर परिसंवाद आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ सरस्वती वंदना एवं दीप प्रज्ज्वलित के साथ हुआ। प्राचार्या डॉ मीरा कुमारी ने अतिथियों का स्वागत अंगवस्त्र और पौधा दे कर की। 

 
 
 
उक्त अवसर पर मुख्य अतिथि के रुप में चाणक्य राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय पटना के कुलपति जस्टिस मृदुला मिश्रा ने उक्त विषय के वैधानिक पक्ष एवं महत्व को बताते हुए कहा कि वसुधैव कुटुम्बकम् के मूल वाक्य को अनुसरण करते आए हैं हम, अब अपनी बौद्धिक संपदा को संरक्षित करने की आवश्यकता है। 
 
 
 
 
पटना उच्च न्यायालय के अधिवक्ता शंभू शरण शर्मा  एवं अशोक कुमार सिंह ने अपने वक्तव्य से शिक्षकों एवं छात्राओं को बौद्धिक संपदा अधिकार की बारीकियों से अवगत करवाया। भारतीय भाषा अभियान के संरक्षक अजीत कुमार पाठक ने भी अपने विचार रखे।
 
 
 
 
IQAC, समन्वयक डॉ मीना सिन्हा ने मंच संचालन किया तथा धन्यवाद ज्ञापन समाजशास्त्र विभाग के अध्यक्ष डॉ मधु कुमारी ने की।
 
 महाविधालय के आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ के द्वारा आयोजित  यह कार्यक्रम डॉ मालिनी अध्यक्ष दर्शन दर्शनशास्त्र विभाग के निर्देशन में किया गया।
 
 
 
 
उक्त अवसर पर पटना उच्च न्यायालय की अधिवक्ता शिखा परमार, महाविद्यालय की शिक्षिका डॉ सुमिता सिंह, डॉ कुमकुम, डॉ रेखा मिश्रा ,अन्य शिक्षकगण, अधिवक्तागण एवं छात्राएं उपस्थित रहीं। धन्यवाद! कार्यक्रम का अंत शांति मंत्र से किया गया।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS