ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार
कदाचारमुक्त परीक्षा संपन्न करवाना, सबकी जिम्मेवारी : डीएम
By Deshwani | Publish Date: 11/2/2017 6:57:52 PM
कदाचारमुक्त परीक्षा संपन्न करवाना, सबकी जिम्मेवारी : डीएम

मुजफ्फरपुर। संजीव कुमार। अनुमंडल कार्यालय परिसर में अवस्थित मैदान में टेंट लगाकर जिलाधिकारी  धर्मेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में 14 फरवरी से प्रारंभ होने वाली इंटरमीडिएट की परीक्षा की तैयारी को लेकर सभी केन्द्राधीक्षकों, प्रतिनियुक्त दंडाधिकारियों, पुलिस पदाधिकारियों को ब्रीफिंग की गयी। जिलाधिकारी ने कहा कि कदाचारमुक्त परीक्षा संपन्न कराना सबकी जिम्मेबारी है।

लापरवाही पर कठोर कार्रवाई

कहीं से भी किसी की लापरवाही और कोताही नहीं होनी चाहिए। यदि ऐसा पाया गया तो जिम्मेवार पदाधिकारी एवं केन्द्राधीक्षक पर कठोर से कठोर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने सभी केन्द्राधीक्षकों को परीक्षार्थियों के बैठने की सिटिंग प्लान केन्द्र के बाहर और अंदर दोनों स्थल पर लगाने का निर्देश दिया। साथ ही इसे प्रतिदिन अद्यतन करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जिन परीक्षा केन्द्रों पर टेंट की आवश्यकता है वहां वाटरप्रूफ पंडाल घेराबंदी के साथ रहेगा। सभी केन्द्रों पर आवश्यकतानुसार प्रकाश की व्यवस्था रहेगी। कमरे के बाहर पेयजल की व्यवस्था किया जाएगा। जिन केन्द्रों पर घेराबंदी नहीं है वहां भवन प्रमंडल के द्वारा घेराबंदी कराई जा रही है।25

25 परीक्षार्थियों पर एक वीक्षक

वीक्षकों को 13 फरवरी तक रिपोर्ट करना है। 25 परीक्षार्थियों पर एक वीक्षक लगाया गया है। प्रत्येक परीक्षा केन्द्र के बाहर एवं परिसर की गतिविधियों को कैद करने के लिए सी0सी0टी0वी0 लगवाया गया है। परीक्षा केन्द्रों पर महत्वपूर्ण निदेश का बैनर भी लगवाया गया है। जिसमें अंकित है कि परीक्षा केन्द्र के 500 गज की परीधी में निषेधाज्ञा लागू है। इसके अलावे परीक्षार्थियों की गतिविधि को कैद करने के लिए कमरे के अंदर विडियोग्राफर की प्रतिनियुक्ति की गयी है। परीक्षा केन्द्रों पर प्रतिनियुक्त स्टैटिक दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी को फ्रिसकिंग के दौरान यह सुनिश्चित करने का निदेश दिया गया कि कोई भी आवंछित सामग्री परीक्षा केन्द्र के अंदर नहीं ले जा सके इसका ध्यान रखेंगे। चहारदीवारी के ऊपर या परीक्षा केन्द्र के खिड़की के समीप बाहर से किसी प्रकार की गतिविधि न हो इसे सुनिश्चित करने की जिम्मेवारी संबंधित केन्द्राधीक्षक एवं प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी की होगी। गश्ती दंडाधिकारियों को पूर्वा 7 बजे हीं एमआईटी अवस्थित बज्र गृह से प्रश्नपत्र प्राप्त कर परीक्षा केन्द्रों पर पहुंचाना सुनिश्चित करने का निदेश दिया गया। साथ ही अपने आवंटित परीक्षा केन्द्रों पर गश्ती दंडाधिकारियों को गतिशील रहकर विधि व्यवस्था संधारित करने का निदेश दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि कोई भी गलत गतिविधि बर्दास्त नहीं की जाएगी।  यदि किसी परीक्षा केन्द्र पर गड़बड़ी की शिकायत पायी जाएगी तो उस केन्द्र की परीक्षा को रद्द करवाने की कार्रवाई की जाएगी। सभी परीक्षा केन्द्रों पर ध्वनि विस्तारक यंत्र लगा रहेगा। उन्होंने कहा कि ध्वनि विस्तारक यंत्र से वांछित सूचनाएं प्रसारित करवाते रहना केन्द्राधीक्षक की जिम्मेवारी होगी। इसके पूर्व अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी  सुनिल कुमार द्वारा विस्तार से परीक्षा के संबंध में जानकारी दी गयी। बैठक में उप विकास आयुक्त श्री अरविन्द कुमार वर्मा, अपर समाहर्ता रंगनाथ चैधरी, जिला शिक्षा परीक्षा पदाधिकारी, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, जिला नजारत उप समाहर्ता, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी सहित अन्य सभी संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे। 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS