ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोजमोतिहारी के झखिया में पुलिस ने घेराबंदी कर की कार्रवाई, शशि सहनी गिरफ्तार, 125 कार्टन अंग्रेजी शराब जब्तभोजपुरी सेंशेसन अक्षरा सिंह का नया गाना ‘कोरा में आजा छोरा’ रिलीज के साथ हुआ वायरल
झारखंड
झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा को सुप्रीम कोर्ट से झटका, नहीं लड़ पाएंगे चुनाव
By Deshwani | Publish Date: 15/11/2019 12:46:49 PM
झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा को सुप्रीम कोर्ट से झटका, नहीं लड़ पाएंगे चुनाव

- अदालत ने कोड़ा को चुनाव लड़ने की इजाजत देने से इनकार कर दिया

 
नई दिल्ली। झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा झारखंड विधानसभा चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। सुप्रीम कोर्ट ने मधु कोड़ा को झटका दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने मधु कोड़ा को चुनाव लड़ने की इजाजत देने से इनकार कर दिया है। मधु कोड़ा ने चुनाव आयोग द्वारा उन पर चुनाव लड़ने पर पाबंदी लगाए जाने को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका पर आज सुनवाई हुई जिसके बाद कोर्ट ने कहा कि कोड़ा की अयोग्यता का अभी एक साल और बाकी है। निर्वाचन आयोग ने चुनावी खर्चों के बारे में सही से खुलासा नहीं करने पर 2017 में उन्हें अयोग्य ठहराया गया था।
 
मधु कोड़ा पर आरोप है कि उन्होंने 2009 के लोकसभा चुनाव में खर्च की सही जानकारी नहीं दी थी। कोड़ा ने झारखंड की चाईबासा सीट से 2009 का चुनाव जीता था। निर्वाचन आयोग को शिकायतें मिली थीं कि कोड़ा ने चुनाव खर्च का सही ब्यौरा नहीं दिया। इसके बाद निर्वाचन आयोग ने कोड़ा को नोटिस जारी कर पूछा था कि सही ब्यौरा न देने पर क्यों न अयोग्य घोषित कर दिया जाए। निर्वाचन आयोग ने कहा था कि कोड़ा द्वारा जमा करवाया गया ब्यौरा गलत था। उसके बाद आयोग ने 2017 में उन्हें तीन साल के लिए चुनाव लड़ने पर रोक लगाने का आदेश दिया। निर्वाचन आयोग के इसी फैसले को कोड़ा ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS