ब्रेकिंग न्यूज़
चकिया में बाइक लूटने में असफल अपराधियों ने युवक को मारी गोलीनेपाल से वतन लौट रहे करीब 400 भारतीय को बीरगंज प्रशासन ने रोका, डिटेंशन सेन्टर में खाने-पीने की व्यवस्था नहीं, कर रहे भारत बुलाने की अपीलउत्तर बिहार के ख्यातिप्राप्त सर्जन डॉ. आशुतोष शरण ने PM Cares Fund व CM Releaf Fund को दी कुल 2 लाख 50 हजार की आर्थिक सहायता, पूरी की दिली ख्वाहिशपूर्व केन्द्रीय कृषिमंत्री मोतिहारी सांसद लॉकडाउन में देशभर में फंसे सैकड़ो चंपारणवासियों को भोजन मुहैया करा रहे हैंलोगों के अनुरोध पर आपातकाल में प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और राहत कोष - PM CARES की घोषणा, नोट करें खाता नम्बरहाइड्रो-ऑक्‍सी-क्‍लोरोक्विन कोविड- 19 में कारगर, आवश्‍यक दवा घोषित, बिक्री और वितरण नियंत्रित करने संबंधी स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की अधिसूचना जारीपूरे देश में 562 संक्रमित मामलों की पुष्टि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने की, 41 संक्रमित मरीज हुए स्वस्थईरान से एयरइंडिया के विशेष विमान से लाये गये 277 लोग आज सुबह पहुंचे जोधपुर हवाई अड्डा
बिहार
अब अंगूठे से लगेगी हाजरी, सीसीटीवी कैमरे से होगी देखरेख
By Deshwani | Publish Date: 22/1/2018 11:01:23 AM
अब अंगूठे से लगेगी हाजरी, सीसीटीवी कैमरे से होगी देखरेख

छपरा (हि.स.)। सारण जिले के कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में छात्राओं एवं कर्मचारियों की हाजरी बनाने के लिए बायोमेट्रिक सिस्टम लगाने की तैयारी चल रही है। इसका उद्देश्य छात्राओं की हाजरी बनाने में की जा रही फर्जीवाड़े पर अंकुश लगाना है। इसके साथ इन विद्यालयों में सीसीटीवी कैमरे से निगरानी भी की जाएगी। यह कार्रवाई सर्व शिक्षा अभियान के तहत की जा रही है।
इसके तहत कस्तूरबा गांधी विद्यालय में पढ़ने वाली छात्राओं के साथ ही कर्मचारियों के अंगूठे से बायोमेट्रिक सिस्टम से हाजरी बनने लगेगी। इसके लिए अच्छी गुणवत्ता और उच्च क्षमता वाली बायोमेट्रिक टाइम अटेंडेंस उपकरण लगवाया जाएगा। विभागीय अधिकारियों ने बताया कि बायोमेट्रिक सिस्टम लगाने पर आने वाली खर्च का भुगतान विद्यालय संचालन, पीटीए मद से किया जाएगा। कस्तूरबा आवासीय विद्यालय में छात्राओं की इसलिए ई-हाजरी लगायी जा रही है, ताकि विद्यालय छोड़कर वह कहीं न जाए। संचालक छात्राओं की संख्या कम होने पर उनकी उपस्थिति दर्ज कर देते है। जिसे रोकने के लिए यह योजना शुरू की जाएगी।
विभागीय अधिकारियों के मुताबिक, कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में पढ़ने वाली छात्राओं एवं महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए शाम के समय पुरुषों के प्रवेश पर रोक लगा दी जायेगी। साथ ही कस्तूरबा आवासीय विद्यालय में पढ़ने वाली छात्राओं के अभिभावकों से मुलाकात के लिए समय भी निर्धारित की जाएगी ताकि उसी समय मे अभिभावक अपनी बच्चियों से मुलाकात कर सकें।
विभागीय अधिकारियों का कहना कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में सौ छात्राओं के लिए आवासीय सुविधा होती है। इसमें कक्षा छह से लेकर आठ तक की पढ़ाई की व्यवस्था हैं। विद्यालय के संचालन के लिए एक वार्डन, तीन अंशकालिक शिक्षक, तीन रसोइया, एक लखापाल, एक नाइट गार्ड और एक चतुर्थवर्गीय कर्मचारी का पद होता है। विद्यालय में बिजली की व्यवस्था के लिए बिजली कनेक्शन, जनरेटर, इंवर्टर की सुविधा होती है। कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में पढ़ने वाली छात्राओं की सुरक्षा व देखरेख के लिए तीसरी नजर की व्यवस्था की जाएगी।
इस तीसरी नजर यानी सीसीटीवी कैमरे से विद्यालय के आस-पास की हर गतिविधियों पर नजर रखी जायेगी। इसके लिए विद्यालय के बाहरी परिसर एवं मुख्य गेट के पास सीसीटीवी कैमरे लगाये जायेंगे ताकि विद्यालय के आस-पास घूम रहे मनचलों पर नजर पर नजर रखी जा सकें। छात्रावास में हर-आने जाने वालों की गतिविधि पर भी नजर रहेंगी। इसका संचालन रात-दिन जारी रहेगा,जिसकी मॉनिटरिंग विद्यालय के वार्डन के कार्यालय से होगी। कस्तूरबा में लगने वाले कैमरे कि व्यवस्था की जिम्मेदारी क्रय समिति को दी जाएगी। इस पर आने वाले खर्च का भुगतान कस्तूरबा विद्यालय के पीटीए स्कूल संचालन मद से किया जाएगी। जिलाधिकारी हरिहर प्रसाद ने बताया कि इस योजना का कार्यान्वयन शीघ्र कराने का निर्देश दिया गया है।

 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS