ब्रेकिंग न्यूज़
फिल्म 'भारत' के ट्रेलर से इसलिए गायब हुई तब्बू, यह है बड़ी वजहबिहार में चार बजे तक लगभग 50.9 प्रतिशत मतदानरूसी राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन से मिलेंगे उत्तर कोरिया के किम जोंगराफेल केस: सुप्रीम कोर्ट ने अवमानना मामले में राहुल गांधी को जारी किया नोटिस, 30 को होगी सुनवाईसुपौल लोकसभा क्षेत्र में बारिश ने डाला खलल, दिन चढ़ने के साथ बढ़ती गयी मतदाताओं की कतारडेमोक्रेट सांसद कमला हैरिस ने की ट्रंप के खिलाफ महाभियोग शुरू करने की मांगउप्र की दस सीटों पर मतदान जारी, इस चरण में 'यादव परिवार' की साख दांव परराजस्थान: मोदी पर बरसे राहुल, कहा- प्रधानमंत्री मोदी ने सबसे अधिक नुकसान आदिवासियों का किया
राष्ट्रीय
राहुल गांधी और सोनिया का अमेठी-रायबरेली दौरा 23 जनवरी से
By Deshwani | Publish Date: 21/1/2019 4:16:05 PM
राहुल गांधी और सोनिया का अमेठी-रायबरेली दौरा 23 जनवरी से

लखनऊ/अमेठी। यूपी में महागठबंधन के ऐलान के बाद बुधवार से दो दिवसीय अमेठी दौरे पर पहुंच रहे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का यह दौरा संगठन पदाधिकारियों और बड़े नेताओं से मुलाकात पर फोकस होगा।

 
माना जा रहा है कि राहुल गांधी का यह दौरा लोकसभा चुनाव में उनके नामांकन के पहले का यह आखिरी दौरा होगा। इस लिहाज से इसे बेहद अहम माना जा रहा है। यही वजह है कि राहुल गांधी के इस दौरे को छोटे-छोटे वर्गों से मुलाकात के तौर पर तैयार किया गया है। वह वकीलों के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेंगे तो तिलोई विधानसभा क्षेत्र के सभी ग्राम प्रधानों से मिलकर पार्टी की बात रखेंगे। 
 
इसके अलावा गौरीगंज क्षेत्र में व्यापारियों से उनकी मुलाकात का कार्यक्रम है तो वह इस बार उस क्षेत्र में भी जाएंगे, जहां कमोबेश उनका जाना कम ही होता है। राहुल गांधी के कार्यक्रम में जानबूझकर मुसाफिरखाना से हलियापुर मार्ग का दौरा रखा गया है। ऐसा अब तक के दौरों में बेहद कम हुआ है कि उन्हें इस रास्ते पर ले जाया गया हो। सुलतानपुर जिले के तहत आने वाली 20 से ज्यादा ग्राम सभाएं इस मार्ग पर हैं, जोकि अमेठी लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा हैं। इसके अलावा संसदीय क्षेत्र के पुराने कांग्रेस नेताओं से मिलने का भी कार्यक्रम तैयार किया गया है। 
 
इस दौरे की एक और खास बात है कि जिन दो दिनों में राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र में रहेंगे, उन्हीं दो दिनों में यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी भी अपने लोकसभा क्षेत्र में रहेंगी। सूबे की वीवीआईपी सीटों में शुमार इन दोनों लोकसभा क्षेत्रों में दोनों नेताओं के होने से यूपी की सियासत में गर्मी महसूस की जा सकेगी। 
 
राहुल गांधी जहां एक तरफ अपने सख्त तेवरों से बीजेपी पर हमलावर होंगे, वहीं सोनिया गांधी की केवल मौजूदगी भर तमाम विपक्ष की पेशानी पर बल बढ़ाने वाली होगी। सोनिया गांधी बीते साल अप्रैल में करीब डेढ़ साल बाद रायबरेली पहुंची थीं। अप्रैल के बाद से अब वह इस साल लोकसभा क्षेत्र पहुंच रही हैं। 
 
सोनिया गांधी और राहुल गांधी के इस दौरे में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की नजर तमाम सवालों पर भी होगी। वे संकेतों से इन सवालों के जवाब जानने की जुगत में रहेंगे। माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर प्रदेश में कांग्रेस की सियासत का रुख राहुल गांधी के दौरे से पता चलेगा। वहीं, सोनिया गांधी के दौरे के बाद कांग्रेस कार्यकर्ता यह जानना चाहेंगे कि सोनिया गांधी ही रायबरेली सीट से कांग्रेस की उम्मीदवार होंगी, या प्रियंका या कोई और कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ेगा।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS