ब्रेकिंग न्यूज़
भारत सरकार की ओर से हर घर तिरंगा कार्यक्रम का आयोजनप्रधानमंत्री ने पारसी नव वर्ष पर लोगों को बधाई दीडाकघरों के माध्यम से दस दिन की अवधि में एक करोड़ से अधिक राष्ट्रीय ध्वज खरीदे गयेमोतिहारी कस्टम के दो हवलदारों को केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने पकड़ा, 20 हजार रुपये घूस लेने का आरोपप्रधानमंत्री ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 के भारतीय दल का अभिवादन कियाएनएमडीसी और फिक्की भारतीय खनिज एवं धातु उद्योग पर सम्मेलन का आयोजन करेंगेबिहार: आज बादल गरजने के साथ ठनका गिरने की आशंका, तीन जिलों में भारी बारिश का अलर्टमोतिहारी, हरसिद्धि के जागापाकड़ में महावीरी झंडा के दौरान आर्केस्ट्रा में फायरिंग, दो घायल, प्राथमिकी दर्ज
बिहार
जरूरतमंद महिलाओं को आत्‍मनिर्भर बनाने के लिए पटना में किया गया सिलाई मशील का वितरण
By Deshwani | Publish Date: 26/9/2020 9:36:47 PM
जरूरतमंद महिलाओं को आत्‍मनिर्भर बनाने के लिए पटना में किया गया सिलाई मशील का वितरण

पटना। राजधानी पटना में आज गरीब व जरूरतमंद 10 महिलाओं को आत्‍मनिर्भर बनाने के लिए डॉ दयाल फाउंडेशन द्वारा आज सिलाई मशीन का वितरण किया गया। इस मौके पर डॉ दयाल फाउंडेशन निशांत दयाल और पद्मश्री सुधा वर्गिज ने सिलाई मशीन का वितरण फाउंडेशन की चेयर पर्सन डॉ. रीता दयाल की 70 वीं जयंती, डॉ कृष्‍णेश्‍वर दयाल की 91 वीं जयंती और सावित्री दयाल की 91 वीं जयंती के अवसर पर किया। इस दौरान सुधा वर्गिज ने कहा कि दयाल फाउंडेशन हमेशा से समाजसेवा के क्षेत्र में सराहनीय कार्य करती रही है। इसके लिए ये बधाई के पात्र हैं।




वहीं, निशांत दयाल ने कहा कि 26 और 27 सितंबर को हमारे परिवार के तीन महान लोगों का जयंती है, जिसको सेलिब्रेट करते हुए हम हर साल गरीब व जरूरतमंद महिलाओं को सिलाई मशीन देते हैं, ताकि वे अपनी आजिविका अपने दम पर चला सकें। वे आत्‍मनिर्भर बनें और अपने परिवार का भरण पोषण सही तरीके से कर सकें। आज भी हमने पटना में अपने आवास पर सोशल डिस्‍टेंसिंग के साथ 10 महिलाओं को सिलाई मशीन दिया। इसके अलावा मुंबई में 35, दिल्‍ली में 45 और बंगलोर में 30 महिलाओं के बीच सिलाई मशीन का वितरण किया गया। हम हमारे लिए गौरव की बात है।



निशांत ने कहा कि हमारे फाउंडेशन के साथ सिलाई प्रशिक्षण संस्थान भी संलग्न हैं, जो न केवल महिलाओं को विभिन्न कपड़े सिलाई का प्रशिक्षण देते हैं, बल्कि अपने उत्पादों को प्रदर्शित करने और बेचने के लिए DDF की प्रदर्शनियों में भी भाग लेने का मौका प्रदान करते हैं। प्रदर्शनी में बिक्री से होने वाले आय सीधे उन महिलाओं के पास जाती है, जिन्होंने उत्पाद बनाए हैं।



DDF की स्थापना पटना के प्रख्यात डॉक्टर डॉ कृष्‍णेश्‍वर दयाल की याद में की गई थी, जिन्होंने 2003 में हमें छोड़ दिया। DDF के द्वारा हम बैंगलोर और पटना में, क्रमशः 59 बच्चों के साथ, दो अनाथालयों का संचालन सक्रिय रूप से हम करते हैं। हम बाल हृदय ऑपरेशन, मेगा कंबल वितरण, क्रिकेट किट वितरण और समय-समय पर सिलाई मशीन वितरण के साथ-साथ चिकित्सा शिविरों में भी मदद करते हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS