ब्रेकिंग न्यूज़
डाकघरों के माध्यम से दस दिन की अवधि में एक करोड़ से अधिक राष्ट्रीय ध्वज खरीदे गयेमोतिहारी कस्टम के दो हवलदारों को केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने पकड़ा, 20 हजार रुपये घूस लेने का आरोपप्रधानमंत्री ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 के भारतीय दल का अभिवादन कियाएनएमडीसी और फिक्की भारतीय खनिज एवं धातु उद्योग पर सम्मेलन का आयोजन करेंगेबिहार: आज बादल गरजने के साथ ठनका गिरने की आशंका, तीन जिलों में भारी बारिश का अलर्टमोतिहारी, हरसिद्धि के जागापाकड़ में महावीरी झंडा के दौरान आर्केस्ट्रा में फायरिंग, दो घायल, प्राथमिकी दर्जबिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा को हटाने के लिए सत्तारूढ महागठबंधन के सदस्यों ने नोटिस सौंपाप्रधानमंत्री ने आशूरा के दिन हज़रत इमाम हुसैन की शहादत को याद किया
बिहार
प्रशासन की अपील के बावजूद अस्पताल में नेता-अभिनेताओं के दौरे, शरद 30 लोगों के साथ पहुंचे
By Deshwani | Publish Date: 20/6/2019 5:41:44 PM
प्रशासन की अपील के बावजूद अस्पताल में नेता-अभिनेताओं के दौरे, शरद 30 लोगों के साथ पहुंचे

मुजफ्फरपुर। मस्तिष्क ज्वर से मरने वाले बच्चों की संख्या आज 161 तक पहुंच गई। यहां के सबसे बड़े अस्पताल श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज (एसकेएमसीएच) का प्रशासन लगातार अपील कर रहा है कि नेता अस्पताल का दौरा ना करें, क्योंकि इससे इलाज में दिक्कत आती है। इसके बावजूद आज लोकतांत्रिक जनता दल के नेता शरद यादव 30 लोगों की टीम के साथ अस्पताल में आए। शरद ने डॉक्टरों से बातचीत की और आईसीयू का निरीक्षण किया। 

 
शरद यादव के निकलने के थोड़ी देर बाद भोजपुरी सिंगर और एक्टर खेसारी लाल यादव भी अस्पताल पहुंचे। उन्हें देखने के लिए वहां अच्छी-खासी भीड़ जुट गई। खेसारी को देखने के लिए प्रशंसकों ने अस्पताल में हंगामा कर दिया। भीड़ को काबू करने के लिए प्रशासन को मशक्कत करनी पड़ी। 
 
मस्तिष्क ज्वर से बच्चों की मौत शुरू होने के 18 दिन बाद मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मुजफ्फरपुर पहुंचे थे। यहां उन्होंने हॉस्पिटल का दौरा किया और डॉक्टरों से इस बीमारी के वायरस का पता लगाने के लिए कहा। इससे पहले रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन मुजफ्फरपुर पहुंचे थे।
 
 
अस्पताल के सुपरिंटेंडेंट डॉ. सुनील कुमार शाही ने बताया कि मस्तिष्क ज्वर से पीड़ित 150 बच्चे अभी एडमिट हैं। बीमार बच्चे लगातार हॉस्पिटल पहुंच रहे हैं। डॉक्टर इलाज में लगे हैं, लेकिन नेताओं के दौरों के चलते परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। शाही ने बुधवार को अपील की थी कि नेता अस्पताल आने की बजाय उन इलाकों में जाएं, जहां बच्चे बीमार हो रहे हैं। वे वहां जागरूकता फैलाएं। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS