ब्रेकिंग न्यूज़
डाकघरों के माध्यम से दस दिन की अवधि में एक करोड़ से अधिक राष्ट्रीय ध्वज खरीदे गयेमोतिहारी कस्टम के दो हवलदारों को केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने पकड़ा, 20 हजार रुपये घूस लेने का आरोपप्रधानमंत्री ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 के भारतीय दल का अभिवादन कियाएनएमडीसी और फिक्की भारतीय खनिज एवं धातु उद्योग पर सम्मेलन का आयोजन करेंगेबिहार: आज बादल गरजने के साथ ठनका गिरने की आशंका, तीन जिलों में भारी बारिश का अलर्टमोतिहारी, हरसिद्धि के जागापाकड़ में महावीरी झंडा के दौरान आर्केस्ट्रा में फायरिंग, दो घायल, प्राथमिकी दर्जबिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा को हटाने के लिए सत्तारूढ महागठबंधन के सदस्यों ने नोटिस सौंपाप्रधानमंत्री ने आशूरा के दिन हज़रत इमाम हुसैन की शहादत को याद किया
बिहार
चमकी बुखार का कहर: अबतक 69 बच्चों की मौत, एक दर्ज़न से अधिक की स्थिति नाज़ुक
By Deshwani | Publish Date: 15/6/2019 4:42:27 PM
चमकी बुखार का कहर: अबतक 69 बच्चों की मौत, एक दर्ज़न से अधिक की स्थिति नाज़ुक

मुजफ्फरपुर। बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने आज श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (एसकेएमसीएच) जाकर जानलेवा बीमारी इंसेफलाइटिस (चमकी बुखार) से पीड़ित बच्चों एवं उनके परिजनों से मिले और उन्होंने वहां के चिकित्सकों से बातचीत कर हालात का जायजा लिया।

 
सचिव संजय कुमार ने कहा कि इस समय यह भयावह  आपातकाल की स्थिति बनी हुई है जिसे हम सभी झेल रहे हैं। 69 बच्चों की मौत की पुष्टि करते हुए उन्होंने कहा कि इस बीमारी से ग्रसित कई बच्चों का इलाज़ चल रहा है। इसे देखते हुए बेड की संख्या 34 से बढ़ा कर 50 कर दी गई है। अधिकांश मामलों में बच्चों के शरीर में खून की कमी पायी गयी है और भीषण गर्मी एवं कुपोषण  के कारण बच्चे उसका शिकार हो रहे हैं।
 
प्रधान सचिव ने कहा कि इस बीमारी से बचने के लिए बच्चों को धूप से बचाना चाहिए, कम से कम इस गर्मी में दो बार स्नान कराना चाहिये, खाली पेट नहीं रखना चाहिए, समय-समय पर ओआरएस का घोल पिलाते रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से इस बीमारी की रोकथाम के लिये वृहत पैमाने पर प्रचार- प्रसार के माध्यम से लोगों में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS