ब्रेकिंग न्यूज़
उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने इंदिरा आईवीएफ, पटना के चिकत्सक डॉ.दयानिधि को किया सम्मानितप्रधानमंत्री ने संसद के दोनों सदनों को राष्ट्रपति जी के संबोधन पर प्रकाश डालापर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी ने विजिट इंडिया ईयर-2023 की शुरूआत की26 जनवरी को लेकर रक्सौल में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा एजेंसी मुस्तैदमोतिहारी पुलिस ने 26 स्मार्टफोन के साथ मोबाइल चारी के इंटरनैशनल गिरोह के तीन नेपाली सहित 6 गुर्गों को दबोचामोतिहारी के तीन थाना क्षेत्रों में लूट के चार आरोपितों को चोरी की दो बाइक्स के साथ गिरफ्तार किया गयामोतिहारी के वार्ड 35 के नवनिर्वाचित पार्षद अविनाश झा की सड़क दुर्घटना में मौत की सूचना उप मेयर डॉ लालबाबू ने दीमोतिहारी में बाजार समिति के पास अभिभावक के साथ तीन छात्र सड़क दुर्घटना के शिकार, एक बच्ची की मौत, एक बाइक पर सवार थे चार
बिहार
चमकी बुखार का कहर: अबतक 69 बच्चों की मौत, एक दर्ज़न से अधिक की स्थिति नाज़ुक
By Deshwani | Publish Date: 15/6/2019 4:42:27 PM
चमकी बुखार का कहर: अबतक 69 बच्चों की मौत, एक दर्ज़न से अधिक की स्थिति नाज़ुक

मुजफ्फरपुर। बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने आज श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (एसकेएमसीएच) जाकर जानलेवा बीमारी इंसेफलाइटिस (चमकी बुखार) से पीड़ित बच्चों एवं उनके परिजनों से मिले और उन्होंने वहां के चिकित्सकों से बातचीत कर हालात का जायजा लिया।

 
सचिव संजय कुमार ने कहा कि इस समय यह भयावह  आपातकाल की स्थिति बनी हुई है जिसे हम सभी झेल रहे हैं। 69 बच्चों की मौत की पुष्टि करते हुए उन्होंने कहा कि इस बीमारी से ग्रसित कई बच्चों का इलाज़ चल रहा है। इसे देखते हुए बेड की संख्या 34 से बढ़ा कर 50 कर दी गई है। अधिकांश मामलों में बच्चों के शरीर में खून की कमी पायी गयी है और भीषण गर्मी एवं कुपोषण  के कारण बच्चे उसका शिकार हो रहे हैं।
 
प्रधान सचिव ने कहा कि इस बीमारी से बचने के लिए बच्चों को धूप से बचाना चाहिए, कम से कम इस गर्मी में दो बार स्नान कराना चाहिये, खाली पेट नहीं रखना चाहिए, समय-समय पर ओआरएस का घोल पिलाते रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से इस बीमारी की रोकथाम के लिये वृहत पैमाने पर प्रचार- प्रसार के माध्यम से लोगों में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS