ब्रेकिंग न्यूज़
जीपीएफ पर सरकार ने घटाई ब्याज दर, जानिए अब कितना मिलेगा इंटरेस्टमार्क एस्पर होंगे अमेरिका के नए रक्षा मंत्रीउप्र के एक लाख सहायक शिक्षकों बड़ी राहत, सुप्रीम कोर्ट ने पलटा इलाहाबाद हाईकोर्ट का फैसलासुपर- 30 के अभिनेता ऋतिक रोशन से मिले उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी और आनंद कुमारपूर्व प्रधानमंत्री स्व. चंद्रशेखर के पुत्र नीरज शेखर भाजपा में शामिल, अमित शाह से किया था संपर्कविश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला कल से, अर्घा से जलार्पण करेंगे कांवरियेयूपी भाजपा को मिला नया अध्यक्ष, स्वतंत्र देव सिंह को मिली जिम्मेदारीकर्नाटक संकट: बागी विधायकों की याचिका पर फैसला सुरक्षित, सर्वोच्च न्यायालय कल सुनाएगा फैसला
बिहार
चमकी बुखार का कहर: अबतक 69 बच्चों की मौत, एक दर्ज़न से अधिक की स्थिति नाज़ुक
By Deshwani | Publish Date: 15/6/2019 4:42:27 PM
चमकी बुखार का कहर: अबतक 69 बच्चों की मौत, एक दर्ज़न से अधिक की स्थिति नाज़ुक

मुजफ्फरपुर। बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने आज श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (एसकेएमसीएच) जाकर जानलेवा बीमारी इंसेफलाइटिस (चमकी बुखार) से पीड़ित बच्चों एवं उनके परिजनों से मिले और उन्होंने वहां के चिकित्सकों से बातचीत कर हालात का जायजा लिया।

 
सचिव संजय कुमार ने कहा कि इस समय यह भयावह  आपातकाल की स्थिति बनी हुई है जिसे हम सभी झेल रहे हैं। 69 बच्चों की मौत की पुष्टि करते हुए उन्होंने कहा कि इस बीमारी से ग्रसित कई बच्चों का इलाज़ चल रहा है। इसे देखते हुए बेड की संख्या 34 से बढ़ा कर 50 कर दी गई है। अधिकांश मामलों में बच्चों के शरीर में खून की कमी पायी गयी है और भीषण गर्मी एवं कुपोषण  के कारण बच्चे उसका शिकार हो रहे हैं।
 
प्रधान सचिव ने कहा कि इस बीमारी से बचने के लिए बच्चों को धूप से बचाना चाहिए, कम से कम इस गर्मी में दो बार स्नान कराना चाहिये, खाली पेट नहीं रखना चाहिए, समय-समय पर ओआरएस का घोल पिलाते रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से इस बीमारी की रोकथाम के लिये वृहत पैमाने पर प्रचार- प्रसार के माध्यम से लोगों में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS