ब्रेकिंग न्यूज़
डाकघरों के माध्यम से दस दिन की अवधि में एक करोड़ से अधिक राष्ट्रीय ध्वज खरीदे गयेमोतिहारी कस्टम के दो हवलदारों को केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने पकड़ा, 20 हजार रुपये घूस लेने का आरोपप्रधानमंत्री ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 के भारतीय दल का अभिवादन कियाएनएमडीसी और फिक्की भारतीय खनिज एवं धातु उद्योग पर सम्मेलन का आयोजन करेंगेबिहार: आज बादल गरजने के साथ ठनका गिरने की आशंका, तीन जिलों में भारी बारिश का अलर्टमोतिहारी, हरसिद्धि के जागापाकड़ में महावीरी झंडा के दौरान आर्केस्ट्रा में फायरिंग, दो घायल, प्राथमिकी दर्जबिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा को हटाने के लिए सत्तारूढ महागठबंधन के सदस्यों ने नोटिस सौंपाप्रधानमंत्री ने आशूरा के दिन हज़रत इमाम हुसैन की शहादत को याद किया
बिहार
बिजली के खंभे के सहारे जेनेरेटर और केबल का कारोबार
By Deshwani | Publish Date: 15/6/2017 6:59:04 PM
बिजली के खंभे के सहारे जेनेरेटर और केबल का कारोबार

मुजफ्फरपुर,(हि.स.)। मुजफ्फरपुर में बिजली के खंभे निजी जेनेरेटर चलाने वालों और केबल का कारोबार करने वालों के लिए चारागाह बना है। इस खेल में निजी बिजली वितरण कंपनी एस्सेल के कर्मियों की मिलीभगत है। जिन लोगों को इसे रोकने की जिम्मेदारी है ‌वे लोग नाजायज लाभ लेकर कारोबारियों को पनाह दे रहे हैं।

शहरी इलाके में स्थित बिजली खंभों पर गलत तरीके से ये कारोबारी जरूरत पड़ने पर चढ़ते हैं जिससे ट्रांसमिशन लाइन में बार-बार गड़बड़ी होती रहती है। इधर एस्सेल कंपनी के जनसंपर्क पदाधिकारी राजेश चौधरी का कहना है कि पोल पर कोई भी नीजि तार लगाना गलत और नियम के विरुद्ध है। उन लोगों पर कार्रवाई होगी जो गैरकानूनी काम कर रहे हैं। साथ हीं एस्सेल के उन कर्मियों पर भी कार्रवाई होगी जो इसमें लिप्त हैं। अब देखने वाली बात है कि एस्सेल के भ्रष्ट कर्मियों के सहयोग और संरक्षण में चल रहे इस गोरखधंधे को रोकने के लिए एस्सेल के अधिकारी कोई ठोस कदम उठते हैं या केवल बयानबाजी तक हीं बात रह जाती है। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS