ब्रेकिंग न्यूज़
तहकीकात बाद दें किराया, मोतिहारी के अंबिकानगर लॉज से पटना से अपहृत छात्र मुक्त, प्रिंस पाण्डेय समेत 5 गिरफ्तारमोतिहारी की सांस्कृतिक भूमि को उर्वरा बनानेवाले पूर्व वीसी डॉ वीरेन्द्रनाथ पाण्डेय का पटना में निधनकेन्द्र सरकार के गृह राज्यंत्री, बिहार के भाजपा अध्यक्ष व विधायक साथ रक्सौल में 47 वी बटालियन आउट पोस्ट का जायजा लियाबेतिया में नाजायज संबंध के विरोध पर पति ने पत्नी को दिया तलाकमोतिहारी के सुगौली में परिज सुबह जगे तो देखा पति व गर्भवती पत्नी की गला रेत कर हत्या, फौरेंसिक टीम पहुंची, खून से सना चाकू बरामद, एसआईटी गठितबेगूसराय में तेज रफ्तार बोलेरो की चपेट में आने से एक ही मोहल्ले के तीन लोगों की मौतपटना में बाइक सवार दो अपराधियों ने डेयरी एजेंट की कनपटी पर पिस्टल सटाकर लूटे 2.50 लाख रुपएजे.एन.यू हिंसा मामले में गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट
बिहार
मुख्यमंत्री से मिलेंगे जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर, नीरज कुमार ने प्रशांत किशोर को भ्रम ना पालने की दी सलाह
By Deshwani | Publish Date: 14/12/2019 12:23:17 PM
मुख्यमंत्री से मिलेंगे जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर, नीरज कुमार ने प्रशांत किशोर को भ्रम ना पालने की दी सलाह

पटना जेडीयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर आज पार्टी के अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात करेंगे। इस मुलाकात को लेकर संभावना जताई जा रही है कि दोनों नेताओं के बीच नागरिकता संशोधन कानून को लेकर भी चर्चा हो सकती है। क्योंकि नागरिकता संशोधन बिल के पास होने के दौरान संसद में जेडीयू ने सपोर्ट किया था। पार्टी के इस फैसले को लेकर प्रशांत किशोर खफा नजर आए थे।

 
नागरिकता संशोधन बिल पर जदयू के स्टैंड से खफा प्रशांत किशोर ने बुधवार को ट्वीट कर कहा था कि नागरिक संशोधन बिल का समर्थन करने के पहले जेडीयू नेतृत्व को उन लोगों के बारे में सोचना चाहिए, जिन्होंने 2015 में उन पर विश्वास और भरोसा जताया था। हमें नहीं भूलना चाहिए की 2015 की जीत के लिए पार्टी और इसके प्रबंधकों के पास जीत के बहुत रास्ते नहीं बचे थे।
 
 
इस मुद्दे पर लगातार दो दिन ट्वीट कर अपनी आपत्ति जताने वाले किशोर का नाम लिए बिना ही नीरज कुमार ने इशारों ही इशारों में जवाब दिया है। गुरुवार की सुबह अपने ट्वीट में कहा कि नीतीश कुमार विचार और कर्म से धर्मनिरपेक्ष हैं। यह दर्पण की तरह साफ है। काम ही उनकी पहचान है। 
 
उन्होंने प्रशांत किशोर को सलाह दी कि भ्रम न पालें, वोट के गणित को देखें। नीतीश कुमार के नेतृत्व एवं जनादेश से स्पष्ट हो जाएगा।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS