ब्रेकिंग न्यूज़
झारखंड विधानसभा चुनाव 2019: तीसरे चरण में 1:00 बजे तक 45% से अधिक मतदानआज उच्‍चतम न्‍यायालय में दुष्‍कर्म और हत्‍या के चार आरोपियों की मुठभेड़ में मौत की एसआईटी जांच की याचिकाओं पर होगी सुनवाईएक संसदीय समिति ने कहा है कि सरकार को रसोई गैस पर अधिक सब्सिडी वाली एक और योजना शुरू करने के बारे में करना चाहिए विचारझारखंड में विधानसभा चुनाव 2019: तीसरे चरण का मतदान शुरूमेरे खून का एक – एक कतरा है संविधान विरोधी नागरिकता बिल के खिलाफ : पप्‍पू यादवउड़ीसा में महिलाओं और बच्चों से संबंधित मामलों की सुनवाई के लिए बनाए जाएंगे 45 नई फास्ट ट्रैक अदालतेंअब हम उन्हें चाचा नहीं बल्कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहेंगे: तेजस्वी यादववेडिंग एनिवर्सरी पर अनुष्का-विराट हुए रोमांटि‍क, शेयर की ये बेहद रोमांटिक तस्वीर
बिहार
तैयारी कराने को पिता बोलकर पढ़ते अखबार, हौसला रहा बुलंद, रक्सौल की नेत्र दिव्यांग निशी रूंगटा बनी एसबीआई पीओ
By Deshwani | Publish Date: 20/10/2019 8:16:28 PM
तैयारी कराने को पिता बोलकर पढ़ते अखबार, हौसला रहा बुलंद, रक्सौल की नेत्र दिव्यांग निशी रूंगटा बनी एसबीआई पीओ

निशी रूंगटा।

रक्सौल। अनिल कुमार। शहर के मेंन रोड कोइरिया टोला निवासी नेत्र दिव्यांग निशि रूंगटा ने स्टेट बैंक पीओ की परीक्षा में बाजी मारी। जेनरल स्टडी की तैयारी के लिए उसके पिता ने साथ दिया। जीएस की तैयारी के बारे में निशी ने बताया कि जब उनके पिताजी सुबह अखबर बोल-बोलकर पढ़ते तब वह उनके पास बैठती और सुनती रहती थी।


 देश की  कठिन परीक्षाओ में से एक आईबीपीएस परीक्षा में रक्सौल की एक नेत्रहीन लड़की ने पूरे भारत मे दो हजार बच्चो में यह पद हासिल किया है। पिछले कई सालों से यह लड़की बैंक पीओ परीक्षा की तैयारी में जुटी हुई थी। लेकिन दूसरे बार मे ही यह सफलता निशि रुंगटा ने प्राप्त की।


परीक्षा परिणाम ने निशि ने सभी के लिए एक इतिहास रचने जैसा काम किया है व बच्चों के लिए यह एक सीख भी दी है। निशी के दादा कोइरियाटोला मेन रोड निवासी परमेश्वर रुंगटा, पिता नारायण रुंगटा व माता रेणु रूंगटा सहित पूरा परिवार व परिजन निशी की इस सफलता से काफी खुश हैं। परिजन ने बताया यह लड़की देख नहीं सकती है लेकिन हिम्‍मत नहीं हारती है। बैंक पीओ की परीक्षा उत्‍तीर्ण करने के बाद निशि ने कहा कि वो इस तरीके से पढ़ाई करती थीं कि सभी विषयों और क्षेत्रों को सही ढंग से समझ सकें।


कैसे पढ़ती हैं निशी-

 नेत्र दिव्यांग लड़की बैंक पीओ की परीक्षा पास करने के बाद उससे यह पूछा गया  कि आपने अपनी पढ़ाई कैसे पूरी की। तो उसका यही कहना था कि मेरे पिता नारायण रुंगटा हर दिन सुबह अखबार पढ़ते थे और मैं बड़े ही ध्‍यानपूर्वक सभी खबरों को हर दिन सुनती थी। इसके साथ ही मेरे परिवार वालो का मुझ पर पूरा भरोसा था कि वह एक दिन जरूर नौकरी पा कर अपनी मुकाम पा लेगी। बताया कि उनकी पढ़ाई पर उनके घर के सभी सदस्य ध्यान देते थे। उन्होंने रक्सौल में ही रह कर परीक्षा पास की है। उन्होंने अभी तक कोई कोचीन संस्था में नहीं पढ़ी। सारी तैयारी घर में ही की है।पू छने पर बताया कि इससे भी ऊंची उड़ान की तैयारी उसे अभी पूरी करनी है।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS