ब्रेकिंग न्यूज़
झारखंड में बिहार सहित अन्य राज्यों से आनेवाली बस की एंट्री नहीं, निजी वाहनों को भी लेना होगा ई-पासमोतिहारी के कोटवा में ट्रक व कार में भीषण टक्कर, एक की मौत चार अन्य घायल, दो की स्थित गंभीरबिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोज
बिहार
ईद पर वेतन नहीं मिलने के कारण मुख्यमंत्री का पुतला फूंका
By Deshwani | Publish Date: 25/6/2017 4:19:23 PM
ईद पर वेतन नहीं मिलने के कारण मुख्यमंत्री का पुतला फूंका

किशनगंज, (हि.स.)। सीमांचल में अल्पसंख्यक नियोजित शिक्षक का गुस्सा सरकार के प्रति फूटा है क्योंकि ईद के अवसर पर वेतन नहीं मिलने के कारण जगह-जगह सूबे के मुखिया मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला फूंका गया। सीमांचल के किशनगंज, अररिया, पूर्णिया एवं कटिहार में नियोजित शिक्षकों में अल्पसंख्यकों की आबादी अधिक है । इनकी नाराजगी ईद जैसे त्यौहार में सेलेरी का भुगतान नहीं हो सका जिसके कारण त्यौहार मनाने में काफी परेशानी उठाना पड़ रही है । सीमांचल के स्थानीय जिले में अल्पसंख्यक नियोजित शिक्षकों की आबादी अधिक है। वैसे भी स्थानीय जिला अल्पसंख्यक बाहुलक्षेत्र हैं, तो स्वभाविक रूप से इसी समुदाय के नियोजित अधिक हैं। 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS