ब्रेकिंग न्यूज़
धार्मिक कार्यक्रम में जा रहे हजारों भारतीयों को नेपाल ने करोना वायरस की आशंका से गुरुवार की रात्रि रोका, वार्ता के बाद आज मिली एन्ट्रीपुलवामा हमले के शहीदों को राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने दी श्रद्धांजलिआगर- लखनऊ एक्सप्रेस वे पर मोतिहारी की बस की भीषण दुर्घटना में मृतकों के नाम फिरोजाबाद प्रशासन ने मोतिहारी एसपी को पत्र लिखकर दिएरक्सौल में लुधियाना की नाबालिक लड़की को प्रेम जाल में फंसा कर विवाह करने के आरोप में एक युवक गिरफ्तारऔरंगाबाद में 9वी की छात्रा की हत्या, छात्रा का शव उसके ही क्लास रूम में मिलाभारत को हराकर पहली बार बांग्लादेश ने अंडर-19 क्रिकेट विश्वकप जीतापटना के गांधी मैदान से सटे इलाके में ब्लास्ट होने से करीब आधा दर्जन लोग घायलजविपा सुप्रीमो अनिल कुमार ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा बनाई मानव श्रृंखला पर मांगा श्‍वेत पत्र
बिहार
धूमधाम से मनाया जा रहा है ईद-उल-फितर का त्यौहार, ईदगाहों पर सुरक्षा के माकूल इंतजाम
By Deshwani | Publish Date: 5/6/2019 11:49:39 AM
धूमधाम से मनाया जा रहा है ईद-उल-फितर का त्यौहार, ईदगाहों पर सुरक्षा के माकूल इंतजाम

कटिहार। जिले भर में आज ईद-उल-फितर का त्यौहार आपसी भाईचारे के साथ धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस अवसर पर इस्लाम धर्म के अनुयायियों ने ईदगाह में नमाज अदा कर अल्ला ताला से बरकत व देश में अमन चैन की दुआ मांगी है। जिला पदाधिकारी पूनम, एसपी विकास कुमार, नगर निगम के उप महापौर मंजूर खान सहित कई जन- प्रतिनिधियों ने लोगों को ईद की बधाई दी है। साथ ही जिला प्रशासन ने सभी ईदगाहों पर सुरक्षा के माकूल इंतजाम किए हैं।

 
आज सुबह से ही ईद की नमाज अदा करने के लिए लोग ईदगाह पहुंचने लगे। कटिहार शहरी क्षेत्र के बड़ी ईदगाह ललियाही और बैगना नहर के पास छोटी ईदगाह में सैकड़ों की संख्या में मुसलमानों ने नमाज अदा की। उप महापौर मंजूर खान ने बताया कि यह त्यौहार रमज़ान का चांद डूबने और ईद का चांद नज़र आने पर उसके अगले दिन चांद की पहली तारीख़ को मनाया जाता है। इस्लामी साल में दो ईदों में से यह एक है (दूसरा ईद उल जुहा या बकरीद कहलाता है)। पहला ईद उल-फ़ितर, पैगम्बर मुहम्मद ने सन 624 ई० में जंग-ए-बदर के बाद मनाया था, तभी से यह परंपरा चलती आ रही है।
 
उन्होंने बताया कि उपवास की समाप्ति की खुशी के अलावा ईद में मुसलमान अल्लाह का शुक्रिया अदा इसलिए भी करते हैं कि उन्होंने महीने भर के उपवास रखने की शक्ति दी। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS