ब्रेकिंग न्यूज़
छात्रों और गरीबों के घर में शादी में उपलब्‍ध करायेंगे 25 रुपये किलो प्याज : पप्‍पू यादवप्रेसिडेंसीएल डिबेट में JACP – AISF के उम्‍मीदवार मनीष कुमार ने कहा - जीते तो शिक्षा के साथ सुरक्षा और सम्मान की गारंटी मेरीजम्मू कश्मीर में गांव वापसी कार्यक्रम के दौरान पुलिस और नागरिक प्रशासन की सेवाएं सराहनीय रही: गिरिश चंद्र मुर्मूआज वित्त वर्ष की पांचवी द्वि-मासिक मौद्रिक नीति की घोषणा करेगा रिजर्व बैंकहैदराबाद दुष्कर्म एवं जघन्य हत्या मामले में संसद सदनों से निकली एक आवाज़ दोषियों को कड़ी सजा की मांगआईसीसी टेस्ट बल्लेबाजी रैंकिंग में फिर से प्रथम स्थान पर भारतीय कप्तान विराट कोहलीअमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने चीन के उइगर मुसलमानों को यातनाएं दिए जाने के खिलाफ पारित किया एक विधायकझारखंड में विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के प्रचार का आज अंतिम दिन
बिहार
मोतिहारी सदर अस्पतालकर्मी मृत्युंजय कुमार उर्फ मुन्ना भाई की दरभंगा में सड़क दुर्घटना में मौत, 2 मार्च को बड़ी बेटी मेघा की होने वाली थी शादी
By Deshwani | Publish Date: 28/11/2019 8:30:09 PM
मोतिहारी सदर अस्पतालकर्मी मृत्युंजय कुमार उर्फ मुन्ना भाई की दरभंगा में सड़क दुर्घटना में मौत, 2 मार्च को बड़ी बेटी मेघा की होने वाली थी शादी

स्वास्थ्यकर्मी मृत्युंजय कुमार की फाइल फोटो।

मोतिहारी। सदर अस्पतालकर्मी मृत्युजंय कुमार 54 वर्ष की गुरुवार को दरभंगा में सड़क दुर्घटना में मौत हो गई है। उनके छोटे भाई राज्य सभा के डायरेक्टर डॉ अनुज कुमार ने उनके निधन की पुष्टि की है। डॉ अनुज दिल्ली से दरभंगा के लिए रवाना हो गए हैं। 

 
 
 उनकी मौत की खबर सुनकर अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ शकुंतला सिंह की आखों से झरझर आंसू बहने लगे। वहीं सदर अस्पताल में मौजूद अन्य चिकित्सक व सहकर्मियों के बीच माहौल काफी गमगीन हो गया। उनके व्यवहार के पूरे शहरवासी कायल रहे हैं। सभी यही कहकर उदास हैं कि उन्होंने 4  नवंबर को ही शहर के वाईएस बाटिका में बड़ी बेटी मेघा का रिंग सिरोमनी काफी धुमाधाम से संपन्न कराई थी। 2 मार्च को मेघा की शादी की तारीख भी पक्की हो गई है।
 
 
 
उनके सहकर्मी अखिलेश पाण्डेय ने बताया कि वे अपने साढू की बेटी की शादी में सपरिवार मुजफ्फरपुर गए हुए थे। वहां से आज सुबह बाइक से दरभंगा स्थित अपने निवास जा रहे थे। दरभंगा-मुजफ्फरपुर से जुड़े शोभन-एकमी बाइपास पर शोभन शंकरपुर चौक पर पराली लादकर तेज गति से आ रही पिकअप ने मृत्युंजय कुमार की बाइक में सामने से ठोकर मार दी।
 
 
मिली जानकारी के अनुसार दरभंगा-मुजफ्फरपुर से जुड़े शोभन-एकमी बाइपास पर शोभन शंकरपुर चौक पर पराली लादकर तेज गति से आ रही पिकअप ने मृत्युंजय कुमार की बाइक में सामने से ठोकर मार दी। पीकअप शोभन की तरफ से आ रही थी। घटनास्थल दरभंगा के सिमरी थाना क्षेत्र में है।
 
 
 ठोकर मारने के बाद पीकअप पलट गई। दुर्घटना के बाद ड्राइवर व खलासी फरार हो गए। जहां मृत्युंजय कुमार की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। जबकि पीकअप पर सवार खिरमा निवासी शंकर यादव भी जख्मी हो गए। सिमरी थाना पुलिस ने इन्हें डीएमसीएच पहुंचाया।
 
 
बताया जा रहा है कि दुर्घटना के बाद उनका हेलमेट बाइक के हैंडल में लटका था। यानी बाइक चलते समय उन्होंने हेलमेट नहीं पहना था। पोस्टमॉर्टम के बाद उनके शव को डीएमसीएच में रखा गया है।
 

म‍ृत्युंजय कुमार सीतामढ़ी जिले के बैरगिनिया थाना क्षेत्र में अख्ता परसौनी गांव निवाासी स्व. पारसनाथ प्रसाद के बड़े पुत्र थे। बाद में उनका पैतृक घर दरभंगा में भी बन गया है। उनके पिता स्व पारसनाथ प्रसाद ने मोतिहारी सदर अस्पताल में ऑफिस सुपरिंटेंडेट पद से अवकास प्राप्त किया था। उनके छोटे भाई डॉ अनुज कुमार राज्य सभा के ज्वाइंट डायरेक्टर पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने कई पुस्तकें भी लिखी है और साहित्यिक पत्रिकाओं का संपादन भी करते हैं।

 
स्वास्थकर्मी मृत्यंजय कुमार को शहर के ज्यादातर लोग मुन्ना भाई कहकर पुकारते रहे हैं। शहर के अधिकांश पुराने लोग इन्हें पहचानते हैं और काफी आदर देते हैं।
 
2 मार्च 2020 को बड‍़ी  बेटी मेघा की शादी की तारीख उन्होंने पक्की कर दी थी। बेटी मेघा की शादी गुप्ता गैस के सामने वाली गली चांदमारी निवासी मणिशंकर कुमार वर्मा के पुत्र रवि कीर्ति उर्फ गोविन्द से होने वाली थी। 4 नवम्बर को शहर उन्होंने बेटी का रिंग सिरोमनी काफी धुमधाम से संपन्न कराया था। मेघा के होने वाले पति रवि कीर्ति पूणे में मेकेनिकल इंजीनियर हैं। रवि कीर्ति एलएनडी कॉलेज के इतिहास के प्रोफेसर डॉ सुबोध कुमार के चचेरे भाई हैं।
 
स्वस्थ्यकर्मी अपने पीछे अपनी धर्मपत्नी, माताजी, दो बेटियां व एक बेटा छोड़ गए हैं। बड़ा बेटा पलकु दिल्ली में इंजीनियर है। बड़ी मेघा और छोटी बेटी सिलकु हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS