ब्रेकिंग न्यूज़
जानिए किस बात का है रानी मुखर्जी को बेसब्री से इंतजार, इंटरव्यू में कहा...विधानसभा चुनाव के बाद जयपुर में मतगणना को लेकर आयोग की तैयारियां पूरी16 दिसंबर को कांग्रेस के गढ़ रायबरेली जाएंगे प्रधानमंत्री मोदी, दे सकते हैं बड़ी सौगातकश्मीर में अलगाववादियों की हड़ताल से जन-जीवन प्रभावित, तनावपूर्ण हुआ माहौलभारत ने अग्नि 5 मिसाइल का किया सफल प्रायोगिक परीक्षणनिजामुद्दीन दरगाह में महिलाओं के प्रवेश को लेकर केंद्र और दिल्ली सरकार को नोटिसब्रिटेन से भारत प्रत्‍यर्पण के बाद इस जेल में बीतेंगी विजय माल्‍या की रातें, बैरक तैयारएनडीए से अलग होते ही कुशवाहा ने गिनाई गठबंधन की खामियां, नीतीश कुमार को भी घेरा
बिहार
केन्द्रीय कृषि मंत्री ने कहा- पूर्व भारत का पहला एक्सीलेंस सेंटर का पीपराकोठी में होगा निर्माण
By Deshwani | Publish Date: 4/12/2018 8:20:29 PM
केन्द्रीय कृषि मंत्री ने कहा- पूर्व भारत का पहला एक्सीलेंस सेंटर का पीपराकोठी में होगा निर्माण

पीपराकोठी मेले में शिरकत करेंगे उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी।

मोतिहारी। पीपराकोठी। माला सिन्हा।

 स्थानीय कृषि विज्ञान केंद्र परिसर में मंगलवार को डा. राजेन्द्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय, पूसा के तत्वावधान में बांस उपचार एवं सामान्य सुविधा केंद्र का शिलान्यास केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह ने किया।
 
 
 
 इस दौरान केंद्रीय कृषि मंत्री श्री सिंह ने कहा कि कृषि के क्षेत्र में पीपराकोठी अग्रणी स्थान पर रहेगा। आगामी 23 से 25 दिसंबर तक केविके परिसर में पशु आरोग्य मेला आयोजित है। जिसमे सूबे के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी पहुंचेंगे। कहा कि 23 दिसंबर को मेला का उद्घाटन, 24 दिसंबर को बी बोर्ड का शिलान्यास, तथा 25 दिसंबर को अटलजी की जयंती के अवसर पर एक्सीलेंस सेंटर का शिलान्यास व अटल बिहारी वाजपेयी की भव्य प्रतिमा का अनावरण होगा।
 
 
 
केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि इस अवधि में प्रदर्शन स्टाल लगेगा। कहा कि मोदी सरकार के आने के बाद यहा के 189 युवाओं को आर्या प्रोजेक्ट के द्वारा प्रशिक्षण दिलाकर आत्मनिर्भर बनाने का कार्य किया गया है। 600 लक्ष्य के विरुद्ध 300 लोगों को मछली पालन, मुर्गी पालन, बकरी पालन, मशरूम, मधुमक्खी पालन का प्रशिक्षण दिया गया है। जिसमें से आज 29 बकरी पलको को ब्लैक बंगाल नश्ल की पांच-पांच बकरियां वितरित की जा रही हैं। कहा कि तीन माह पूर्व 47 लाख रुपये की लागत से हाइ ब्रीड बम्बू प्लांट का उद्धघाटन हुआ। 12 हजार बम्बू की बिक्री भी हो गई। आज पुनः 50 लाख रुपये की लागत से बनने वाले बांस उपचार एवं सामान्य सुविधा केंद्र का शिलान्यास भी किया गया है।  कहा कि 40 करोड़ रुपये की लागत से पूर्व भारत का पहला एक्सलेंस सेंटर का निर्माण होगा। जो केविके परिसर में पांच एकड़ भूमि में बनेगा।
 
 
 इस दौरान पिछले सात दिनों से आर्या प्रोजेक्ट के तत्वावधान में चल रहे बकरी पलकों के प्रशिक्षणोंपरांत कीट का वितरण किया गया। मौके पर डा राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा के कुलपति डॉ आरसी श्रीवास्तव, निदेशक प्रसार शिक्षा डा केएन सिंह, नोडल अधिकारी डा वृजेश शाही, आईसीआर पटना के निदेशक डा वीपी भट्ट, केविके के कार्यक्रम समन्यवक डा केके झा, कृषि वैज्ञानिक डॉ अरविंद कुमार सिंह व आरबी शर्मा सहित कई अधिकारी मौजूद थे।
 

 

 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS