ब्रेकिंग न्यूज़
'दंगल' फेम सुहानी भटनागर की प्रेयर मीट में पहुंचीं बबीता फोगाटबिहार:10 जोड़ी ट्रेनें 25 फरवरी तक रद्द,नरकटियागंज-मुजफ्फरपुर रेलखंड की ट्रेनें रहेंगी प्रभावितप्रधानमंत्री ने मिजोरम के निवासियों को राज्‍य के स्‍थापना दिवस पर शुभकामनाएं दीउपराष्ट्रपति ने कहा- भारत सुषुप्‍त अवस्‍था से जागृत अवस्‍था में प्रवेश कर चुका हैमोतीहारी: गांधी कुष्ठ कॉलोनी में मरीजों के बीच खाद्य सामग्री व सफाई सामग्री के साथ-साथ कंबल का भी वितरण किया गयामहागठबंधन छोड़ नीतीश शामिल हुए एनडीए में, बिहार में बनी एनडीए की सरकारमोतीहारी: राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर महात्मा गांधी ऑडिटोरियम में नव मतदाता सम्मेलन का आयोजनउपराष्ट्रपति ने श्री हरिशंकर भाभड़ा के निधन पर शोक व्यक्त किया
बिहार
बिहार के एक जवान सिक्किम में हुए शहीद, पार्थिव शरीर पहुंचा गांव
By Deshwani | Publish Date: 20/2/2023 10:26:42 PM
बिहार के एक जवान सिक्किम में हुए शहीद, पार्थिव शरीर पहुंचा गांव

 रक्सौल। अनिल कुमार। आदापुर प्रखंड के लक्ष्मीपुर पोखरिया अंतर्गत बरहड़वा टोला बिशुनपुरवा निवासी रामनारायण यादव के इकलौते पुत्र मिथलेश कुमार यादव उम्र (24) जो एक भारतीय आर्मी जवान था, जो सिक्किम में पदस्थापित डिप्टी के दौरान शनिवार की  मध्यरात्रि पहाड़ी इलाके में चांगो झील में गिरने पर अपना कर्तव्य निर्वहन करते हुए शहीद हो गए। इस खबर की जानकारी परिजनों को मिलते ही शोक की लहर दौड़ गया। परिवार में कोहराम मच गया | चारों तरफ रोने- चित्कार की आवाज  शुरू हो गई।  ग्रामीणों में मायूसी व्याप्त हो गई। मां निर्मला देवी व पिता रामायण यादव की रो- रो कर बुरा हाल है। मुखिया पति मनोज यादव ने बताया कि रामायण यादव एक गरीब परिवार से हैं| वे चीनी भठी में काम कर अपने पुत्र को पढ़ाया था। 

 
 
 
 
 
जिसे दो साल पहले सेना में नौकरी मिली थी और वे सिक्किम में पदस्थापित थे। उसकी शादी अप्रेल महीने 2023 में होनी थी। लेकिन यह नियति का मंजूर नहीं हुआ और शनिवार की मध्यरात्रि में वह शहीद हो गए। मिथलेश यादव की शादी नहीं हुआ था। बहन भी अभी कुँआरी है। बता दें कि मिथलेश कुमार यादव की देश की सेवा करना चाहते थे और उनमें देश भक्ति से प्रेम था और देश सेवा की ज़ज्बा व जुनून कूट - कूट कर भरा था। वे हमेशा कहा करते थे कि मैं देश की सेवा व रक्षा करने के लिए ही पैदा हुआ हुआ हूं,जब भी मरूंगा तो देश की सरहद पर वो भी शान से। 
 
 
 
 
 
उनकी पिता की भी एक ही इच्छा थी  कि मेरा बेटा एक देश की सिपाही बने और देश की सेवा करे।शहीद मिथलेश की पार्थिव शरीर विमान से आने के बाद उनके गांव घर पहुंचा। जहां उनके पार्थिव शव को देखने के लिए सात किलोमीटर तक लोग  सड़कों पर उतर आए और सभी की आंखे नम हो गई। मौके पर प्रखंड विकास पदाधिकारी सुनील कुमार, अंचलाधिकारी संजय कुमार झा, थाना अध्यक्ष डॉ राजीव नयन प्रसाद , दरपा थाना अध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार, हरपुर थाना अध्यक्ष राजीव कुमार, नकरदेई थाना अध्यक्ष जब्बार हुसैन एवं राजनीति दलों के सभी नेता  अंतिम संस्कार के समय पहुंचे। 
 
 
 
 
 
जहां उन्हें शहीद मिथलेश अमर रहे का नारा, भारत माता की जयकारा करते हुए सभी सैनिकों ने गार्ड ऑफ ऑनर देते हुए सलामी के साथ उन्हें अंतिम संस्कार किया गया। जहां शहीद पिता रामायण यादव ने मुखाग्नि की प्रक्रिया पूरी की।।शहीद मिथलेश की पार्थिव शरीर विमान से आने के बाद उनके गांव घर पहुंचा। जहां उनके पार्थिव शव को देखने के लिए सात किलोमीटर तक लोग  सड़कों पर उतर आए व सलामी देते जवान।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS