ब्रेकिंग न्यूज़
दिग्गज संगीतकार खय्याम का निधन, लंबे समय से थे बीमारअंतरिक्ष में भारत की एक और बड़ी उपलब्धि, चंद्रयान-2 पहुंचा चांद की कक्षा मेंसूचना एवं प्रौद्योगिकी के जनक पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के 75वीं जन्मोदिवस पर मरीजों के बीच बांटे गये फलउत्तर प्रदेश में योगी कैबिनेट का विस्तार कल, राजेश अग्रवाल के बाद अनुपमा जायसवाल ने भी दिया इस्तीफाजाकिर नाइक पर कसा शिकंजा, उपदेश देने पर मलेशिया सरकार ने लगाया प्रतिबंधप्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले होंगे पुरस्कृतकर्नाटक: येदियुरप्पा कैबिनेट का विस्तार, 17 विधायकों ने ली मंत्री पद की शपथअमानत ज्योति कार्यक्रम के तहत चयनित 20 एएनएम को दिया गया प्रशिक्षण, मास्टर ट्रेनर के रूप में दिया गया ट्रेनिंग
बिहार
जन अधिकार पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सह पूर्व सांसद राजेश रंजन ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने का किया विरोध
By Deshwani | Publish Date: 5/8/2019 6:41:31 PM
जन अधिकार पार्टी  के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सह पूर्व सांसद राजेश रंजन ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने का किया विरोध

पटना। जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सह पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने मोदी सरकार द्वारा धारा 370 कानून को हटाने पर जोरदार हमला बोला है। पप्‍पू यादव ने अपने पटना स्थित आवास पर प्रेस वार्ता कर कहा कि धारा 370 पर दो नासमझ लोगों ने देश के खिलाफ फैसला लिया है। यह मोदी सरकार द्वारा देश के संघीय ढ़ांचे पर सबसे तीखा हमला है। आज केंद्र की सरकार ने संस्‍कृति, सविंधान, संघीय व्‍यवस्‍था और वसुधैव कुटुंबकम के नींव पर सबसे बड़ा चोट किया है।

 
पप्‍पू यादव ने पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाही की बुद्धी पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि देश का संविधान संघीय व्‍यवस्‍था, राज्‍यों के विचार व सहमति और लोगों की भावनाओं से बना है। तभी हमारा संविधान ताकतवर है। लेकिन आज देश में संविधान पर सबसे बड़ा हमला हुआ है, जिसके तहत न विपक्ष से राय शुमारी और न सदन में चर्चा और न ही जम्‍मू कश्‍मीर के लोगों से कोई राय। अगर ऐसे ही देश चलेगा तो संसद और राज्‍य सभा की देश में जरूरत ही क्‍या है। उन्‍होंने कहा कि आखिर ये दोनों व्‍यक्ति अहंकार में तानाशाह क्‍यों होते चले जा रहे हैं।   
 
 
पूर्व सांसद ने कहा कि आंध्र प्रदेश की जनता से बगैर राय शुमारी के कांग्रेस ने एक भूल की थी, जिसका हरजना उन्‍हें भरना पड़ा। आज एक पंचायत का कोई अधिकार छीनता है, तो लोग वहां विरोध पर उतर आते हैं। एक दिन राष्‍ट्रपति शासन किसी राज्‍य में लगता है, तो वहां की जनता सरकार को दुश्‍मन समझने लगती है। लेकिन केंद्र की मोदी सरकार ने तो बिना कश्‍मीरियों की भावना का कद्र करते हुए उसे केंद्र शासित प्रदेश बना दिया। वो भी तब जब वहां न तो कोई सरकार है और न विधान सभा। तो क्‍या आने वाले दिनों में देश तोड़ने वाली भाजपा की सरकार पश्चिम बंगाल को भी केंद्र शासित प्रदेश बना देगी।
 
 
पप्‍पू यादव 370 हटाने और जम्‍मू व कश्‍मीर एवं लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाने के मोदी सरकार के फैसले को कश्‍मीरियों की आजादी पर हमला बताया। उन्‍होंने कहा कि आज केंद्र सरकार ने सवा करोड़ कश्‍मीरियों को देश के खिलाफ कर दिया। उनकी भावनाओं के साथ नाइंसाफी ने देश के प्रति आम लोगों में अविश्‍वास पैदा करने का काम किया है, जिसकी खिलाफत जन अधिकार पार्टी (लो) पूरी मजबूती के साथ करती है। संवाददाता सम्‍मेलन के दौरान राघवेंद्र सिंह कुशवाहा, अरूण कुमार, राजेश रंजन पप्‍पू और बबन यादव भी मौजूद रहे। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS