ब्रेकिंग न्यूज़
राहुल गांधी ने 'चौकीदार चोर है' वाले बयान पर सुप्रीम कोर्ट में जताया खेदशत्रुघ्न सिन्हा की उम्मीदवारी के विरोध में पार्टी कार्यकर्ताओं का पटना में हंगामा, की नारेबाजीप्रज्ञा ठाकुर मामले को लेकर मायावती का चुनाव आयोग पर हमला, कहा- नामांकन रद्द होना चाहिएलोकसभा चुनाव-2019: दिल्ली के छह सीटों पर कांग्रेस ने घोषित किए उम्मीदवारगूगल ने विश्व पृथ्वी दिवस पर बनाया खास एनिमेटेड डूडलराष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने श्रीलंका बम धमाकों में मारे गए लोगों पर जताया दुखआईपीएल: धोनी की विस्फोटक पारी बेकार गई, आरसीबी ने चेन्नई को 1 रन से हरायाश्रीलंका बम धमाकों में मृतकों की संख्या 290 हुई, इनमें 6 भारतीय; कोलंबो एयरपोर्ट के पास पाइप बम बरामद
बिहार
लोगों की उम्मीदों का ख्याल रखना पुलिस का दायित्व: मुख्यमंत्री नीतीश
By Deshwani | Publish Date: 7/2/2019 11:33:21 AM
लोगों की उम्मीदों का ख्याल रखना पुलिस का दायित्व: मुख्यमंत्री नीतीश

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पुलिस अधिकारियों को नसीहत देते हुए कहा कि लोगों की उम्मीदों का ख्याल रखना उनका परम दायित्व है। उन्होंने कहा कि सरकार पुलिस को सभी संसाधन उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्घ है और आगे भी इसके लिए तत्पर रहेगी। 

 
नीतीश ने यहां सरदार पटेल भवन में पुलिस थानों के लिए 1001 नए वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना करने के बाद एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार पुलिस की राज्य सरकार से जो अपेक्षाएं हैं, उसे हम कर रहे हैं, लेकिन लोगों की जो आकांक्षाएं और उम्मीदें पुलिस से हैं, उसका ख्याल रखना पुलिस का परम दायित्व है। 
 
उन्होंने कहा, "गड़बड़ करने वालों के खिलाफ कानून सम्मत कार्रवाई करने के लिए आपको पूरी स्वायत्तता और स्वतंत्रता है। बिहार की कानून-व्यवस्था का हर सूरत-ए-हाल में पालन होना चाहिए।"
 
इस मौके पर मुख्यमंत्री ने बिहार पुलिस कफी टेबल बुक एवं बिहार पुलिस कैलेंडर-2019 का विमोचन भी किया। उन्होंने कहा कि इस काफी टेबल बुक में बिहार पुलिस के इतिहास और पुलिसकर्मियों के योगदान को बेहतर तरीके से उल्लेखित किया गया है, जो भी इसे देखेगा, उसे बिहार पुलिस के योगदान की जानकारी मिलेगी।
 
इससे पहले मुख्यमंत्री ने बिहार पुलिस के इतिहास तथा पिछले दशक में हुई कार्य क्षमता के उन्नयन से संबंधित चित्र प्रदर्शनी देखी। अवैध शराबधंधा करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने की बात करते हुए नीतीश ने कहा, "शराबबंदी के बाद लोगों की मानसिकता बदली है। बिहार के माहौल में परिवर्तन हुआ है। आपराधिक वारदातों और घरेलू हिंसा में भी काफी कमी आई है। शराब का अवैध धंधा करने वालों पर तत्काल सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।"
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS