ब्रेकिंग न्यूज़
उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने इंदिरा आईवीएफ, पटना के चिकत्सक डॉ.दयानिधि को किया सम्मानितप्रधानमंत्री ने संसद के दोनों सदनों को राष्ट्रपति जी के संबोधन पर प्रकाश डालापर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी ने विजिट इंडिया ईयर-2023 की शुरूआत की26 जनवरी को लेकर रक्सौल में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा एजेंसी मुस्तैदमोतिहारी पुलिस ने 26 स्मार्टफोन के साथ मोबाइल चारी के इंटरनैशनल गिरोह के तीन नेपाली सहित 6 गुर्गों को दबोचामोतिहारी के तीन थाना क्षेत्रों में लूट के चार आरोपितों को चोरी की दो बाइक्स के साथ गिरफ्तार किया गयामोतिहारी के वार्ड 35 के नवनिर्वाचित पार्षद अविनाश झा की सड़क दुर्घटना में मौत की सूचना उप मेयर डॉ लालबाबू ने दीमोतिहारी में बाजार समिति के पास अभिभावक के साथ तीन छात्र सड़क दुर्घटना के शिकार, एक बच्ची की मौत, एक बाइक पर सवार थे चार
बिहार
एलएनडी कॉलेज में निबंध प्रतियोगिता द्वारा संविधान को सम्मान
By Deshwani | Publish Date: 26/11/2022 11:24:22 PM
एलएनडी कॉलेज में निबंध प्रतियोगिता द्वारा संविधान को सम्मान

डॉ कुमार राकेश रंजन।
मोतिहारी। जिले के एलएनडी कॉलेज में राष्ट्रीय सेवा योजना एवं राजनीति विज्ञान विभाग के संयुक्त तत्वावधान में शनिवार को संविधान दिवस के अवसर पर निबंध प्रतियोगिता आयोजित कर अपने संविधान के प्रति सम्मान व्यक्त किया गया। निबंध का विषय था हमारा संविधान : हमारा गौरव सभागार में राष्ट्रगान वंदना के साथ कार्यक्रम की विधिवत शुरुआत की गई।
 
कॉलेज प्राचार्य प्रो.(डॉ.)अरुण कुमार ने प्रतिभागियों के बीच संविधान का महत्व रेखांकित करते हुए कहा कि संविधान का अभिप्राय है सभी का विधान, अर्थात् देश के सभी नागरिकों में संवैधानिक मूल्यों के प्रति सम्मान की भावना का एहसास। उन्होंने कहा कि सामाजिक विषमता की खाई को पाटना ही संविधान दिवस का आदर्श है। यह स्वाधीन देश के सभी स्वाधीन नागरिकों में समता की भावना का एहसास कराता है। प्रत्येक व्यक्ति की गरिमा का सम्मान किया जाना चाहिए।
 

राजनीति विज्ञान विभागाध्यक्ष-सह-मीडिया प्रभारी डॉ.कुमार राकेश रंजन ने संविधान दिवस का विषय प्रवेश कराते हुए प्रतिभागियों को ब्रिटिश सरकार द्वारा पारित विभिन्न अधिनियमों से अवगत कराया। संसार सबसे लंबा लिखित यह संविधान लोकतंत्र के तीनों स्तंभों- कार्यपालिका, विधायिका और न्यायपालिका को कामकाज के लिए दिशानिर्देश जारी करता है। यह भारत के नागरिकों के मौलिक अधिकारों और विशेषाधिकारों को भी सुनिश्चित करता है। 

देश के स्वाधीन होने के बाद पिछले 75 वर्षों से हर नागरिक संविधान प्रदत्त मौलिक अधिकारों का आनंद लेते आ रहे हैं तो हम लोगों को मौलिक कर्तव्यों व नैतिक कर्तव्यों के अनुपालन का भी संकल्प लेना चाहिए। उन्होंने उपस्थित सभी प्राध्यापकों व प्रतिभागियों को प्रस्तावना का पठन कराया। एनएसएस स्वयंसेवियों ने संसदीय कार्य मंत्रालय की बेबसाईट पर भी प्रस्तावना का पठन कर खुद का प्रमाण पत्र प्राप्त किया। स्वयंसेवियों ने कांस्टीट्यूशन क्विज में भी भाग लेकर खुद का प्रमाण पत्र डाउनलोड किया।

     

प्रतिभागियों द्वारा लिखित निबंध के मूल्यांकन हेतु एक त्रिसदस्यीय निर्णायक मंडली का गठन किया गया था जिनके सदस्यों में बीसीए समन्वयक डाॅ.सर्वेश दूबे, परीक्षा नियंत्रक प्रो.राकेश रंजन कुमार तथा उर्दू विभागाध्यक्ष डॉ.जौवाद हुसैन शामिल थे। निर्णायक मंडली के सदस्य डाॅ.सर्वेश दूबे ने प्रतिभागियों को संविधान दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रतिभागियों ने निबंध प्रतियोगिता में प्रतिभागिता कर अपनी लेखनी का जादू दिखाते हुए संविधान संबंधी ज्ञान में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। निर्णायक मंडली के अन्य दो सदस्यों परीक्षा नियंत्रक प्रो.राकेश रंजन कुमार तथा उर्दू विभागाध्यक्ष डॉ.जौवाद हुसैन ने भी प्रतियोगियों को संबोधित करते हुए उनका हौसलावर्धन किया।
        

त्रिसदस्यीय निर्णायक मंडली द्वारा सुक्ष्मतापूर्वक संवीक्षा उपरांत अंतिम रूप से टाॅप थ्री/तीन विजेता प्रतियोगियों का चयन किया गया। राजनीति विज्ञान विभाग तृतीय वर्ष के छात्र प्रिंस कुमार ने प्रथम, भूगोल विभाग प्रथम वर्ष की छात्रा शालु कुमारी ने द्वितीय तथा राजनीति विज्ञान विभाग प्रथम वर्ष के छात्र मो.समर ने तृतीय स्थान प्राप्त कर कलम के सिपाही साबित हुए। 

कॉलेज प्राचार्य प्रो.(डॉ.)अरुण कुमार ने इन तीनों विजेताओं को प्रशस्ति पत्र एवं भारतीय संविधान की मौलिक पुस्तक पुरस्कार देकर सम्मानित किया। उन्होंने इन विजेताओं को शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए कहा कि हमारा संविधान : हमारा गौरव विषय पर ये विजेता हमारे कॉलेज एवं विद्यार्थियों के लिए गौरव हैं। बीएड विभाग की छात्रा ऐश्वर्य प्रियदर्शिनी ने संस्कृत में प्रस्तावना पठन की मधुर प्रस्तुति दी तथा कार्यक्रम की सफल एंकरिंग की। जंतु विज्ञान के सहायक प्राध्यापक डॉ.नीरज कुमार ने धन्यवाद ज्ञापित किया। मौके पर एनएसएस स्वयंसेवियों/प्रतियोगियों की ओर से प्रतिमा, सिराज, सृजा सोनल, नेहा, प्राची, नवीन चंद्र झा, चंद्रभूषण, प्रभात, हिमांशु, सुमन, अमन राज, मनोज, दीपक, अवनीश सहित सभी उपस्थित थे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS