ब्रेकिंग न्यूज़
रक्सौल में आरपीएफ ने छापेमारी कर रेल टिकट किया बरामद, एक गिरफ्तारभारतीय नागरिकों के नेपाल प्रवेश पर रोक लगाने के विरोध में भारत-नेपाल सीमा के मैत्री पुल पर जमकर हुआ बवालनेपाल: देशभक्त राजभक्त समूह पर्सा ने वीरगंज महाबीर मंदिर के पास सम्मान कार्यक्रम का किया आयोजनमौसम विभाग: चक्रवाती तूफान निवार 11 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पश्चिम-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ रहाबंगलादेश: राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मोजिबुर्रहमान को श्रद्धांजलि देने के लिए कल ढाका में लगाई गई एक चित्र प्रदर्शनीटीम इंडिया की जर्सी में बीसीसीआई ने किए कुछ बदलावजान कुमार सानू के बयान पर कुमार सानू का आया रिएक्शन, कुमार सानू ने कहा- मैंने वो सब दिया जो कुछ जान की मां ने मांगा थामहापर्व छठ की समाप्ति के बाद जमा हुए जिले के वरिष्ठ क्रिकेट खिलाड़ी, हुआ फैंसी क्रिकेट मैच का आयोजन
बिहार
सात माह लंबे इंतजार के बाद खुला भारत-नेपाल बॉर्डर
By Deshwani | Publish Date: 22/10/2020 9:01:32 PM
सात माह लंबे इंतजार के बाद खुला भारत-नेपाल बॉर्डर

रक्सौल। अनिल कुमार। सात माह लंबे इंतजार के बाद कोरोना को लेकर बन्द भारत-नेपाल का बोर्डर भारत सरकार के निर्देश पर खोला गया। भारत सरकार के गृहमंत्री ने 22 अक्टूबर से बोर्डर खोलने की अनुमति प्रदान कर दिया है।




इसकी जानकारी  ब्यूरो ऑफ़ इमिग्रेशन रक्सौल के ए के पंकज ने दिया। जबकि नेपाल सरकार ने आगामी 17 नवंबर तक बोर्डर बंद रखने की घोषणा किया है। वावजूद इसके भारत सरकार द्वारा बोर्डर खोलने के बाद भी भारतीय नंबर के दोपहिया तीन पहिया चारपहिया वाहनो को नेपाल पुलिस नही जाने दे रही है। जिससे भारत नेपाल के लोगो की परेशानी यथावत है। इस बाबत नेपाल सशस्त्र सुरक्षा बल के सब इन्सपेक्टर एम अधिकारी ने बताया कि नेपाल सरकार ने आगामी 30 गते तक भारत नेपाल सीमा को बंद रखने निर्देश जारी किया है।जिस कारण ह़म भारत नेपाल के मुख्य नाका से आवागमन करने नही देगे। इसके लिए नेपाल सरकार से आदेश मिलने के बाद ही आवागमन सुचारु हो सकता है। 




बोर्डर खुलने पर सीमा पर लोगों की भीड़ की खबर पर भारी संख्या मे सशस्त्र सुरक्षाबल बोर्डर पर पहूंच कर लोगों को रोकने लगे। उधर बोर्डर खुलने की सूचना पुरे सीमाई क्षेत्र सहित पुरे नेपाल में जंगल के आग की तरह फैल गयी है। जिसके बाद ई रिक्सा, तांगा और मोटरसाइकिल आदि से भारतीय सीमा रक्सौल से वीरगंज के लिए भारी संख्या में प्रवेश करने लगे। मगर शंकराचार्य गेट और मैत्रीपुल के निचे तैनात नेपाली सुरक्षाकर्मियों ने उन्हेंं नही जाने दिया।साइड के रास्ता यानी खेत के रास्ता से बीरगंज नेपाल के तरफ आ जा रहे है भारत नेपाल के नागरिक। 




शंकराचार्य गेट के पास सड़क के पुरब की तरफ खेत के रास्ते होते हुए मैत्रीपुल के निचे से अहिरवाटोला होकर पैदल आवागमन कर रहे है लोग। जिस कारण समस्या यथावत बनी हुई है। हालांकि नेपाली नंबर के बाईक को जाने दे रहे है नेपाल पुलिस और भारतीय नंबर के बाइक को नही जाने दे रहे है।मौजे निवासी मनीष कुमार,सिंघासन प्रसाद,हरिकिशन प्रसाद,जयशंकर गुप्ता,शेष नाथ प्रसाद,शालिनी अग्रवाल सहित कई लोग बोर्डर खुलने की सूचना पर बाइक से वीरगंज जा रहे थे जिन्हे नेपाल पुलिस नोमेन्स लैण्ड पर ही रोककर वापस कर दिया।रक्सौल निवासी रमेश अग्रवाल का भारतीय नंबर का बाईक को नही जाने दिया गया। नेपाल पुलिस प्रसाशन द्वारा इस तरह के दोहरा मापदंड अपनाने से लोगों मे नेपाल प्रशासन के प्रति रोष व्याप्त है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS