ब्रेकिंग न्यूज़
नेपाल: देशभक्त राजभक्त समूह पर्सा ने वीरगंज महाबीर मंदिर के पास सम्मान कार्यक्रम का किया आयोजनमौसम विभाग: चक्रवाती तूफान निवार 11 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पश्चिम-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ रहाबंगलादेश: राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मोजिबुर्रहमान को श्रद्धांजलि देने के लिए कल ढाका में लगाई गई एक चित्र प्रदर्शनीटीम इंडिया की जर्सी में बीसीसीआई ने किए कुछ बदलावजान कुमार सानू के बयान पर कुमार सानू का आया रिएक्शन, कुमार सानू ने कहा- मैंने वो सब दिया जो कुछ जान की मां ने मांगा थामहापर्व छठ की समाप्ति के बाद जमा हुए जिले के वरिष्ठ क्रिकेट खिलाड़ी, हुआ फैंसी क्रिकेट मैच का आयोजनझारखंड: इन जिलों में कोरोना संक्रमण की दर में हुई काफी वृद्धिकोविड-19: मुख्‍यमंत्री अरविन्‍द केजरीवाल ने आज नई दिल्‍ली में सर्वदलीय बैठक की
बिहार
रक्सौल अनुमंडल कार्यालय से लेकर पच्चीसों वार्ड में जलजमाव से आम जनजीवन हुआ अस्त-व्यस्त
By Deshwani | Publish Date: 2/7/2020 8:45:43 PM
रक्सौल अनुमंडल कार्यालय से लेकर पच्चीसों वार्ड में जलजमाव से आम जनजीवन हुआ अस्त-व्यस्त

रक्सौल अनिल कुमार। भारत एवं नेपाल का महत्वपूर्ण शहर रक्सौल आज हल्की बारिश में पानी_पानी हो गया। थोडी़ सी बारिश ने नगरपरिषद के तमाम दावे को धो डाला है तथा शहर के हर वार्ड में जलजमाव एवं कीचड़ ने रक्सौल की बेहद बदसूरत तस्वीर को सबों को देखने मजबूर होना पड़ा है। सबसे शर्मनाक जलजमाव का नजारा  अनुमंडल कार्यालय एवं प्रखंड कार्यालय में देखने को मिला।लोगों का कहना था कि  अनुमंडल कार्यालय एवं प्रखंड कार्यालय में जलजमाव से जब प्रशासनिक अधिकारी परेशान हैं तो ऐसे में आम आदमी क्या होगा। नगर परिषद के नाली उड़ाही के तमाम दावे सिर्फ कागज के पन्नों तक सीमित हैं। अगर लॉकडाउन अवधि में नगरपरिषद ने समय का सदुपयोग कर शहर के पच्चीसों वार्ड की छोटी बडी़ नालियों की उड़ाही एवं सफाई अच्छे तरीके से  की गयी होती तो मॉनसून के दस्तक देने के साथ शहर की ऐसी बदसूरत तस्वीर देखने को नहीं मिलती। वार्ड दर वार्ड जलजमाव के कारण आम जनता का दर्द छलक रहा है तथा नगरपरिषद के प्रति आक्रोश गहराता जा रहा है।

 
 
 
 
जानकर बताते हैं कि यूँ तो रक्सौल में  नगरपरिषद की अदूरदर्शिता के कारण  जलजमाव की समस्या नयी नहीं है , क्योंकि नगरपरिषद में रक्सौल के विकास के लिए आवंटित राशि को कागजी खानापूर्ति कर डकार जाने की परम्परा रही है। नगरपरिषद द्वारा ड्रेनेज सिस्टम पर कोई कार्य योजना नहीं बनने से जल जमाव की समस्या का स्थायी समाधान आज तक अधर में है फलस्वरूप प्रति वर्ष रक्सौल वासियों को जल जमाव एवं कीचड़ से सने सड़कों पर सफर करने में तमाम दुश्वारियों का सामना करना पड़ता है।शहर के दक्षिणी भाग में  जलनिकासी सुनिश्चित नहीं कर सैनिक रोड बनाने के कारण भी जल जमाव की समस्या गहरा गयी है। नगरपरिषद को इस बावत कार्य करना चाहिए जिससे त्राहि-त्राहि कर रहे आम लोगों  को जल जमाव से फौरी राहत मिले सके। 
 
 
 
इस सम्बन्ध में 15 दिन पूर्व अनुमंडल पदाधिकारी सुश्री आरती ने नप के पदाधिकारी के साथ बैठक की गई थी।उन्होने कई दिशा-निर्देश दिये कि जलनिकासी के लिए व्यवस्था हो।लेकिन नगर परिषद‍ ने एसडीओ के आदेश की भी अनदेखी कर दी। जिसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है।नगर परिषद‍ के कार्यपालक पदाधिकारी गौतम आनंद इनमें से किसी भी मामले पर जबाब देने के बजाय पूरी जिम्मेवारी सभापति पर टाल देते है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS