ब्रेकिंग न्यूज़
पूर्व मंत्री यशवंत सिन्हा को श्रीनगर एयरपोर्ट से भेजा गया वापस, अन्य सदस्यों को अनुमति मिलीगंगा के जलस्तर में लगातार वृद्धि: कई गांवों पर बाढ़ का खतरा मंडराया, इलाके के लोग सहमेसंजीदा अभिनय के लिये मशहूर विद्या बालन की फिल्म ‘शकुंतला देवी’ का टीजर रिलीजमुख्यमंत्री योगी ने बलिया में बाढ़ग्रस्त क्षेत्र का किया हवाई सर्वेक्षण, बाढ़ पीड़ितों को दी सामग्रीप्रधानमंत्री मोदी ने लिया मां हीरा बेन का आशीर्वाद, साथ किया भोजनमहादलित बस्ती भंटाडीह में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन, 437 मरीजों का हुआ स्वास्थ्य परीक्षणचतरा में पुलिस ने टीपीसी के सबजोनल कमांडर शेखर गंझू को दबोचा, 5 लाख का था इनामबिहार के राज्यपाल फागू चौहान ने पितरों की आत्मा के लिए किया पिंडदान
बिहार
मोतिहारी केविवि के लिए भूअर्जन फर्जीवाड़ा की जांच अब निगरानी विभाग करेगा, तत्कालीन सीओ समेत 13 के विरूद्ध आरोप-पत्र समर्पित
By Deshwani | Publish Date: 20/4/2019 11:18:27 PM
मोतिहारी केविवि के लिए भूअर्जन फर्जीवाड़ा की जांच अब निगरानी विभाग करेगा, तत्कालीन सीओ समेत 13 के विरूद्ध आरोप-पत्र समर्पित

 मोतिहारी। देशवाणी न्यूज नेटवर्क।

बिहार के मोतिहारी में भूअर्जन फर्जीवाड़ा मामले की जांच अब निगरानी विभाग करेगा। इस संबंध में एसपी उपेन्द्र कुमार शर्मा ने एक पत्र लिखा है। केविवि निर्माण के लिए जमीन अधीग्रहण को लेकर हाल के दिनों में मोतिहारी काफी चर्चे में रहा है। इसको लेकर चार लोग जेल भी भेजे जा चुके है। जबकि मोतिहारी के तत्कालीन सीओ चौधरी बसंत सिंह सहित 13 पर आरोप पत्र भी पुलिस ने कोर्ट को समर्पित कर दिया है। जिसमें पुलिस ने जांच कर तत्कालीन सीओ, नाजीर, कार्यालयकर्मी व अमीन पर आरोप को सत्य भी करार दिया है।

पुलिस ने इनके विरूद्ध समर्पित किया आरोप पत्र-

1. चौधरी बसंत सिंह- तत्कालीन सीओ मोतिहारी

2. नाजीर- सुधीर कुमार

3. अमीन- जटाशंकर सिंह

4. कार्यालयकर्मी- शारदा प्रसाद

5. कार्यालयकर्मी- उमेश सिंह

6. जयकिशुन तिवारी

7. अरविन्द सिंह

8. प्रमोद मिश्रा

9. मिक्की तिवारी

10. राजेन्द्र साह

11. ललन पटेल

12. गुलशन तिवारी

13 उमेश

जिसमें चार आरोपी पहले ही जेल जा चुके हैं-

1. शारदा प्रसाद

2. जयकिशुन तिवारी

3. गुलशन तिवारी

4. उमेश   

 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS