ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में मोतिहारी की आदापुर पुलिस ने पाच करोड़ की चरस के साथ पांच नेपाली नागरिक को पकड़ाजिला प्रशासन ने अंतरजातीय विवाह करने वाले 10 दंपत्तियों को बतौर प्रोत्साहन 7.75 लाख की राशि प्रदान कियादैवीय आपदा, बेघर और कच्चे घरों में रहने वाले गरीब परिवारों को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत निःशुल्क आवास उपलब्धदिनेशलाल यादव निरहुआ ने की बिहार में 500 थियेटर के साथ एजुकेशन को जोड़ने की पहलविभिन्न समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर स्वच्छ रक्सौल संस्था द्वारा धरना आज तीसरा दिन भी जारी रहाशराब कारोबारी और पुलिस की कथित चूहा बिल्ली के खेल में हुई दुर्घटना में एक तेज रफ्तार होण्डा कार ने तीन लोगों को रौंदा, एक की मौतदूरदर्शन की मशहूर एंकर नीलम शर्मा का निधन, कैंसर से थीं पीड़ितकुशीनगर में एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या, क्षेत्र में फैली सनसनी
बिहार
21वीं बटालियन का सामाजिक चेतना अभियान- सीमा पर सुरक्षा के साथ सामाजिक व सांस्कृतिक सरोकार का पैरोकार बना एसएसबी
By Deshwani | Publish Date: 14/1/2019 6:57:34 PM
21वीं  बटालियन  का सामाजिक चेतना अभियान-  सीमा पर सुरक्षा के साथ सामाजिक व सांस्कृतिक सरोकार का पैरोकार बना एसएसबी


बेतिया। देशवाणी संवाददाता।

पश्चिम चम्पारण जिला अंतर्गत भारत-नेपाल सीमा पर स्थित अतिदुर्गम क्षेत्र में शामिल नौरंगिया और गोबरहिया दोन जैसे थरुहट क्षेत्र में सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) सामाजिक चेतना अभियान चला रहा है I वैसे इन कार्यक्रमों की शुरुआत विगत वर्ष हुई, जब “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” का सन्देश दिया गयाI उस वक़्त से........मुल्क की सरहद पर निगहबानी को तैनात एसएसबी के जवान व अधिकारी न केवल सुरक्षा, बल्कि सेवा और बंधुत्व धर्म का निर्वहन भी कर रहे हैI
 
सामाजिक सरोकार की दिशा में “बेटियों” को संरक्षित कर उन्हें सबल बनाने के  गुर सिखा रहा है। जिससे आधी आबादी सामान्यतया, पुरुषों के कदम से कदम मिलाकर जी सकें I सशस्त्र सीमा बल की 21 वी वाहिनी इसी सिलसिले में विगत चार दिन से दिन-रात परिश्रम कर दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र में बसे 40 गावों के लोगों में जागरूकता का सन्देश फैला रहे हैं I
 
 
एसएसबी समाज की बेटियों को शिक्षा के साथ सभी क्षेत्र में आगे बढ़कर कार्य करने की अपील कर रहा हैI बेटियों को बेटों के बराबर हिस्सेदारी जब तक नहीं मिल जाती तब तक सशक्त समाज और राष्ट्र का निर्माण संभव नही है। एसएसबी इसके लिए समाज में सतत जागरूकता कार्यक्रम चला रहा हैI एसएसबी के अधिकारी और जवान ग्रामीणों में जागरूकता का संदेश दे रहे हैं। 
 
 
विभिन्न प्रकार के आयोजनों में खेलकूद, कृषि सामग्रियां, पठन-पाठन सामग्रियां और दवाइयां वितरित कर, उस क्षेत्र की बेटियों और महिलाओं के झिझक को दूर करने का प्रयास के क्रम में अलख जगा रहे हैं। इस तरह से उन्हें प्रोत्साहित करने में जुटे हैI कारण है कि गावं के लगभग सभी घर से लोग, इस आयोजन में बढ़ चढ़ कर अपनी भागीदारी निभा रहे हैं I आईबी चौबा सिंह, कार्यवाहक सेनानायक, 21 वीं बटालियन एसएसबी ने बताया कि चार दिवसीय सामाजिक चेतना अभियान बेटी बचावो बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम का समापन उत्क्रमित मध्य बिद्यालय नौरंगिया दोन में किया गया I
 
 
उपर्युक्त कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुचें पूर्व सांसद व कांग्रेस नेता पूर्णमासी राम ने विभिन्न प्रतियोगिता में बेहतर स्थान पाने वाले छात्रों में युवतियों व महिलाओं को भी पुरस्कृत किया गयाI इस जागरूकता कार्यक्रम के दौरान एसएसबी ने स्वच्छता के प्रति ग्रामीणों को जागरूक किया, दोन क्षेत्र के कृषकों के बीच कृषि यन्त्र और उपकरण का वितरण किया गयाI
 
 
इस भव्य आयोजन के दौरान जिन गँवई और स्कूली छात्रों ने मैराथन दौड़, कुर्सी दौड़, ऊँची कूद, लम्बी कूद, फुटबॉल मैच, एकल संगीत, सामूहिक गान, सामुहिक नृत्य, डांडिया में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। प्रतिभागियों को सपरिवार पुरष्कृत कर हौसला अफजाई की गईI 
 
 
हालाकि पूर्व सांसद ने स्वीकार किया कि दोन के उन क्षेत्रों का अब तक समुचित विकास नहीं हुआ हैI बावजूद इसके एसएसबी की पहल प्रशंसनीय है। केंद्र व राज्य सरकारों को इस ओर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता हैIकार्यवाहक सेनानायक एसएसबी 21 वीं वाहिनी ने बेटियों के अलावें महिलाओं को आत्मबल व मजबूत हौसलों के साथ शिक्षा के प्रति जागरूक होकर आगे बढ़ने का सन्देश दियाI पूर्व मंत्री और सांसद पूर्णमासी राम ने कहा कि एसएसबी का सीमा पर सुरक्षा और सेवा के साथ सामाजिक बंधुत्व, सामाजिक चेतना अभियान आज रंग लाने लगा हैI शुरुआती दौर में गाँव के लोगों के चेहरे पर मुस्कान और आयोजन में भागीदारी न केवल इस अभियान को गति दे रहा हैं, बल्कि दोन जैसे अतिपिछड़े और दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र की बेटियां और महिलाएं अब पुरुषों से कदमताल मिलाने को तत्पर दिख रही हैI 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS