बिहार
मदर डेरी संयंत्र का मोतिहारी के मठबनवारी में कृषिमंत्री ने किया शिलान्यास
By Deshwani | Publish Date: 13/2/2018 10:00:00 PM
मदर डेरी संयंत्र का मोतिहारी के मठबनवारी में कृषिमंत्री ने किया शिलान्यास

मदर डेरी का बिहार में पहला है कोटवा के मठबनवारी का यह संयंत्र।

साढ़े चार एकड़ में के इस डेरी की क्षमता एक लाख लीटर प्रसंस्करण की होगी।

मोतिहारी। मठबनवारी। देशवाणी न्यूज नेटवर्क।

मोतिहारी। कोटवा। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा कि किसान देश की आर्थिक रीढ़ हैं। किसानों की हालत सुधारे बिना देश की तरक्की संभव नहीं है। केन्द्रीय मंत्री श्री सिंह पूर्वी चम्पारण में कोटवा के मठबनवारी मदर डेरी के प्रोसेसिंग प्लांट का शिलान्यास करने के बाद पशुपालक व किसानों को संबोधित कर रहे थे। सरकार कृषि एवं किसानों की स्थिति में सुधार करने को प्राथमिकता देगी।
 उन्होंने मोदी सरकार द्वारा किसानों की आमदनी दोगुना करने के संकल्प को याद करते हुए कहा कि 2022 तक इस लक्ष्य को पूरा कर लिया जाएगा।  
-पूर्वी-पश्चिमी चम्पारण गोपालगंज व सिवान के किसानों की आमदनी बढ़ाने के अवसर
इस कड़ी में मदर डेयरी जैसी बड़ी कंपनी का प्रोसेसिंग प्लांट लगाकर बिहार के पिछड़े 4 जिलों पूर्वी-पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज एवं सिवान के किसानों की आमदनी को बढ़ाने के अवसर उपलब्ध कराया जा कराया जा रहा है। इससे लाखों लोगों को रोजगार मिलेगा। इससे पूर्व दुग्ध उत्पाद तैयार करनेवाली मदर डेयरी के प्रोसेसिंग प्लांट का शिलान्यास कृषि मंत्री ने रिमोट दबाकर किया। 
-केन्द्रीय मंत्री ने सरकार की उपलब्धियों को एक-एक कर गिनाया
अपने संबोधन में केन्द्रीय मंत्री श्री सिंह सरकार की उपलब्धियों को एक-एक कर गिनाया। जिसमें नमो केयर स्वास्थ्य योजना एवं आयुष्मान भारत पर विशेष जोर दिया। कहा- 70 साल तक एक ही परिवार के हाथ में देश की सत्ता रही। लेकिन, युवाओं के विकास की कवायद नहीं की गई। मोदी सरकार में पहली बार कौशल विकास मंत्रलय की स्थापना की गई है। कौशल विकास केंद्र के माध्यम से युवा टेक्निशियन बन रहें हैं और उन्हें बड़ी-बड़ी कंपनियां रोजगार दे रही हैं। मुद्रा योजना के अंतर्गत छोटे एवं कुटीर उद्योग करने वाले कारोबारियों को ऋण मिल रहा है। रोजगार से लोग जुड़ रहें हैं। 
-उज्ज्वला योजना में 3 करोड़ 30 को गैस कनेक्शन, मार्च 2019 तक हर घर में होगी बिजली 
 मंत्री ने कहा कि उज्ज्वला योजना के अंतर्गत अबतक 3 करोड़ 30 लाख महिलाओं को गैस कनेक्शन दे दिया गया। सरकार का लक्ष्य 8 करोड़ महिलाओं को गैस कनेक्शन देने का है। हर घर को बिजली पंहुचाया गया है 2019 तक शेष बचे घरों को बिजली मिलेगी। वहीं 2022 तक प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सभी के सर पर छत सरकार उपलब्ध कराएगी। नौकरियों में साक्षत्कार की व्यवस्था को खत्म किया गया है। इस व्यवस्था में प्रतियोगी छात्रों के साथ मोल भाव हुआ करता था। हेराफेरी की काफी गुंजाइश भी रहती थी।
-कृषि विज्ञान केन्द्र पीपराकोठी से किसनाें को हो रहा फायदा,समेकित खेती से किसान कर सकते हैं विकास
 कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि 70 सालों में यदि कांग्रेस किसानों के विषय में सोंचती तो देश की हालत ऐसी नहीं होती किसान समृद्ध होते। किसान समूह बना समेकित खेती कर अधिक से अधिक लाभ उठा सकते हैं। बांस की उत्तम किस्म विकसित हुई है जिसे लगाकर आमदनी बढ़ाई जा सकती है। पिपराकोठी कृषि विज्ञान केंद्र से 5 हजार किसान जुड़े हैं। सभी कृषि के नई तकनीक से लाभान्वित हो रहे हैं। देशी नस्ल के गायों का नस्ल सुधार का कार्य हो रहा है जिससे किसान अधिक दुग्ध का उत्पादन कर समृद्ध बनेंगे।
 
-एक वर्ष में हो जाएगा तैयार
 मदर डेरी के प्रबंध निदेशक संजीव खन्ना ने कंपनी के बारे किसानों को संबोधित किया।
बताया कि यह संयंत्र साढ़े चार एकड़ में फैला होगा। जो प्रतिदिन एक लाख लीटर प्रसंस्करण की क्षमता वाला होगा। इस संयंत्र को बनकर तैयार होने में अनुमानित समय एक वर्ष होग। 
 


 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS