ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी पुलिस ने कार पर लदी नेपाली बीयर के साथ चार को पकड़ा, बदमाशों में एक पर स्वर्णकार को गोलीमार घायल कर आभूषण लूटने का आरोपसमस्तीपुर : अब नए समय से चलेगी वैशाली एक्सप्रेस व स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेनबेतिया एमजेके सदर अस्पताल को जीएमसीएच भवन में किया जायेगा शिफ्टरामगढ़वा में कार सहित 11 लाख 53 हजार रुपये व एक पिस्टल के साथ एक व्यक्ति गिरफ्तारपश्चिम चंपारण: पुलिस ने किया ट्रेक्टर लुटेरा गिरोह का पर्दाफाश,5 गिरफ्तारसमस्तीपुर: पटोरी में गला रेतकर युवक की हत्या, युवक को दोनों हाथ बांध गला रेतने की आशंकागुरु नानक जयंती और गुरुपर्व आज, भारत सहित विश्व भर में धार्मिक श्रद्धा और उल्लास से मनाया जा पांच सौ 51वां प्रकाशोत्सवमोतिहारी में ट्रेंक्यूलर गन से बेहोश कर पकड़ाया हिंसक तेंदुआ, कइयों को घायल करनेवाले इस लेपर्ड के लिए मन में घृणा नहीं, सिर्फ ममता दिखी
बिहार
पश्चिम चंपारण: राहुल गाँधी ने चम्पारण व बिहार की जनता से नोटबन्दी व लॉक डाउन का मंजर याद दिलाया
By Deshwani | Publish Date: 28/10/2020 9:56:09 PM
पश्चिम चंपारण: राहुल गाँधी ने चम्पारण व बिहार की जनता से नोटबन्दी व लॉक डाउन का मंजर याद दिलाया

बेतिया। पश्चिम चंपारण जिला अंतर्गत वाल्मीकिनगर लोकसभा क्षेत्र के दौनाहा राजकीय मध्य विद्यालय के प्रांगण में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने कहां कि "शहर का सहारा गांव, गांव का सहारा किसान और किसानों का सहारा खेत होता है। ऐसे में भारत की वर्तमान सरकार ने तीन कानून बनाया है जो किसानों के हित में नहीं है, इस कानून से किसानों को उनके उत्पाद का उचित मूल्य नहीं मिल सकता। जिसके विरोध में रावण का पुतला जलाने की जगह मोदी, अम्बानी और अडानी का पुतला किसानों ने जलाया। विश्व शक्ति इंग्लैंड से महात्मा गांधी ने लोहा लेने के लिए चंपारण को चुना, क्योंकि बिहार में चंपारण की धरती परिवर्तनकारी शक्ति है, सर्वप्रथम इस धरती को नमन किया। राहुल  गाँधी ने कहा कि देश की जनता विशेषकर चंपारण की जनता लॉकडाउन और नोटबंदी याद करें। 





इससे गरीब और मध्यम वर्ग के लोग सर्वाधिक पीड़ित हुए, क्या आपने कभी अंबानी को नोट बदलते देखा, ऐसे में सर्वाधिक परेशानी छोटे दुकानदार, व्यवसाई, मजदूर और किसानों को हुई। उनकी बर्बादी की बुनियाद पर आज देश के चंद उद्योगपतियों के अरबों रुपये की कर्ज़ माफ़ कर दी गयी। किसान और छोटे व्यवसाइयों की कर्ज़माफी पर लंबी बहस होती है। किसान और युवा परेशान हैं उद्योगपतियों के हित में केंद्र सरकार ने नीतियां बनाई और उनके कर्ज माफ किए। बिहार में चीनी मिलें नीतीश और मोदी की सरकार ने 15 वर्षों में नहीं चलाया। अजीब विडंबना है, अफसोस है कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उद्योगपति मुकेश अंबानी और अडानी का पुतला विजयादशमी को जलाया गया, ऐसा नहीं होना चाहिए। मजदूरों का पलायन बिहार की सरकार नहीं रोक सकी जबकि इस मुद्दे को लेकर सत्ता में काबिज हुई। आज पूरे बिहार में परिवर्तन की लहर है। महागठबंधन के प्रत्याशी को वोट करने की अपील राहुल गाँधी ने किया। छोटे से मैदान में काफी भीड़ देखी गयी, अलबत्ता आमसभा के उपरांत प्रत्याशी विशेष द्वारा भाड़ा पर भीड़ जुटाने वालो को लाभान्वित किया गया। जिसकी चर्चा सरेआम होती रही।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS