ब्रेकिंग न्यूज़
नेपाल: बीरगंज के नारायणी अस्पताल में हुए पिसिआर परिक्षण में 141 लोग कोरोना संक्रमित पाये गयेमुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वाल्मीकिनगर से बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का दौरा कियाडंकन अस्पताल रक्सौल में कोविड-19 का जाँच और उपचार शुरुकोरोना वायरस: जिला पदाधिकारी ने संक्रमित मरीजों के निवास स्थानों को कंटेन्मेंट जोन बनाने दिया निर्देशरक्सौल: प्रखंड प्रमुख संजीव कुमार सिन्हा ऊर्फ मुन्ना सिन्हा के असामायिक निधन पर श्रधांजलि सभा का किया गया आयोजनप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए किया भूमि पूजन, पूरे देश में जश्न का माहौलपश्चिम चंपारण: सरकार के प्रतिबंध के बावजूद बालू का अवैध उत्खनन जारीराधा मोहन सिंह ने कहा- राम मंदिर की नींव पर रखी जाने वाली प्रत्येक ईंट राष्ट्र गौरव को शिखर की ओर ले जाएगी
झारखंड
पीएम फसल बीमा योजना में सरायकेला पीछे
By Deshwani | Publish Date: 7/7/2017 4:30:44 PM
पीएम फसल बीमा योजना में सरायकेला पीछे

सरायकेला, (हि.स.)। डीसी छवि रंजन ने कहा है कि फसल बीमा कराने में सरायकेला-खरसावां जिला काफी पीछे चल रहा है। आगामी 15 जुलाई तक विभाग हर हाल में निर्धारित लक्ष्य को पूरा करें। जिला आत्मा भवन में शुक्रवार को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को लेकर आयोजित बैठक में डीसी निर्धारित लक्ष्य से काफी कम बीमा होने पर अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए कृषि विभाग के अधिकारियों को यह निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत जिले के एक लाख पांच हजार किसानों का बीमा कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है जबकि अब तक मात्र छह हजार किसानों का बीमा ही कराया जा सका है।

उन्होंने बीमा योजना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि किसानों को खरीफ फसल बीमा के लिए प्रति एकड़ 526 रुपये का प्रीमियम जमा करना होगा। फसल बर्बाद होने पर किसानों को प्रति एकड़ 26,999.88 रुपये बतौर मुआवजा प्रदान किया जायेगा। मौके पर डीसी ने आगामी 15 जुलाई तक लक्ष्य के अनुरुप बीमा नहीं कराने वाले संबंधित कर्मियों पर कार्रवाई किए जाने की बात कही। बैठक में जिला कृषि पदाधिकारी रामचन्द्र समेत सभी प्रखंड कृषि पदाधिकारी, राजस्व कर्मचारी, पंचायत सेवक, एटीएम, बीटीएम, जनसेवक, कृषि मित्र और मत्स्य मित्र व पंचायत स्वंय सेवक उपस्थित थे।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS