ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी में बलआ के राज मार्केट स्थित दवा दुकानदार की अपराधियों ने रात्रि में गोली मार हत्या कीरक्सौल के ई. कुंदन श्रीवास्तव ने आर्थिक मदद कर सत्याग्रह ट्रेन से आये यात्रियों को दिया भोजन का पैकेटझारखंड में बिहार सहित अन्य राज्यों से आनेवाली बस की एंट्री नहीं, निजी वाहनों को भी लेना होगा ई-पासमोतिहारी के कोटवा में ट्रक व कार में भीषण टक्कर, एक की मौत चार अन्य घायल, दो की स्थित गंभीरबिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जान
बिहार
समस्तीपुर में इलाज के आभाव में कोरोना सन्दिग्ध मरीज की मौत
By Deshwani | Publish Date: 22/4/2020 10:31:53 PM
समस्तीपुर में इलाज के आभाव में कोरोना सन्दिग्ध मरीज की मौत

समस्तीपुर उमेश काश्यप। समस्तीपुर में एक बार फिर स्वास्थ्य प्रशासन की लापरवाही के कारण कोरोना सन्दिग्ध मरीज की मौत हो गयी। 50 वर्षीय मृतक मरीज समस्तीपुर रोसड़ा थाना के भोरहा गांव के रहने वाले थे। घटना मंगलवार शाम की है। परिजनों ने इलाज में देरी व लापरवाही बरते जाने का आरोप लगाया है। परिजनों के अनुसार अगर समय रहते इलाज होता है तो मरीज को बचाया जा सकता था। मिली जानकारी के अनुसार मरीज की तबियत खराब होने के कारण रोसड़ा अनुमंडलीय अस्पताल ले जाया गया। 

 
 
जहाँ मरीज को कोरोना कोविड 19 की जांच के लिये सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया। परिजनों ने बताया कि मंगलवार दोपहर साढ़े तीन बजे सदर अस्पताल पहुंचे। फिर पुर्जा कटाया। ओपीडी से इमरजेंसी तक दौड़ता रहा, लेकिन कोई डॉक्टर नही थे। जिसके कारण इलाज नही हुआ। बाद में एएनएम क्वारनटाइन सेंटर भेज दिया गया। जहां साढ़े छह बजे तबियत बिगड़ गयी तो ऑक्सीजन लगाया गया।  फिर कोरोना की जांच के लिये सैम्पल लिये गए। इसके कुछ ही देर बाद मरीज की मौत हो गयी। हद तो तब हो गयी जब सदर अस्पताल के डीएस ने परिजनों को शव सौंप दिया। फिर परिजनों ने बुधवार को बिना कोई सुरक्षा अपनाये लाश का अंतिम संस्कार कर दिया।
 
 
इस संबंध में सीएस डॉ सिया राम मिश्र ने बताया की मरीज के इलाज नही होने मामले में डीएस सहित ओपीडी, इमरजेंसी व एएनएम स्कूल में तैनात चार डॉक्टरों सहित सभी स्वास्थ्य कर्मियों से जवाब तलब किया गया है। मृतक मरीज के सैम्पल को जांच के लिये भेज दिया गया है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS