ब्रेकिंग न्यूज़
केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने शिलांग में पूर्वोत्तर परिषद (एनईसी) की 69 वीं बैठक की अध्यक्षता कीझारखंड: जामताड़ा में अवैध खनन की शिकायत पर पहुंची छापामार टीम पर कोयला माफियाओं ने किया हमला, कई सुरक्षाकर्मी घायलदुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क की नजर अब टेलीकॉम इंडस्ट्री पररक्सौल में सशस्त्र सीमा बल ने नागरिक कल्याण कार्यकम का किया आयोजनसड़क सुरक्षा सप्ताह कार्यक्रम के तहत रक्सौल में निकली जागरूकता रैलीआज नई दिल्ली में सरकार और किसान संगठनों के बीच हुई ग्‍यारहवें दौर की बैठकदेश में एविएन फ्लू की स्थितिकेन्‍द्रीय शिक्षा मंत्री ने केन्‍द्रीय विद्यालय बेतिया और केन्‍द्रीय विद्यालय नम्‍बर 4 कोरबा के नवनिर्मित भवनों का उद्घाटन किया
बिहार
2019 के चुनाव में एनडीए के साथ ही रहेंगे : मांझी
By Deshwani | Publish Date: 4/2/2018 3:29:39 PM
2019 के चुनाव में एनडीए के साथ ही रहेंगे : मांझी

समस्तीपुर। बिहार में समस्तीपुर के ताजपुर हाई स्कूल के परिसर में आज आयोजित संत रविदास जयंती समारोह का आयोजन किया गया। इस समारोह का विधिवत उद्घाटन बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने दीप प्रज्वलित कर किया। इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने संत रविदास के बताये मार्गों को जीवन में आत्मसात करने की बात कही।आयोजित सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा की देश में आरक्षण की समीक्षा की आवश्यकता है। साथ ही उन्होंने साफ किया की 2019 के चुनाव में एनडीए के साथ ही रहेंगे।

 
पूर्व सीएम मांझी ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन राव भागवत के उस बयान का समर्थन किया जिसमें उन्होंने देश में आरक्षण की समीक्षा की बात कही थी। जिसके बाद देशभर में आरक्षण को लेकर बहस छिड़ गया था। जीतन राम मांझी ने कहा की आरक्षण के मुद्दा को जानबूझ कर बनाया गया है, अगर कॉमन स्कूलीग सिस्टम की व्यवस्था कर दिया जाय तो इसकी कोई आवश्यकता नहीं रहेगी।
 
वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार के द्वारा प्रस्तुत आम बजट की प्रशंसा करते हुए कहा की प्रधानमंत्री मुद्रा योजना में तीन लाख कड़ोर खर्च की योजना है जिसमें एक लाख करोड़ सिड्यूल कास्ट पर खर्च किया जायेगा ये काबीले तारीफ है। उन्होंने बजट के सभी निर्णय की सराहना की। साथ ही उन्होंने एनडीए से अलग होने की अटकलों पर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा की जहां भी रहते है धर्य के साथ रहते है, उन्होंने NDA में दरार की बात को खारिज किया। 
 
अल्पसंख्यक के साथ अन्याय और विधानसभा में 50 सीट मांगे जाने के विषय पर पूछे सवाल पर जवाब देते हुए कहा की उनके मुख्यमंत्रित्व काल में 34 निर्णय लिये गये थे जो सभी के हित में था, उन्होंने कहा की मुसलमानों के हित में जो निर्णय लिया गया था उसका अनुपालन वर्त्तमान में सही ढंग से नहीं हो रहा है और उसको अमल में आने के लिए बार बार दबाव देते रहेंगे।
 
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS