ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी में बलआ के राज मार्केट स्थित दवा दुकानदार की अपराधियों ने रात्रि में गोली मार हत्या कीरक्सौल के ई. कुंदन श्रीवास्तव ने आर्थिक मदद कर सत्याग्रह ट्रेन से आये यात्रियों को दिया भोजन का पैकेटझारखंड में बिहार सहित अन्य राज्यों से आनेवाली बस की एंट्री नहीं, निजी वाहनों को भी लेना होगा ई-पासमोतिहारी के कोटवा में ट्रक व कार में भीषण टक्कर, एक की मौत चार अन्य घायल, दो की स्थित गंभीरबिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जान
बिहार
समस्तीपुर में रसोई गैस रिसाव से लगी आग, एक ही परिवार आधा दर्जन झुलसे
By Deshwani | Publish Date: 24/9/2017 7:40:06 PM
समस्तीपुर में रसोई गैस रिसाव से लगी आग, एक ही परिवार आधा दर्जन झुलसे

समस्तीपुर। देशवाणी न्यूज नेटवर्क


समस्तीपुर शहर के स्टेशन रोड स्थित एक घर में रविवार की सुबह रसोई गैस के रिसाव से आग लग गयी। आग की चपेट में आने से परिवार के चार बच्चों सहित कुल छह लोग गंभीर रूप से झुलस गए। घटना के बाद अफरातफरी मच गयी। झुलसे हुए सभी लोगों को इलाज के लिए सदर अस्पताल पहुंचाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत होने के कारण चार बच्चों को पीएमसीएच रेफर कर दिया गया। घायलों में स्टेशन रोड निवासी मिंटू कुमार कनौजिया की सात वर्षीय पुत्री नैना, तीन वर्षीय पुत्री जहान्वी, सीताराम कनौजिया का पांच वर्षीय पुत्र आयुष, रवि कुमार कनौजिया की सात वर्षीय पुत्री पल्लवी के अलावा दूधपुरा निवासी सोनू बैठा व जितवारपुर निवासी नवीन कुमार शामिल हैं। जानकारी के अनुसार घटना उस समय हुई जब कनौजिया परिवार में भोग लगाने के लिए रसोई घर में गैस चूल्हा पर प्रसाद तैयार किया जा रहा था। वहीं चारों बच्चे भी खेल रहे थे। उसी दौरान गैस लीक होने लगी, जिससे कुछ ही देर में आग फैल गयी और खेल रहे चारों बच्चे उसकी चपेट में आकर चिल्लाने लगे। बच्चों की आवाज सुनकर घर व आसपास में अफरातफरी मच गयी। इसी दौरान पड़ोस का सोनू बैठा व नवीन कुमार बच्चों को बचाने पहुंचे, लेकिन वे भी झुलस गए। सिलेंडर का नॉब बंद करने के बाद आग पर काबू पाया गया। उसके बाद सभी को सदर अस्पताल पहुंचाया गया। ऑन ड्यूटी चिकित्सक डॉ. एवी सहाय ने बताया कि बच्चों की स्थिति काफी गंभीर थी, जिसके कारण पीएमसीएच रेफर कर दिया गया है।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS