ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी में बलआ के राज मार्केट स्थित दवा दुकानदार की अपराधियों ने रात्रि में गोली मार हत्या कीरक्सौल के ई. कुंदन श्रीवास्तव ने आर्थिक मदद कर सत्याग्रह ट्रेन से आये यात्रियों को दिया भोजन का पैकेटझारखंड में बिहार सहित अन्य राज्यों से आनेवाली बस की एंट्री नहीं, निजी वाहनों को भी लेना होगा ई-पासमोतिहारी के कोटवा में ट्रक व कार में भीषण टक्कर, एक की मौत चार अन्य घायल, दो की स्थित गंभीरबिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जान
बिहार
नहीं सुलझ पायी पूसा प्रखंड में हुई एक ही परिवार के चार लोगों की मौत की गुत्थी
By Deshwani | Publish Date: 15/7/2017 7:24:53 PM
नहीं सुलझ पायी पूसा प्रखंड में हुई एक ही परिवार के चार लोगों की मौत की गुत्थी

समस्तीपुर, (हि.स.)। जिले के पूसा प्रखंड के मैदान में एक ही परिवार के चार लोगों की रहस्यमय मौत की गुत्थी घटना के दो दिन बाद भी नहीं सुलझ पायी है। हालांकि पुलिस सूत्रों ने बताया है कि आईजी उमाशंकर प्रसाद सुधांशु के समस्तीपुर आगमन को लेकर सभी लोग मुख्यालय में थे। 

फिलहाल, पूसा थाना के अध्यक्ष मामले की जांच कर रहे हैं। वहीं, घटना की सच्चाई जानने पुलिस ने एफएसएल की टीम को अब तक नहीं बुलाया है अौर पुलिस मामले को महज हादसा मान कर जांच में जुटी है। 
फिलहाल, पूसा थाना अध्यक्ष ने उस कमरे को सील कर दिया है जिसमें दो अबोध बच्चियों और उसके माता पिता की मौत हुई है। उधर, देर शाम तक मृतक के दो भाई भी दिल्ली से यहां नहीं पहुंच पाए हैं।
गौरतलब है कि बुधवार की रात महमदा गांव में मुकेश, उसकी पत्नी रूपा और उसके दो बच्चे के जलने से मौत हो गई थी, लेकिन उनके द्वारा चीखने- चिल्लाने और किसी तरह का शोर नहीं मचाने से पूरी घटना रहस्य के घेरे में आ गई है।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS