ब्रेकिंग न्यूज़
कार और ट्रक की भीषण टक्कर में मुजफ्फरपुर के चार लोगों की मौत, एक अन्य घायलअमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने की प्रधानमंत्री मोदी और विदेश मंत्री से की मुलाकातखुला विश्व प्रसिद्ध शक्तिपीठ कामाख्या मंदिर का कपाट, श्रद्धालुओं ने किए मां के दर्शनअगस्ता वेस्टलैंड केस: राजीव सक्सेना को सुप्रीम कोर्ट से झटका, विदेश जाने पर लगा रोकऔषधीय गुणों से युक्त कालमेघ का करें खेती, आय के साथ रोगों के लिए नहीं जाना पड़ेगा अस्पतालबाॅलीवुड अभिनेत्री करिश्मा कपूर ने शेयर की ऐसी फोटो, इंटरनेट पर मचा धमालहाईटेंशन की चपेट में आयी बस, चार यात्रियों की मौत, 27 झुलसे, परिजनों ने की सरकार से मुआवजा की मांगगृहमंत्री शाह आज से दो दिवसीय कश्मीर दौरे पर, अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा व्यवस्था का लेंगे जायजा
रांची
मनी लांड्रिंग में कोर्ट में हाजिर हुए झारखंड के पूर्व सीएम मधु कोड़ा
By Deshwani | Publish Date: 22/2/2018 3:26:16 PM
मनी लांड्रिंग में कोर्ट में हाजिर हुए झारखंड के पूर्व सीएम मधु कोड़ा

रांची। मनी लांड्रिंग मामले में पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा सहित अन्य आरोपी इडी के विशेष कोर्ट में आज हाजिर हुए। कोर्ट में हाजिर होने वालों में मधु कोड़ा व उनके करीबी अनिल आदिनाथ बस्तावडे, विनोद सिन्हा, मनोज बाबूलाल पुनामिया, विजय जोशी ,विकास सिन्हा और अरविंद व्यास शामिल हैं।

 
इसके अला मनी लांड्रिंग मामले में ही पूर्व मंत्री एनोस एक्का जेल से आकर पेश हुए हैं। कोड़ा व एनोस दोनों से जुड़े मामले में गवाही दर्ज होनी है। एनोस एक्का मामले में इडी की ओर से गवाही देने के लिए हेमंत कुमार पहुंचे हैं। वहीं, कोड़ा मामले में इडी के तत्कालीन डायरेक्टर प्रभाकांत की गवाही होने की तिथि निर्धारित है। ईडी की चार्जशीट के अनुसार, मधु कोड़ा पर 1340 करोड़ रुपये की मनी लांड्रिंग का आरोप है। इसके अलावा विकास सिन्हा पर 45 करोड़, विनोद सिन्हा पर 915 करोड़, मनोज बाबूलाल पुनामिया पर 58.69 करोड़ रुपये, विजय जोशी पर 152 करोड़ रुपये, अरविंद व्यास पर 1020 करोड़ रुपये और अनिल आदिनाथ वस्तावड़े के खिलाफ चार करोड़ 93 लाख 16 हजार 240 रुपये मनी लांड्रिंग का आरोप है।
 
गौरतलब है कि भाजपा से अलग होकर निर्दलीय विधायक के रूप में मधु कोड़ा ने चुनाव लड़ा था। निर्दलीय विधायक चुने जाने के बाद वह कांग्रेस की मदद से झारखंड के पहले निर्दलीय मुख्यमंत्री बने थे। उन पर आरोप है कि मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने अकूत संपत्ति कमाई। उनके शासनकाल में झारखंड में कोयला खदानों के आवंटन में गड़बड़ियों के आरोप लगे। नॉर्थ कर्णपुरा कोल ब्लॉक आवंटन घोटाला मामले में कोड़ा को दोषी करार दिया जा चुका है और उन्हें सजा भी हो चुकी है। 
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS