ब्रेकिंग न्यूज़
नामकुम के पास भयंकर सड़क हादसा, बोलेरो-ट्रक की टक्‍कर में 7 लोगों की मौततीन चरणों में नहीं खुलेगा भाजपा का खाता: अखिलेश यादवआप-कांग्रेस में गंठबंधन को लेकर नहीं बनी बात, सिसोदिया ने कही ये बातफिल्म यारियां की एक्ट्रेस एवलिन शर्मा को याद आए पुराने दिन, शेयर की ये तस्वीरेंराष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने म्यूलर जांच रिपोर्ट को पूर्णतया असत्य और निराधार बतायासुपौल में राहुल ने पीएम पर जमकर साधा निशाना, कहा- चौकीदार को ड्यूटी से हटाने वाली है जनताफारबिसगंज में बोले प्रधानमंत्री मोदी, जनता की तपस्या को विकास कर लौटाऊंगाबेकार गई राणा और रसेल की पारी, बेंगलुरु ने 10 रन से जीता रोमांचक मुकाबला
रांची
अवैध निकासी मामले में सीबीआइ कोर्ट में पेश हुए लालू प्रसाद
By Deshwani | Publish Date: 22/2/2018 1:27:41 PM
अवैध निकासी मामले में सीबीआइ कोर्ट में पेश हुए लालू प्रसाद

रांची। चारा घोटाले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव आज सीबीआइ के विशेष कोर्ट में पेश हुए। लालू डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित मामले में सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश प्रदीप कुमार की अदालत में पेश हुए हैं। इस मामले में सीबीआइ की ओर से गवाही दर्ज होनी है।

 
लालू से मिलने के लिए भोजपुर एमएलसी रण विजय सिंह, झारखंड के प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी, प्रदेश प्रवक्ता डा. मनोज कुमार सहित अन्य राजद कार्यकर्ता कोर्ट परिसर में मौजूद हैं। 
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद बुधवार को चारा घोटाला के दो मामलों में सीबीआइ की विशेष अदालत में पेश हुए। उन्हें बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा से लाकर पेश किया गया था। दोनों मामलों में वह गुरुवार को भी पेश किए जाएंगे। कोर्ट में पेशी के बाद पत्रकारों से बात करते हुए लालू ने कहा आज झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन मिलने आए थे। हम लोग चाहते हैं कि पूरे देश व झारखंड में धर्म निरपेक्ष वोटों का बिखराव रोका जाए और साथ रहकर लड़ाई लड़ी जाए।
 
लालू प्रसाद ने पीएनबी घोटाला सामने आने के बाद केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के कड़े तेवर व घपलेबाजों को चेतावनी देने संबंधित बयान पर कहा कि बैंकों में करोड़ों का घोटाला हुआ, जो लोग पकड़ में आये हैं उसपर यशवंत सिन्हा ने भी सवाल उठाया है। वह जवाब दे रहे हैं कि इंटरनल एकाउंटेंट जनरल क्या कर रहा था? हमलोग जिस कांड (चारा घोटाला) में आते हैं, इसके लिए सीधे एजी जिम्मेदार हैं। हर तरह के गवाह आए। एजी समय पर चेक कर लिया होता तो घपला ही नहीं होता।
 
उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधा। बिना किसी का नाम लिए कहा कि जब इनलोगों पर पड़ रहा है तो एजी का नाम लिया जा रहा है। एजी पहले ही चेक कर लेता, ऑडिट कर लेता तो घोटाला नहीं होता। मोदी के कार्यकाल में हजारों-लाखों का घपला हुआ। यशवंत सिन्हा ने ठीक कहा कि प्रधानमंत्री की जो साख थी उसपर सवाल उठा। यह बनावटी साख थी जो खत्म हुआ। एनडीए सरकार में बड़ा बवंडर हुआ है। बिहार के भागलपुर का सृजन घोटाला में अभी तक कोई पकड़ में नहीं आया। इसलिए देश में इससे काफी गंभीर सवाल उठ रहा है। लालू प्रसाद ने कहा कि वे अपील कर रहे हैं कि उनके मामले में एकाउंटेंट जनरल सीधे जिम्मेदार हैं। उनपर क्यों कार्रवाई नहीं हुई? जो अधिकारी थे उन्हें मालूम था कि जितना बजट है, उससे ज्यादा पैसा कैसे निकाल रहे हैं। वे कहीं नहीं आते और हमलोग भोग रहे हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS