ब्रेकिंग न्यूज़
'दंगल' फेम सुहानी भटनागर की प्रेयर मीट में पहुंचीं बबीता फोगाटबिहार:10 जोड़ी ट्रेनें 25 फरवरी तक रद्द,नरकटियागंज-मुजफ्फरपुर रेलखंड की ट्रेनें रहेंगी प्रभावितप्रधानमंत्री ने मिजोरम के निवासियों को राज्‍य के स्‍थापना दिवस पर शुभकामनाएं दीउपराष्ट्रपति ने कहा- भारत सुषुप्‍त अवस्‍था से जागृत अवस्‍था में प्रवेश कर चुका हैमोतीहारी: गांधी कुष्ठ कॉलोनी में मरीजों के बीच खाद्य सामग्री व सफाई सामग्री के साथ-साथ कंबल का भी वितरण किया गयामहागठबंधन छोड़ नीतीश शामिल हुए एनडीए में, बिहार में बनी एनडीए की सरकारमोतीहारी: राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर महात्मा गांधी ऑडिटोरियम में नव मतदाता सम्मेलन का आयोजनउपराष्ट्रपति ने श्री हरिशंकर भाभड़ा के निधन पर शोक व्यक्त किया
झारखंड
42 शहरों में टाउनशिप विकसित करेगी राज्य सरकार
By Deshwani | Publish Date: 18/10/2017 2:50:28 PM
42 शहरों में टाउनशिप विकसित करेगी राज्य सरकार

रांची, (हि.स.)। एक तरफ झारखंड की राजधानी रांची में जहां 700 एकड़ में सात हजार करोड़ रुपये मूल्य से पहली ग्रीन फील्ड स्मार्ट सिटी का निर्माण होगा, वहीं राज्य के 42 छोटे-बड़े शहरों में भी टाउनशिप विकसित करने की योजना झारखंड सरकार के भवन निर्माण विभाग की है । 

रांची के स्मार्ट सिटी के लिए एचईसी ने 656 एकड़ जमीन दी है, जिसके बदले एचईसी को 743 करोड़ रुपये भुगतान किया गया । इस पैसे से कंपनी की माली हालत दुरूस्त होगी । बकायेदारों के साथ-साथ मजदूरों और कर्मचारियों का भी बकाया भुगतान हो पायेगा । एचईसी परिसर में बनने वाली यह स्मार्ट सिटी पीएम मोदी की मेक इन इंडिया का सपना पूरा करेगा तो राज्य के अन्य शहरों में डेवलप होने वाली टाउनशिप भी पीपीपी मॉडल पर बनाये जायेंगे, जो पीएम मोदी की ही महत्वाकांक्षी योजना है। इसी याेजना के तहत देश में सभी को 2022 तक घर देने की योजना है । 

राज्य के जिन 42 शहरों की सूरत बदलने वाली है, उनमें राज्य में पीपीपी मॉडल की तर्ज पर इन चुनिंदा शहरों में टाउनशिप विकसित की जायेगी । नगर विकास विभाग इस काम के लिए जोरशोर से लगा हुआ है । इस काम के लिए पहले मास्टर प्लान बनेगा । उसके बाद एक-एक कर शहरों में टाउनशिप डेवलप करने का काम शुरू होगा । मास्टर प्लान बनाने के लिए पांच कंपनियों को अधिकृत कर दिया गया है । कुछ शहरों के लिए विभाग की तरफ से नोटिफिकेशन भी निकाल दिया गया है ।

जिन कंपनियों को मास्टर प्लान बनाने का काम मिला है उन्होंने मास्टर प्लान करीब-करीब तैयार कर विभाग को सौंपा दिया है । विभाग अब इन मास्टर प्लान पर काम कर रहा है । कुछ निगमों के लिए नोटिफिकेशन निकाला जा चुका है । भवन निर्माण विभाग के सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस वित्तीय वर्ष तक टाउनशिप डेवलपमेंट का काम शुरू हो जाएगा ।

मास्टर प्लान बनाने वाली कंपनियां: 

मार्स प्लानिंग एंड इंजीनियरिंग सर्विस प्राइवेट लिमिटेडः कोडरमा, मझगांव, गढ़वा, झुमरी तिलैया, गिरिडीह, साहिबगंज, दुमका, राजमहल, बासुकीनाथ, गोड्डा, पाकुर, हजारीबाग, विश्रामपुर, मधुपुर, मेदनीनगर, हुसैनाबाद और लातेहार ।

एनएफ इंफ्राटेक सर्विस प्राइवेट लिमिटेडः चाईबासा, बुंडू, खूंटी, गुमला, चाकुलिया, चक्रधरपुर, सिमडेगा, सरायकेला और लोहरदगा।

सृष्टि अर्बन इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट लिमिटेडः देवघर और चास, 

सुपीरियर ग्लोबल इंफ्रास्ट्रक्चर कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेडः जमशेदपुर, मांगो, जुगसलाई और आदित्यपुर । 

डीडीएफ कंसल्टेंट्स प्राइवेट लिमिटेडः चिरकुंडा, छतरपुर, धनबाद, कपाली, जामतारा, मिहीजाम, फुसरो और नगर उंटारी ।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS