ब्रेकिंग न्यूज़
अत्याधुनिक हथियार बरामदगी मामले में कोटवा निवासी कुख्यात कुणाल को आजीवन कारावास, 42 हजार रुपये का अर्थदंड भी मिलाइस बार का चुनाव मेरे लिए चुनाव है चुनौती नहीं: राधा मोहन सिंहMotihati: सांसद राधामोहन सिंह ने नामांकन दाखिल किया, कहा-मैं तो मोदी के मंदिर का पुजारीमोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे
रांची
264 प्रखंडों में होगी 20 सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति की बैठकें
By Deshwani | Publish Date: 18/8/2017 11:35:20 AM
264 प्रखंडों में होगी 20 सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति की बैठकें

रांची, (हि.स.)। राज्य 20 सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति के उपाध्यक्ष राकेश प्रसाद ने कहा कि पांच जुलाई को हुई समिति की बैठक में लिये गये निर्णय के अलोक में तय किया गया है कि राज्य के सभी 264 प्रखंडों में 21 अगस्त को बैठक होगी। जिलों की बैठक 24, 30 और 31 अगस्त को होगी। जिला की बैठक तीन तिथियों में कराने का उद्देश्य है कि प्रभारी मंत्री अपने प्रभार वाले जिलों में उपस्थित रह सकें।
गुरूवार को जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि राज्य के मंत्री अलग-अलग जिलों के प्रभार में हैं। इसलिए जिला स्तर की बैठक में मंत्रियों की उपस्थिति में बैठक की कार्यवाही, अनुश्रवण एवं योजनाओं की प्रगति तथा अनुपालन सुनिश्चित हो। राज्य 20 सूत्री की विगत बैठक में यह बात सामने आयी थी कि कुछ जिलों में जिला योजना समिति एवं 20 सूत्री की बैठक एक ही दिन रखे जाने से कठिनाई होती है। इसलिए अब अलग-अलग तिथि में बैठक होगी। उन्होंने कहा कि बैठक में अनुपस्थित रहने वाले सभी पदाधिकारियों पर उपायुक्त कार्रवाई करेंगे। उपायुक्त द्वारा जिला स्तरीय निर्धारित लक्ष्य को योजनाबद्ध ढ़ंग से सफल बनाने के लिए हर स्तर पर सामंजस्य हो। प्राप्त मासिक प्रतिवेदन का अवलोकन एवं कार्यान्वयन बेहतर ढ़ंग से हो, इसके लिए गरीबों के योजनाओं को धरातल पर उतारना जरूरी है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के सबका साथ, सबका विकास का नारा तभी सफल होगा सकता है, जब जिम्मेदार पद पर बैठक व्यक्ति अपनी जवाबदेही को गंभीरता से ले। जनभागीदारी के माध्यम से लोगों के मन में यह धारणा मजबूत करना है कि सरकार की योजनाएं आम लोगों के जरूरत को ध्यान में रखकर की जा रही है। सामाजिक स्तर पर बगैर किसी भेदभाव के अंत्योदय के लक्ष्य को प्राप्त करना ही सरकार का उद्देश्य है।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS