ब्रेकिंग न्यूज़
अत्याधुनिक हथियार बरामदगी मामले में कोटवा निवासी कुख्यात कुणाल को आजीवन कारावास, 42 हजार रुपये का अर्थदंड भी मिलाइस बार का चुनाव मेरे लिए चुनाव है चुनौती नहीं: राधा मोहन सिंहMotihati: सांसद राधामोहन सिंह ने नामांकन दाखिल किया, कहा-मैं तो मोदी के मंदिर का पुजारीमोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे
झारखंड
आतंकी हमले से बचाव के लिए सिक्युरिटी ऑडिट करेगा एटीएस
By Deshwani | Publish Date: 5/8/2017 6:35:58 PM
आतंकी हमले से बचाव के लिए सिक्युरिटी ऑडिट करेगा एटीएस

रांची, (हि.स.)। आतंकी हमले के बचाव के लिए जल्द ही एटीएस सिक्युरिटी ऑडिट करेगा। देश में बढ़ते आतंकी हमले के मद्देनजर झारखंड एटीएस ने तैयारी शुरू कर दी है। सुरक्षा एजेंसियों ने 15 अगस्त और पर्व-त्योहारों को लेकर सतर्कता बरतने का आदेश दिया है। इसी कड़ी के तहत झारखंड के राजभवन, मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और अन्य महत्वपूर्ण भवनों का ब्लूप्रिंट एटीएस ने मांगा है। इस संबंध में गृह विभाग को पत्र लिखा गया है।

गृह विभाग ने इस संबंध में राजभवन को एक पत्र लिखा है जिसमें कहा गया है कि आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) द्वारा रांची के महत्वपूर्ण सरकारी भवनों में आतंकी हमले के बचाव के लिए सिक्युरिटी ऑडिट करानी है। इसके लिए ब्लू प्रिंट चाहिए। भवनों का ब्लूप्रिंट भवन निर्माण विभाग दे सकता है। राजभवन के लिए राज्यपाल से अनुमति लेनी होगी। राज्यपाल की अनुमति के बाद ही राजभवन का ब्लूप्रिंट एटीएस को मिल सकता है।
 
वहीं मुख्य सचिव को भी एक पत्र भेजा गया है जिसमें कहा गया है कि रांची के महत्वपूर्ण भवनों का ब्लूप्रिंट एटीएस को चाहिए। इसके लिए राजभवन को छोड़कर अन्य भवनों के लिए सीएम से अनुमति ली जाए। कुछ भवन तो केंद्र सरकार के हैं। इस संबंध में केंद्र से भी पत्राचार किया जाए। इनमें रांची रेलवे स्टेशन, हटिया रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट, जेएससीए स्टेडियम शामिल हैं।
 
मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा, प्रोजेक्ट भवन, नेपाल हाउस, जिला समाहरणालय, पुलिस मुख्यालय, बिरसा मुंडा फुटबॉल स्टेडियम, रिम्स, सदर अस्पताल, हॉकी स्टेडियम और खेल गांव स्पोर्ट्स कॉप्लेक्स के लिए सीएम से अनुमति लेनी होगी। गौरतलब है कि झारखंड से कई आतंकी हमलों के तार जुड़े हैं। इसमें केरल में बम धमाका, पुरुलिया में हमला, दिल्ली में हमला, पटना में सीरियल बम ब्लास्ट के आरोपी झारखंड के रांची से पकड़े गये थे।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS