ब्रेकिंग न्यूज़
'दंगल' फेम सुहानी भटनागर की प्रेयर मीट में पहुंचीं बबीता फोगाटबिहार:10 जोड़ी ट्रेनें 25 फरवरी तक रद्द,नरकटियागंज-मुजफ्फरपुर रेलखंड की ट्रेनें रहेंगी प्रभावितप्रधानमंत्री ने मिजोरम के निवासियों को राज्‍य के स्‍थापना दिवस पर शुभकामनाएं दीउपराष्ट्रपति ने कहा- भारत सुषुप्‍त अवस्‍था से जागृत अवस्‍था में प्रवेश कर चुका हैमोतीहारी: गांधी कुष्ठ कॉलोनी में मरीजों के बीच खाद्य सामग्री व सफाई सामग्री के साथ-साथ कंबल का भी वितरण किया गयामहागठबंधन छोड़ नीतीश शामिल हुए एनडीए में, बिहार में बनी एनडीए की सरकारमोतीहारी: राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर महात्मा गांधी ऑडिटोरियम में नव मतदाता सम्मेलन का आयोजनउपराष्ट्रपति ने श्री हरिशंकर भाभड़ा के निधन पर शोक व्यक्त किया
झारखंड
किसानों के चयन में महिलाओं को प्राथमिकता दें : मुख्यमंत्री
By Deshwani | Publish Date: 2/8/2017 7:55:10 PM
किसानों के चयन में महिलाओं को प्राथमिकता दें : मुख्यमंत्री

रांची, (हि.स.)। 25 सितंबर पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की जयंती के दिन से झारखंड में मिशन अंत्योदय का शुभारंभ किया जायेगा। इसके तहत वृहत तरीके से मुख्यमंत्री कृषि कल्याण मेला का आयोजन किया जायेगा। यह बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बुधवार को विभिन्न विभागों के वरीय पदाधिकारियों के साथ मिशन अंत्योदय के संबंध में आयोजित बैठक में कही। उन्होंने निर्देश दिया कि किसानों के चयन में महिलाओं को प्राथमिकता दें। उन्हें लाह, तसर उत्पाद, पशुपालन, मुर्गीपालन, कंबल, परदे निर्माण आदि का प्रशिक्षण दिया जायेगा। मुखिया और किसानों को मोटिवेशनल प्रशिक्षण दें, ताकि मुखिया और किसान अपने गांव-पंचायत के विकास के लिए और ज्यादा मेहनत से काम करें। अपर मुख्य सचिव अमित खरे ने जानकारी दी कि अगस्त से 17 जिलों के 68 प्रंखड के तहत आनेवाली 1256 पंचायतों के मुखिया और 12 हजार किसानों को प्रशिक्षित किया जायेगा। 15 अगस्त से 15 सितंबर तक मुखिया का प्रशिक्षण पूरा कर लिया जायेगा। इन्हें प्रशिक्षण की व्यवस्था और पाठ्यक्रम का निर्माण पंचायती राज विभाग द्वारा किया जायेगा। मुखिया का प्रशिक्षण तीन दिनों का होगा। इसी के समानांतर किसानों का प्रशिक्षण चलता रहेगा, जो अक्तूबर तक चलेगा। किसानों का प्रशिक्षण कृषि विभाग, बिरसा कृषि विश्वविद्यालय, विकास भारती और रामकृष्ण मिशन के सहयोग से चलाया जायेगा। किसानों को दो-दो दिन का प्रशिक्षण दिया जायेगा। इसका पाठ्यक्रम कृषि विभाग द्वारा तैयार किया जायेगा। बैठक में ऊर्जा सचिव नीतिन मदन कुलकर्णी, पंचायती राज सचिव विनय चौबे, कृषि सचिव पूजा सिंघल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS