ब्रेकिंग न्यूज़
भारत-नेपाल मैत्री पुल पर जांच के क्रम में एक बांग्लादेशी नागरिक गिरफ्तार54वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) में हिंदी सीरीज़ पंचायत सीज़न 2 ने सर्वश्रेष्ठ ओटीटी पुरस्कार 2023 जीताशिक्षा विभाग ने 2024 के लिए छुट्टी का कैलेंडर जारी किया, जिसमें तीज, जिउतिया, महाशिवरात्रि का अवकाश समाप्तसोनपुर मेला में जिला प्रशासन के मुख्य मंच से नृत्यांगना राधा सिन्हा ने बिखेरी जलवापशुपालन और डेयरी विभाग ने कल गुवाहाटी में "राष्ट्रीय दुग्ध दिवस 2023" मनायासोनपुर मेला 25 से शुभारंभ, 26 दिसंबर तक चलेगा सारण का विश्वप्रसिद्ध मेलाप्रधानमंत्री ने न्यायमूर्ति एम. फातिमा बीवी के निधन पर शोक व्यक्त कियाजनजातीय गौरव दिवस के उत्सव ने जनजातीय लोगों के सर्वांगीण विकास की पहल को नई गति प्रदान की है: श्री अर्जुन मुंडा
झारखंड
गोरक्षकों को अविलंब रिहा करे सरकार : शाही
By Deshwani | Publish Date: 24/7/2017 6:04:09 PM
गोरक्षकों को अविलंब रिहा करे सरकार : शाही

रांची,  (हि.स.)। विश्व हिन्दू परिषद ने झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास से जेल में बंद गोरक्षकों की अविलंब रिहाई की मांग की है। विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के केंद्रीय उपाध्यक्ष जगरनाथ शाही ने सोमवार को प्रेस वार्ता में कहा कि झारखंड में गोहत्यारों और उनके संरक्षकों द्वारा आरोपित होकर उनके संगठन और बजरंग दल सैकड़ों कार्यकर्ता जेल में है। उन्होंने कहा कि झारखंड में जो गोहत्या के विरुद्ध कानून है, उसे भारतीय जनता पार्टी की राज्य सरकार ने बनाया था। इसके लिए भाजपा साधुवाद की पात्र है। लेकिन वर्तमान सरकार की कार्यपालिका उसे पूरा करने में विफल रही है।
उन्होंने रघुवर सरकार से राज्य प्रशासन की हिन्दू विरोधी और दमनकारी कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग करते हुए कहा है कि निचले तबके का जो प्रशासन है, वह जानता है कि गौहत्या कहां होती है। यह बड़े पैमाने पर पूरे प्रांत में होती है। लेकिन गौहत्यारों को गौहत्या करते नहीं पकड़ा जाता। प्रशासन से सांठ-गांठ कर गौहत्या की जाती है। उन्होंने कहा कि जब गौहत्यारे गौमांस के साथ पकड़ जाते है, तो सूचना देने पर भी प्रशासन नहीं पहुंचता है। उन्होंने बंगलादेशी घुसपैठियों को बाहर करने के लिए भी सरकार से त्वरित कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि पाकुड़, साहेबगंज, राजमहल, गोड्डा सहित झारखंड के बड़े नगरों से लेकर गांव तक बंगलादेशी घुसपैठिये छा गये है। ये झारखंड सहित पूरे देश के लिए चिंता का विषय है।
उन्होंने कहा कि गौरक्षकों के विरुद्ध क्रूर राज्य प्रशासन घुसपैठियों के प्रति इतनी उदार है कि उन गांवों में बिजली, पानी, सड़क मस्जिद और मदरसों का बंदोबस्त कर रही है। शाही ने कहा कि जो लोग और सरकारी तंत्र इन्हें सहयोग करते है और सुविधाएं मुहैया कराते है, उनके खिलाफ शीघ्र कार्रवाई की जानी चाहिए। इसके बाद श्री शाही ने हिनु स्थित ग्रीन एर्क्स में शाम को विहिप के समन्वय विभाग के साथ बैठक की। मौके पर प्रांत कार्याध्यक्ष योगेन्द्र सिन्हा, मंत्री बिरेन्द्र साहू, उपाध्यक्ष ध्रुवदेव तिवारी, संगठन मंत्री केशव राजू, महानगर अध्यक्ष अजय अग्रवाल, क्षेत्र सेवा प्रमुख प्रमोद मिश्रा सहित कई कार्यकता उपस्थित थे।
 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS