ब्रेकिंग न्यूज़
अत्याधुनिक हथियार बरामदगी मामले में कोटवा निवासी कुख्यात कुणाल को आजीवन कारावास, 42 हजार रुपये का अर्थदंड भी मिलाइस बार का चुनाव मेरे लिए चुनाव है चुनौती नहीं: राधा मोहन सिंहMotihati: सांसद राधामोहन सिंह ने नामांकन दाखिल किया, कहा-मैं तो मोदी के मंदिर का पुजारीमोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे
झारखंड
स्वच्छ भारत मिशन में सबका योगदान जरूरी : सिन्हा
By Deshwani | Publish Date: 18/7/2017 7:20:15 PM
स्वच्छ भारत मिशन में सबका योगदान जरूरी : सिन्हा

रांची, (हि.स.)। ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव एनएन सिन्हा ने कहा कि स्वच्छता के लिए हमें मिलकर लड़ना है। इसमें सबकी भूमिका महत्वपूर्ण है। स्वच्छता भी लड़ाई का एक हिस्सा है। हमें मिलकर स्वच्छ भारत मिशन में अपना योगदान करना होगा। स्वच्छता कार्यक्रम समुदाय के सम्मान की भावना से प्रेरित है। ग्राम संगठन ठेकेदार नहीं हैं, बल्कि अपने गांव में परिवर्तन का वाहक है। सिन्हा मंगलवार को रिम्स ऑडिटोरियम पेयजल एवं स्वच्छता विभाग और ग्रामीण विकास विभाग की ओर से ग्राम संगठन सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि स्वच्छता हम सभी का मुद्दा है। अगर हम घर में शौचालय का निर्माण कराते हैं, तो हम आने वाली बीमारियों को रोक सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वच्छता के लिए जो रोड मैप तैयार किया है, हमें उस पर और काम करने की जरूरत है। 

उन्होंने कहा कि सिर्फ शौचालय बना लेने से काम नहीं चलेगा, हमें अपने घर और उसके आसपास भी स्वच्छ माहौल बनाना होगा, ताकि हम आने वाली बीमारियों को रोक सकें। शौचालय के लिए जितने भी आवेदन आयेंगे, हम पैसा देने के लिए तैयार हैं। हमारा लक्ष्य है कि 2018 तक रांची जिले को खुले से शौच मुक्त बनायें। पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के प्रधान सचिव एपी सिंह ने कहा कि स्वयं सहायता समूह झारखंड में स्वच्छ भारत मिशन की सफलता में सहयोग का स्तंभ बनने का कार्य कर रहे हैं। गिरीडीह प्रशासन ने स्वच्छ भारत मिशन को बढ़ावा देने के लिए सर्वप्रथम 2015 में यूनिसेफ के साथ साझेदारी में स्वयं सहायता समूह को इस अभियान का हिस्सा बनाया था। इसके बाद, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग ने इस मॉडल को झारखंड राज्य आजीविका प्रोमोशन सोसाइटी और ग्रामीण विकास विभाग के साथ मिलकर पूरे राज्य में लागू करने का निर्णय लिया। 
डीसी मनोज कुमार ने कहा कि ग्राम संगठन ने अनगड़ा और नामकुम में प्रशंसनीय कार्य किया है। आने वाले दिनों में सभी स्वयं सहायता समूह के साथ प्रखंड स्तरीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम आयोजित किए जाने की योजना है। यूनिसेफ की झारखंड प्रमुख मधुलिका जोनाथन ने कहा कि शौचालय का प्रावधान उन देशों में बच्चों की जिंदगी बचा सकता है, जहां बड़े पैमाने पर खुले में शौच का अभ्यास किया जाता है। ये वही देश हैं, जहां बड़ी संख्या में पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों की मौत होती है। कुपोषण का स्तर उंचा है तथा गरीबी एवं आर्थिक असमानताएं बड़े पैमाने पर है। यूनिसेफ, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग तथा ग्रामीण विकास विभाग के साथ मिलकर योजना निर्माण, क्षमता निर्माण तथा राज्य एवं जिला स्तर पर कार्यक्रम की निगरानी में अपना सहयोग प्रदान कर रहा है। इस अवसर पर, जयपुर, महिलौंग, कुच्चु और चंद्रा के ग्राम संगठन को उनके द्वारा स्वच्छता के क्षेत्र में किए गए उल्लेखनीय कार्य के लिए सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में रांची के ग्रामीण संगठन के सदस्य और झारखंड राज्य आजीविका प्रोमोशन सोसाइटी के सदस्य सहित अन्य लोग उपस्थित थे। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS