ब्रेकिंग न्यूज़
अत्याधुनिक हथियार बरामदगी मामले में कोटवा निवासी कुख्यात कुणाल को आजीवन कारावास, 42 हजार रुपये का अर्थदंड भी मिलाइस बार का चुनाव मेरे लिए चुनाव है चुनौती नहीं: राधा मोहन सिंहMotihati: सांसद राधामोहन सिंह ने नामांकन दाखिल किया, कहा-मैं तो मोदी के मंदिर का पुजारीमोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे
झारखंड
कैबिनेट के फैसले : मैट्रिक और इंटर के आधार पर नियुक्ति के लिए होगी एक परीक्षा
By Deshwani | Publish Date: 11/7/2017 7:28:09 PM
कैबिनेट के फैसले : मैट्रिक और इंटर के आधार पर नियुक्ति के लिए होगी एक परीक्षा

रांची, (हि.स.)। राज्य में होने वाली सरकारी नियुक्ति में मुख्य भूमिका निभाने वाली एजेंसी झारखंड स्टेट स्टॉफ सेलेक्शन कमीशन अब वैसी नियुक्तियों के लिए केवल एक स्तर की परीक्षा आयोजित करेगा, जिसकी न्यूनतम पात्रता मैट्रिक या इंटरमीडिएट होगी। राज्य मंत्रिपरिषद की मंगलवार को हुई बैठक में इस आशय की स्वीकृति दे दी गयी है। मुख्यमंत्री रघुवर दास की अध्यक्षता में हुई बैठक में कैबिनेट ने कुल 17 प्रस्तावों को मंजूरी दी। कैबिनेट सचिव एसएस मीणा ने बताया कि स्नातक के आधार पर होनेवाली परीक्षा दो स्तर में होगी। प्रारंभिक और मुख्य। इसमें कुल आवेदन 15 हजार से कम होने की स्थिति में इन नियुक्तियों के लिए भी एक ही परीक्षा होगी। 

उन्होंने बताया कि राज्य में व्यावसायिक प्रशिक्षण परिषद् (स्टेट कौंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग) के गठन की भी स्वीकृति दी गयी है। इसका काम नेशनल स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम कैसे चले, इसे मॉनिटर करना होगा। इसके लिए एक जनरल बॉडी और एक एग्जीक्यूटिव बॉडी बनायी गयी है। श्रम मंत्री की अध्यक्षता में जनरल बॉडी कम करेगी, जबकि एग्जीक्यूटिव बॉडी के प्रमुख विभागीय सचिव होंगे। कैबिनेट के अन्य प्रमुख फैसलों में झारखंड निगरानी ब्यूरो में लंबित वादों के त्वरित निष्पादन के लिए विशेष न्यायालयों के क्षेत्राधिकार बढ़ाया गया है। वहीं कमर्शियल टैक्स डिपार्टमेंट में 88 डाटा इन्ट्री ऑपरेटर आउटसोर्स करके रखे जायेंगे। रांची के 500 बेड वाले सदर अस्पताल 307.92 करोड़ रूपये का रिवाइज्ड एस्टीमेट स्वीकृत किया गया। इस पर अभी तक 130 करोड़ रूपये खर्च किये गए है। इसके अलावे झारखंड लोक सेवा आयोग के 2015-16 के वार्षिक प्रतिवेदन का अवलोकन कर विधानसभा में रखने की स्वीकृति दी गई। 
कैबिनेट ने स्वयं सहायता समूहों को बैंक लोन के लिये इकरारनामा पर मुद्रांक शुल्क से विमुक्त करने के फैसले पर सहमति दी है। वहीं जन वितरण प्रणाली के दुकानदारों को किरासन तेल वितरण योजना में प्रति लीटर एक रुपये के कमीशन में राज्य सरकार द्वारा वहन की जा रही 50 प्रतिशत राशि प्रति लीटर 50 पैसा सीधे पीडीएस दुकानदार को दिये जाने का फैसला किया गया है। कैबिनेट ने लीज पर नया हेलीकाप्टर लेने के लिये उच्चस्तरीय स्पेशल परचेज कमिटी के गठन को भी स्वीकृति दे दी है। साथ ही वाणिज्य कर न्यायाधिकरण के अध्यक्ष पद पर झारखंड उच्च न्यायालय के निबंधक बसंत कुमार गोस्वामी को नियुक्ति करने का फैसला किया गया।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS