ब्रेकिंग न्यूज़
नेपाल के बारा जिला में अवैध पिस्टल के साथ एक गिरफ्तारप्रधानमंत्री की चुनावी रैली की तैयारी का जायजा लेने मोतिहारी पहुंचे बिहार चुनाव प्रभारी सह पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीससात माह लंबे इंतजार के बाद खुला भारत-नेपाल बॉर्डररक्सौल: पनटोका कैम्प में पुलिस स्मृति दिवस मनाया गयारक्सौल में रेल पुलिस ने 18 बोतल शराब रेलवे पोखरा के पास से किया बरामदप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा-जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं, के मंत्र का पूरी तरह पालन करना आवश्‍यकरक्सौल: पुरेन्दरा पंचायत के मुखिया ने हथियार से प्रहार कर एक व्यक्ति को गंभीर रुप से किया घायलमोतिहारी सेन्ट्रल बैंक रिजनल कार्यालय में भीषण आग, 4 घंटे के मशक्कत के बाद रात 8 बजे आग पर काबू
राज्य
हाथरस केस: चारों आरोपियों ने एसपी को लिखी चिट्ठी, खुद को बताया निर्दोष, पीड़िता के साथ दोस्ती का किया दावा
By Deshwani | Publish Date: 8/10/2020 12:55:38 PM
हाथरस केस: चारों आरोपियों ने एसपी को लिखी चिट्ठी, खुद को बताया निर्दोष, पीड़िता के साथ दोस्ती का किया दावा

हाथरस। हाथरस में हुए गैंगरेप का मामला अब एक अलग ही रुख लेता जा रहा है। जहां इस मामले में उच्च स्तर की राजनीति हो रही हैं वहीं आरोपियों का कहना है कि वह निर्दोष हैं और मामला ऑनर किलिंग का है। दरअसल, हाथरस कांड के सभी चारों आरोपियों ने जेल से पुलिस अधीक्षक (एसपी) को चिट्ठी लिखी है। चिट्ठी में उन्होंने दावा किया है कि उनकी पीड़िता के साथ दोस्ती थी।

 
मामले के मुख्य आरोपी संदीप ठाकुर ने हाथरस के पुलिस अधीक्षक को लिखी चिठ्ठी में कहा, उसे झूठे केस में मृतक लड़की के परिजनों ने ही फंसाया है। वह लड़की को जानता था। दोनों के बीच अच्छी दोस्ती थी। इस बात को लड़की का परिवार पसंद नहीं करता था। घटना के दिन पीड़िता ने मुझे मिलने के लिए खेत में बुलाया था, जब मैं वहां गया तो पीड़िता के साथ उसकी मां और भाई मौजूद थे।
 
 
 
 
संदीप ने कहा कि पीड़िता के कहने पर मैं अपने घर चला गया। अपने पिता के साथ पशुओं को पानी पिला रहा था, तभी मुझे खबर मिली कि पीड़िता की मां और उसके भाई ने पिटाई की है। उसे गंभीर चोट आई थी। बाद में उसकी मौत हो गई। संदीप ने कहा कि मैंने कभी भी पीड़िता तो मारा नहीं है और न ही कोई गलत काम किया।
 
इसके साथ ही आरोपी संदीप ने अपनी चिठ्ठी में कहा कि हम निर्दोष हैं और रवि और शमू को भी इस मामले में फंसाया जा रहा है। उसने इस मामले में एक निष्पक्ष जांच की मांग की है। हाथरस जेल अधीक्षक ने चिट्ठी लिखे जाने की पुष्टि की है। वहीं पीड़िता के परिवार ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दावा किया है कि जिला प्रशासन ने अवैध रूप से उन्हें उनके घर में कैद कर रखा है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS