ब्रेकिंग न्यूज़
चाकू से घायल मोतिहारी, चांदमारी के युवक की मौत, मझौलिया निवासी आरोपित हमलावर को लोगों ने दबोचाबिहार के शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने कहा- सातवें चरण की शिक्षक भर्ती अगले महीने होगी शुरूरक्सौल: आईसीपी लिंक रोड का उच्चाधिकारियों ने किया निरीक्षणबिहार: राज्य के आधे जिलों में बिजली गिरने के साथ भारी बारिश की संभावना, अगले 24 घंटे का अलर्टप्रधानमंत्री ने विद्युत क्षेत्र की पुनर्विकसित वितरण क्षेत्र योजना का शुभारम्भ कियातेजी से फैल रहा मंकीपॉक्स वायरसआयकर विभाग ने मुंबई में तलाशी अभियान चलाया64 प्रतिशत वोटों के साथ द्रौपदी मुर्मू भारत की 15वीं, अब तक की सबसे कम उम्र व पहली जनजातीय महिला राष्‍ट्रपति चुनी गईं
राज्य
फडणवीस ने उच्चतम न्यायालय के फैसले का किया स्वागत, संजय राउत ने कहा- कानून से ऊपर कोई नहीं
By Deshwani | Publish Date: 19/8/2020 6:39:56 PM
फडणवीस ने उच्चतम न्यायालय के फैसले का किया स्वागत, संजय राउत ने कहा- कानून से ऊपर कोई नहीं

मुंबई। भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेन्द्र फडणवीस ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा बालीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले की जांच सीबीआई से कराने की बिहार सरकार की सिफारिश को सही ठहराए जाने का स्वागत करते हुए कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने जिस प्रकार से मामले को देखा है, उसके लिए उसे आत्मविश्लेषण करने की जरूरत है। 

 

शीर्ष अदालत ने अपने फैसले में कहा कि बिहार सरकार इस मामले को जांच के लिये सीबीआई को हस्तांतरित करने में सक्षम है। फडणवीस ने कहा अब वह मामले में न्याय मिलने की उम्मीद कर सकते हैं। उन्होंने ट्वीट किया,‘‘ एक ऐसा निर्णय जो न्यायपालिका पर विश्वास को बढ़ाता है। महाराष्ट्र सरकार ने जिस प्रकार से इस मामले को देखा , उसे अब आत्मविश्लेषण की जरूरत है। अब हम सुशांत सिंह राजपूत मामले में और उनके प्रशंसकों के लिए न्याय की उम्मीद करते हैं।’’ 

 

वहीं, शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र न्याय और सच्चाई के लिए लड़ने में हमेशा आगे रहा है। राउत ने आरोप लगाया कि नेताओं ने मुंबई पुलिस का नाम खराब किया। उन्होंने कहा,‘‘ मुंबई पुलिस की सत्यनिष्ठा पर संदेह करना ‘‘साजिश’’ थी।’’ हालांकि इसमें उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया। उन्होंने कहा कि मुंबई पुलिस ने पूरी सच्चाई के साथ जांच की है। उन्होंने कहा,‘‘ कानून से ऊपर कोई नहीं है।

 

उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद इस पर राजनीतिक टिप्पणी करना उचित नहीं है।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या यह शिवसेना की अगुवाई वाली महाराष्ट्र सरकार के लिए किसी प्रकार का झटका है,राउत ने कहा,‘‘ कानूनी लड़ाई में ऐसी बातें होती हैं।’’ क्या राज्य सरकार इस फैसले को चुनौती देगी? यह पूछे जाने पर राउत ने कहा कि आदेश की प्रति मिलने के बाद ही कोई निर्णय लिया जाएगा। शिवसेना नेता एवं राज्य के मंत्री आदित्य ठाकरे पर इस मामले में आरोपों पर उन्होंने कहा,‘‘ कोई आरोप नहीं हैं।’’ महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि वह उच्चतम न्यायालय का आदेश पढ़ने के बाद ही इस पर कोई टिप्पणी करेंगे। वहीं, भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं राज्य के पूर्व मंत्री आशीष सेल्लार ने कहा कि ऐसा लगता है कि महा विकास अघाड़ी सरकार में मुंबई पुलिस पर ‘‘कोई दबाव बना रहा था।

 

सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को मुंबई के उपनगर बांद्रा में अपने अपार्टमेन्ट की छत से लटके मिले थे। इसके बाद मुंबई पुलिस ने राजपूत की बहनों, अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती सहित 56 लोगों के बयान दर्ज किए है। उच्चतम न्यायालय ने बुधवार को अपने फैसले में पटना में दर्ज प्राथमिकी को जांच के लिए सीबीआई को सौंपे जाने को विधिसम्मत करार दिया।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS