ब्रेकिंग न्यूज़
उड़ीसा में महिलाओं और बच्चों से संबंधित मामलों की सुनवाई के लिए बनाए जाएंगे 45 नई फास्ट ट्रैक अदालतेंअब हम उन्हें चाचा नहीं बल्कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहेंगे: तेजस्वी यादववेडिंग एनिवर्सरी पर अनुष्का-विराट हुए रोमांटि‍क, शेयर की ये बेहद रोमांटिक तस्वीरअब हम उन्हें चाचा नहीं बल्कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहेंगे: तेजस्वी यादवबेतिया में यौन शोषण के उपरान्त शादी के दवाब पर अरमान ने रोबिना को जलायारक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा की आतंकवाद को अपनी कार्य नीति का हिस्सा बना लिया पाकिस्तानसरकार अर्थव्‍यवस्‍था को फिर से पटरी पर लाने के लिए और उपाय कर रही: निर्मला सीतारमन्कुशीनगर में बुद्ध महापरिनिर्वाण मंदिर के समीप नया गेट बनवाने पर कई अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज
राज्य
सपा से गठबंधन को तैयार शिवपाल, बोले अखिलेश को बनायेंगे मुख्यमंत्री
By Deshwani | Publish Date: 19/11/2019 3:26:47 PM
सपा से गठबंधन को तैयार शिवपाल, बोले अखिलेश को बनायेंगे मुख्यमंत्री

इटावा। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के प्रमुख शिवपाल यादव ने एक बार फिर अपने भतीजे अखिलेश यादव के प्रति नरम रूख अपनाकर सुलह की पेशकश की है। हालांकि उन्होंने अपनी पार्टी के सपा में विलय की कोई सम्भावना न जताते हुए सिर्फ गठबंधन की पेशकश की है। 
 
शिवपाल आज यहां कहा कि हम चाहते हैं कि 22 नवम्बर को नेताजी मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन पर परिवार में एकता हो जाए तो अच्छा है। हमारा प्रयास है कि भतीजा समझ ले तो सरकार बना लेगा, मुख्यमंत्री हमें तो बनना नहीं है। शिवपाल ने स्पष्ट किया कि वह भविष्य में मुख्यमंत्री बनने की रेस में शामिल नहीं होंगे और प्रसपा (लोहिया) बिना किसी शर्त के सपा से गठबंधन के लिए तैयार है। 
 
शिवपाल यादव ने दावा किया कि अगर समाजवादी पार्टी और प्रसपा (लोहिया) एक हो जाते हैं तो वर्ष 2022 में सपा सरकार बना लेगी और अखिलेश यादव का मुख्यमंत्री बनना तय है। प्रसपा प्रमुख ने कहा कि उन्होंने काफी लम्बे समय तक नेताजी के साथ काम किया है। प्रसपा (लोहिया) की विचारधारा भी समाजवादी है। इसलिए अगर दोनों दलों का गठबंधन होता है तो इसका दोनों पार्टियों को लाभ मिलेगा। इसलिए नेताजी के जन्मदिन पर दोनों पार्टियां एकता के लिए आगे बढ़ें।
 
इससे पहले भी शिवपाल यादव ने एक बयान में भतीजे अखिलेश यादव के साथ विधानसभा चुनाव 2022 में गठबंधन की बात कही थी। उन्होंने समाजवादी पार्टी में प्रसपा (लोहिया) के विलय की सम्भावनाओं को खारिज करते हुए कहा था कि हम बहुत आगे निकल आये हैं, इसलिए इसकी सम्भावना नहीं है। गठबन्धन के लिए हम जरूर तैयार हैं।
 
शिवपाल अपने भतीजे अखिलेश से अलगाव के पीछे षड्यंत्रकारी लोगों पर आरोप लगाते रहे हैं। उनका कहना है कि अखिलेश के ईद-गिर्द कुछ ऐसे लोग हैं, जो अपने सियासी लाभ के लिए षड्यंत्र रचते हैं। इसी वजह से उन्हे पार्टी से अलग होना पड़ा। कुछ समय पहले जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के घर पर उनसे मुलाकात करने गये थे, तब वहां पर शिवपाल और अखिलेश भी एक साथ दिखााई दिए थे। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS