ब्रेकिंग न्यूज़
भारत सरकार की ओर से हर घर तिरंगा कार्यक्रम का आयोजनप्रधानमंत्री ने पारसी नव वर्ष पर लोगों को बधाई दीडाकघरों के माध्यम से दस दिन की अवधि में एक करोड़ से अधिक राष्ट्रीय ध्वज खरीदे गयेमोतिहारी कस्टम के दो हवलदारों को केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने पकड़ा, 20 हजार रुपये घूस लेने का आरोपप्रधानमंत्री ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 के भारतीय दल का अभिवादन कियाएनएमडीसी और फिक्की भारतीय खनिज एवं धातु उद्योग पर सम्मेलन का आयोजन करेंगेबिहार: आज बादल गरजने के साथ ठनका गिरने की आशंका, तीन जिलों में भारी बारिश का अलर्टमोतिहारी, हरसिद्धि के जागापाकड़ में महावीरी झंडा के दौरान आर्केस्ट्रा में फायरिंग, दो घायल, प्राथमिकी दर्ज
राज्य
पश्चिम बंगाल सरकार का नशे पर प्रहार, 7 नवम्बर से गुटखा और पान मसाला की बिक्री पर लगा बैन
By Deshwani | Publish Date: 1/11/2019 1:34:08 PM
पश्चिम बंगाल सरकार का नशे पर प्रहार, 7 नवम्बर से गुटखा और पान मसाला की बिक्री पर लगा बैन

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने राज्य में गुटखा और पान मसाला के उत्पादन, भंडारण, वितरण और बिक्री पर पूर्ण रूप से बैन लगा दिया है। राज्य सरकार का ये आदेश 7 नवंबर से लागू होगा।
 
स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि किसी भी दुकान अथवा गोदाम में अगर पान मसाला और गुटखा आदि पाया गया तो मालिकों के खिलाफ गैरजमानती धाराओं के तहत मामला दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। राज्य स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत राज्य खाद्य सुरक्षा आयुक्त तपन कांति रूद्र ने यह निर्देशिका जारी की है। इस निर्देशिका में सिगरेट, खैनी, बीड़ी आदि की खरीद-बिक्री पर किसी तरह की कोई निषेधाज्ञा का जिक्र नहीं है। कुछ साल पहले भी इसी तरह बंगाल सरकार ने गुटखा और तंबाकू पर भी प्रतिबंध लगाया था लेकिन उसका बहुत अधिक लाभ नहीं हुआ। 
 
उल्लेखनीय है कि इससे पहले बंगाल के पड़ोसी राज बिहार ने भी इसी साल अगस्त में राज्य में गुटखा और पान मसाला की बिक्री पर बैन लगाया था। 2015 में सत्ता में आने के बाद ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू की थी। बंगाल और बिहार के अलावा देश के कई अन्य राज्यों में गुटखा और पान मसाला के उत्पादन और बिक्री पर बैन है, जिसमें मध्य प्रदेश, केरल, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा जैसे राज्य शामिल हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS