ब्रेकिंग न्यूज़
झारखंड में बिहार सहित अन्य राज्यों से आनेवाली बस की एंट्री नहीं, निजी वाहनों को भी लेना होगा ई-पासमोतिहारी के कोटवा में ट्रक व कार में भीषण टक्कर, एक की मौत चार अन्य घायल, दो की स्थित गंभीरबिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोज
राज्य
मध्य प्रदेश के रायसेन में यात्रियों से भरी बस नदी में गिरी, सात लोगों की मौत, 36 घायल, कई लापता
By Deshwani | Publish Date: 3/10/2019 11:28:00 AM
मध्य प्रदेश के रायसेन में यात्रियों से भरी बस नदी में गिरी, सात लोगों की मौत, 36 घायल, कई लापता

भोपाल। मध्य प्रदेश में एक बड़ा हादसा हुआ। मध्य प्रदेश के रायसेन जिले में बुधवार देर रात यात्री बस अनियंत्रित होकर पुल की रेलिंग तोड़ते हुए रीछन नदी में जा गिरी। इस हादसे में सात यात्रियों की मौत हो गई, जिसमें दो महिलाएं और एक बच्चा भी शामिल है। वही करीब 36 यात्री इस हादसे में घायल हुए है जिनमें से 12 की हालत गंभीर बताई जा रही है। सभी गंभीर घायलों को ईलाज के लिए भोपाल रेफर किया गया है। हादसे की सूचना मिलते ही कोतवाली पुलिस व एसडीआरएफ की टीम तत्काल मौके पर पहुंच गई और राहत कार्य शुरू किया। 

 
जानकारी के अनुसार ओम साईं राम कंपनी की यात्री बस यात्रियों को लेकर इंदौर से छतरपुर जा रही थी। इस दौरान रायसेन से पहले दरगाह के पास रीछन नदी के पुल पर बस गड्ढे में फंस गई और अनियंत्रित होकर 50 फीट नीचे नदी में जा गिरी। रात का वक्त होने के कारण अधिकतर यात्री सो रहे थे। बस के गिरते ही मौके पर चीख पुकार मच गई। शोर सुनकर स्थानीय लोग मदद के लिए तत्काल मौके पर पहुंच गए। ग्रामीणों ने तत्काल पुलिस को हादसे के सूचना दी। सूचना मिलते ही कोतवाली पुलिस व एसडीआरएफ की टीम राहत के लिए तत्काल मौके पर पहुंच गई। घटना की सूचना पाकर रायसेन कलेक्टर उमाशंकर भार्गव और एसपी मोनिका शुक्ला सहित पूरा प्रशासन मौके पर पहुंचा और स्थानीय लोगों की मदद से रेस्क्यू शुरू किया। 
 
रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान रायसेन कलेक्टर उमाशंकर भार्गव भी घायल हो गए। नदी में आधी डूबी बस से रात ढाई बजे तक सात यात्रियों के शव निकाले जा चुके थे। हादसे में यात्रियों को बचाने के लिए पानी में उतरी रेस्क्यू टीम को अंधेरे में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। बघायल यात्रियों को बस से निकालकर इलाज के लिए विभिन्न वाहनों से जिला अस्पताल भेजा गया। घायलों में 12 यात्रियों की स्थिति गंभीर है, जिन्हें ईलाज के लिए भोपाल रेफर किया गया है। वही रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान एक पुलिस का जवान भी पानी में बह गया। मृतकों की संख्या बढऩे की आशंका है। फिलहाल रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। अभी पानी का बहाव तेज़ होने के कारण कुछ और लोगों की तलाश की जा रही है।
 
पुलिस महानिरीक्षक आशुतोष राय ने आज बताया कि बस को निकालने के लिए मंडीदीप से क्रेन बुलवाई जा रही है। उन्होंने सात लोगों के मरने की पुष्टि की है। अभी भी होमगार्ड के जवान जांच अभियान में जुटे हैं। इधर कलेक्टर उमाशंकर भार्गव और पुलिस अधीक्षक मोनिका शुक्ला गुरुवार सुबह घायलों को देखने जिला अस्पताल पहुंचे। कलेक्टर ने गंभीर घायल को इलाज के लिए 50 हजार और घायलों को दस-दस हजार रुपये की आर्थिक सहायता राशि देने की घोषणा की है।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS