ब्रेकिंग न्यूज़
राज्य
जिले में अघोषित बिजली कटौती से लोगों को जीना हुआ दुश्वार, महज शोपीस बने विद्युत उपकरण, उद्योग-धंधे चौपट
By Deshwani | Publish Date: 14/8/2019 3:16:20 PM
जिले में अघोषित बिजली कटौती से लोगों को जीना हुआ दुश्वार, महज शोपीस बने विद्युत उपकरण, उद्योग-धंधे चौपट

कुशीनगर। भनु तिवारी। जिले में बेहिसाब विद्युत कटौती से लोगों को जीना दुश्वार कर दिया है। इस कटौती से जिले के कस्बों व गांवों का भी बुरा हाल है। उपभोक्ता विद्युत कटौती से आजिज आ चुके हैं। जिसका सीधा असर विकास कार्यों पर सीधे पड़ रहा है। बिजली की आपूर्ति व कटौती का समय निश्चित न होने से आम आदमी संकट में है। बिजली के भरोसे चलने वाले कारोबार पर ग्रहण लग गए हैं  वही गर्मी के दिनों में प्रयोग होने वाले भौतिक सुख साधन महज शो फीस बन गए हैं।

 
लालपहाडी़ यादव कहते हैं प्रदेश सरकार ने नगर क्षेत्र को 20 घंटे और ग्रामीण क्षेत्र को 16 घंटे विद्युत मुहैया कराने का वादा किया है। लेकिन कागजों में दब कर रह गए। यह आदेश आमजन के समझ से परे है। 
 
वही अजय मिश्रा कसया निवासी कहते हैं विद्युत आपूर्ति के मामले में आमजन का भरोसा टूटने लगा है। सरकार के आदेश को विभागीय अफसर ठेंगा दिखा रहे हैं। उमस भरी गर्मी में तड़प रहे लोग दिन हो या रात पंखा झेल कर गर्मी से निजात पाने की कोशिश कर रहे हैं।
 
बिजली उपकरण के विक्रेता संजय चौरसिया कहते हैं बिजली के दुकानदार कटौती से परेशान हैं, तो लौह उद्योग में लगे कारीगर कटौती से कोई कार्य निश्चित समय पर पूरा नहीं कर पा रहे हैं।
 
इस संबंध में विद्युत विभाग के अधिशासी अभियंता चंद्रबली कहते हैं विद्युत आपूर्ति के निर्देश को पूरा करने की कोशिश की जा रही है। लोकल फाल्ट से दिक्कतें बढ़ गई हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS