ब्रेकिंग न्यूज़
पुलिस ने बगहा के पटखौली गोपी और बगहा थाना अंतर्गत छापामारी कर 6 युवकों को दबोचा, अवैध हथियार बरामदपुलिस जीप में ट्रक ने मारी टक्कर, थानाध्यक्ष समेत 5 पुलिसकर्मी घायलआकाश से होगी पाक और चीन से लगी सीमाओं की निगरानी, हवाई घुसपैठ से मुकाबले की तैयारीकांगो की राजधानी किंशासा में भीषण बस दुर्घटना में 30 लोगों की मौत, कई घायलउत्तरवारी पोखरा एवं अन्य छठ घाटों की सफाई का नप सभापति ने किया निरीक्षणकर्नाटक: हुब्बल्ली रेलवे स्टेशन पर धमाका से एक घायल, जांच में जुटी पुलिसभारत बनाम साउथ अफ्रीका: टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका को फिर से दिया फॉलोऑन, कोहली ने रचा इतिहासट्रेन की चपेट में आने से दो महिलाओं समेत एक बच्ची की हुई मौत, परिजनों में मातम का माहौल
राज्य
कुशीनगर में बारिश ने मचाई तबाही, बैरक व विधायक निवास सहित शहर जलमग्न, सकूल 14 तक बंद
By Deshwani | Publish Date: 12/7/2019 8:48:16 PM
कुशीनगर में बारिश ने मचाई तबाही, बैरक व विधायक निवास सहित शहर जलमग्न, सकूल 14 तक बंद

कुशीनगर। भानु तिवारी। जिले में पिछले चार दिनों से हो रही बारिश ने तबाही मचा दिया है। जिले की हाटा कोतवाली के बैरक में इस समय बरसात का पानी भर गया है। दिन व रात में ड्यूटी से थके-मादे पहुंचने पर आराम की जगह पुलिस कर्मी जतन कर पानी निकालने में जुट जा रहे हैं।

 
 बुधवार को पुलिस कर्मियों ने बाल्टी-जग लेकर घंटों बैरक से पानी निकालने में पसीना बहाया।
सोमवार से लगातार हो रही बारिश का पानी हाटा कोतवाली परिसर में जमा हो गया है। सिपाहियों के रहने के लिए बने बैरक में लबालब पानी भर गया  है। बुधवार को पुलिस कर्मियों ने बैरक से पानी निकालने में घंटों मेहनत की। नये प्रशासनिक भवन बनने के पहले जिस मकान में कार्यालय चलता था, उसके सटे पीछे पुराने बैरक हैं। इसकी ऊंचाई नए भवनों से काफी नीचे होने के कारण बरसात का पानी उन बैरकों में फैल जाता है। आलम यह है कि ईंट पर ईंट रखकर कमरे में पुलिस कर्मी प्रवेश कर पा रहे हैं। अनुशासन के चलते पुलिस कर्मी कुछ भी कहने से परहेज ही कर रहे हैं। वहीं लगातार जलभराव होने से संक्रामक बीमारियों का खतरा बनता जा रहा है।
 
 जिले में लगातार पानी से कुशीनगर मंदिर के सामने स्थित विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी के घर व परिसर में पूरी तरह पानी भर गया है। शुक्रवार की सुबह से ही विधायक के घर से पानी निकालने की कोशिशें हो रही हैं। वहीं कसया थाना परिसर पानी से लबालब भर गया है। कसया कस्बे के निचले हिस्से पानी से भर गए हैं। वहीं फाजिलनगर बिजली घर में पानी भर जाने से आपूर्ति बाधित हो गई है। सैकड़ों गांवों के लोगों की बत्ती गुल होने से सांसत उठानी पड़ रही है।
 
इसी तरह मूसलाधर बारिश से पडरौना शहर पानी-पानी हो गया है। शहर के कई मोहल्लों में पानी भर गया है। लोगों के घरों और बेडरूम तक पानी भर गया है। नौका टोला मोहल्ले में शुक्रवार की सुबह लगातार सांप निकलने से लोगों में दहशत फैल गई। 
गुरुवार की रात तेज बारिश के कारण शहर के कई मोहल्लों में पानी भर गया। लोगों की नींद रात में खराब हो गयी। नौका टोला के कई घरों से पानी के बीच निकल रहे सांप के कारण लोग दहशत में आ गए। सड़क से उपर पानी बहने की वजह से लोगों का आवागमन भी पूरी तरह से बाधित हो गया है। जिले की सबसे पुरानी नगर पालिका में जलनिकासी की खराब व्यवस्था होने के कारण बारिश के पानी से कई मोहल्ले टापू बन गए हैं। शहर के कठकुइयां मोड़ पर तालाब की तरह सड़क दिखने लगी है। नौका टोला, गांधी नगर, साहबगंज, आम्बेडकर नगर, तिलक नगर, वीर अब्दुल हमीद नगर, कन्नौजिया वार्ड पश्चिमी, गरूण नगर आदि मोहल्लों के घरों में पानी घुस गया है। नालो का पानी उफना कर सड़क पर बहने से आवागमन पूरी तरह से प्रभावित हो गया है। जिन घरों में पानी घुस गया है, वहां के लोग घर से पानी निकालने के लिए जी-तोड़ मेहनत कर रहे हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS